ऐसा लगा कि मन्त्र का एक एक अक्षर ब्रम्हांड से आकर मेरे रोम रोम में समाता जा रहा है……. एक साधक की अनुभूति


अलौकिक अनुभूतियां…1
सभी को देवी पर्व नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं।
आज 7 Oct 21 को नवरात के पहले दिन सक्षम साधकों की शक्ति सम्मोहन साधना आरम्भ हो गयी। उनकी दिव्यता का सफर शुरू हो गया। आध्यात्मिक ऊंचाइयां छूने को मचल रहे साधकों के उत्साह से पहले दिन की ही अनुभूतियां रोमांच उतपन्न करने वाली हैं।
देवी शक्तियों को पाने की राह में होने वाली अनुभूतियां हम यहां शेयर करते रहेंगे। ताकि अन्य साधक प्रेरणा पा सकें।

अनुभूतियां साधकों के ही शब्दों में…
ऐसा लगा कि मन्त्र का एक एक अक्षर ब्रम्हांड से आकर रोम रोम में समाते जा रहे हैं
-देवी प्रसाद
गुरू जी राम राम आज शक्ति सम्मोहन साधना में लगभग आधे घंटे के बाद ऐसा लगा की मंत्रो के एक एक अक्षर ब्रह्मांड से आ रहे हैं और मेरे रोम रोम में समाहित हो रहे है आपका बहुत-बहुत धन्यवाद 🌹🌹🌹🙏🙏🙏🙏🙏🌹🌹

मन्त्र चलता रहा, माता के चित्र मेरे आभामण्डल में घूमते रहे
– निरेन बड़ो

राम राम गुरु जी ।
शक्ति सम्मोहन साधना का विधान मिलने के बाद से ही मुझे बहुत आनन्द का उल्लास मन में चल रहा था रात में ऐसा ही जल्दी माता ने उठा लिया। चार बजे उठा नहाया धोया और 5-7 तक साथना भी कर लिया। बहुत ही मन आनन्द रहा। माता जी चित्रों मेरे आभामणड के आसपास ही धुमते रहे। मे जब भी आख बन्द करता हूँ मेरे सामने माता जी की ही चित्र धुमते रहते हैं। जो ऐसी पहले नहीं था। गुरु जी को मार्ग दर्शन के लिए बहुत बहुत धन्यावाद। राम राम

मन्त्र जप के समय सुगंध आती रही
-शशि जायसवाल
राम राम गुरूजी 🙏 शक्ति सम्मोहन साधना काफी अच्छे से संपन्न हुई। पहले काफी तेज गर्मी लगी। फिर सब ठीक था।जप के दौरान कुछ महक सी आ रही थी।मैं समझ नहीं पाई।🙏शरण में बनाए रखे। आपका धन्यवाद 🙏

मेरा रोम रोम मेरे साथ मन्त्र जप करता रहा
-शिवेंद्र सिंह
गुरु जी राम राम 🙏🏻
गुरु जी साधना के दौरान हल्की-हल्की गर्मी महसूस हुई और मेरे रोम-रोम उत्साह जैसे लगता था कि मेरे रोम-रोम मेरे साथ जप कर रहे हैं कोई पास होने की आहट लगीथी

ऐसा लगा अदृश्य लोग भी मेरे साथ मन्त्र जप कर रहे हैं
Ram ram Guruji Deepmala Gupta from kanpur
Aaj ki Sadhna ek pahar ki purn hui bhot mann me khusi ho rhi hi mantra jaap karne me lag rha mai akele nhi jap rhi hoo koi sath me mere jaap kar rha hi apka bahut bhot dhnyawad guruji 🙏🙏🙏🙏🙏

साधना में रुद्राक्ष की खुशबू आती रही
-आशा तिवारी
बहुत अच्छा लगा, गर्मी महसूस हुई व रूद्राक्ष की खुशबू आई।

साधना में तेज सिहरन हुई
-chander kala
guru ji ram ram 4,4⁰ se 5 3ò tk sadana ki guruji suru me ek dm tej sihrn hui bich me mn bhtkta rha pro me drd tha guru jiesa mhsus hua ap shath ho dnywad guru ji

साधना की लाइट दिखाई दी, थर्ड आई पर दबाव बना
-Rekha Rani from vasant vihar karnal
Ram ram guruji
Shakti samohan sadhna 1hour ki h suru me to sirhan hui kl jb vidhan pda tb jyada romanchit feel hua
aj 3.38am se 4.43am tk sadhna ki light dikhai di kitchen me concentrate krne ki full try ki but mn btkta rha or baichani b lgi rhi 3rd eye pr pressure feel hua itching n Chuban b bhut hui n pain hua
Acha b feel hua
danyawad guruji 🌹🌹🌹🌹

साधना के समय किसी किसी अदृश्य ने छुआ मुझे
-Rupal Shah
From Himmatnagar
Ram Ram Guruji
During Sadhana I fell touch on my left shoulder so many times. I feel so good and lightly. Thank you Guruji
👏👏

मन्त्र जप के वक्त लगा जैसे कोई हरा पीला रंग मेरे मन में फेंक रहा हो
-राहुल गोस्वामी
राम राम गुरु जी, आज सुबह उठते ही मंत्र मेरे मन में अपने आप जाप होने लगा, मंत्र जाप करते समय aas पास क्या हो रहा है इसका ध्यान ही नही होता, भिन्न भिन्न रंग आ जाते है, मन में मंत्र जाप के वक्त, हरा और पीला रंग जैसे कोई मन में फेंक रहा हो।

नींद में भी मन्त्र जप चलते रहे
-सीमा गांधी, उदयपुर।
राम राम गुरु जी
आज गुरु जी आज नींद में ही जाप हो रहे थे फिर उठकर साधना की साधना में मंत्र जप करते हुए माँ का मानसिक रूप से दूध, हल्दी, कुमकुंम,पानी से प्रगसार किया और माँ के चरणों में कमल का पुष्प अर्पित करते हुए जाप पूर्ण किये धन्यवाद गुरु जी हमें साधना कराने के लिए🙏🙏🙏💐

किसी का हाथ मेरी पीठ पर ऐसा लग रहा है
-Meena -from Nashik.
Guruji aj muze bahut fresh aur mere roam shidra open ho chuke hi ise feeling ho rahi hai.Aur mere basic chakra par vibration hi rahi hi aur kisi ka hat mere pith par hi isa feel ho raha hi.Dhnyawad guruji.

अपने जीवन मे इतना उत्साह और उमंग पहली बार महसूस किया……… Sonal Jain, Noida

Ram Ram Guruji 20th August 2021Dhanyawad aaj ki divya sadhna ke liye. Maine apne jeevan me itna utsaah aur umang pehli baar mehsoos kia, shiv sahastranaam ka shivarchan sunke kal se hi alag umang thi aur aaj utsaah aur badh gya tha, dhanyawad main is puja mein bhaag le paai ise saralta se kar paai uske liye bhi dhanyawad.

नीरजा

राम राम गुरुजी। 20 अगस्त 21 शिवार्चन अनुभूति । अति सुंदर,दिव्य ,उर्जा से लबालब,मस्ती आंनद आज सभी कुछ से भरा था शिवार्चन । पहले तो सुबह से ही आज ऐसा उत्साह हो रहा था कि जैसे कुछ भव्य होने वाला है। बस रात 9 बजे का इंतजार हो रहा था। परिवार के सभी लोगों ने एक साथ मिलकर और जो नही आ पाए उनके सूक्ष्म शरीर के साथ मिलकर अनुष्ठान संपन्न किया। इतनी जल्दी द्रव्य चढ़ाने में भी उत्साह लग रहा था ,की सारे मन्त्र पूरे हो जाये। आपको जितना भी धन्यवाद करें उतना ही कम हैं गुरुजी । यह सुंदर अवसर भाग्य से ही प्राप्त होता है । मुझे तो शिवलिंग पूरा उर्जन का एक केंद्र जैसा लग रहा था उस समय । बहुत ही उर्जायें निकल रही थी उसमें से । मेरा शरीर का लेफ्ट साइड भी बहुत ऊर्जा रिसीव कर रहा था। मुझे उस समय अपना शरीर अर्धनारीश्वर जैसा महसूस हो रहा था। जब भी आप शिव सहस्रनाम कि सिद्धि करवाएंगे मैं भी अवश्य करूँगी ,यह मेरी बेहद पुरानी कामना है सीखने कि। आपने हम सभी के लिए महादेव से प्रार्थना करी है ,मैं भी आपके परिवार ,आपके के लिए शिव कृपा,शिव प्रेम ,शिवमय जीवन की प्रार्थना करती हूँ । Love u very much ..❤️❤️❤️🙏

शिवसहस्त्र नाम चर्चा साधकों की अनुभूतियाँ

शिव सहस्त्र नाम सिद्धि विधान-1 रिकॉर्डिंग लिंक
https://fccdl.in/jTNfLnjXwj

आज जीने की हिम्मत आ गई, गुरु जी अब जो होगा अच्छा होगा, आप हो कोई टेंशन नहीं ………. रंजना राय
गुरु जी मैं रंजना राय आपको सादर प्रणाम करती हूं गुरु जी जिंदगी में बहुत तकलीफे देखी,अब अच्छे दिनों की शुरुआत भगवान ने की है इसलिए आपकी शरण में पहुंच गई हु ,गुरु जी कभी नहीं सोचा था त्राटक भी करूंगी ,त्राटक के समय जो एनर्जी देखी मजा आ गया ,जब गुरु जी आपने सुंदर काण्ड सुनाया us samay सात चक्र के सातों रंग पहली बार अपनी लाइफ में देखे कभी सोचा भी नही था, ऐसा लग रहा था कोई सपना देखा है मैंने, और आज फिर वही हुआ विष्णु सहस्रनाम जब आप कर रहे थे हम सुन रहे थे,पता है गुरु जी दिए में से कलर निकल रहे थे और मैं उन्हें अपनी आंखो के सहारे कमरे जहां मर्जी घुमा के देख रही थी ,मजा आ रहा था, मैं आपसे शेयर कर रही हू और अपने बच्चो से किया, और हां फिर वो कलर मेरे mahasanjivni रुद्राक्ष में जा रहे थे,बड़ा ही मनमोहक दृश्य देखा मैने, गुरु जी आज मैंने रुद्राभिषेक के लिए अपना मेरे दोनो beto ka मेरी छोटी बहु का मेरी पोती का नाम भेजा है । और गुरु जी दो शिवलिंग भी मेरे दोनो बच्चो के घर के लिए भावना जी और अरुण जी दोनो को बोल दिया भेज देंगे गुरु जी भगवान गणेश जी का भगवान शिव का ,रुद्राक्ष देव का,दीप देव का आपका आशीर्वाद मुझ पर बना रहे,अब पीड़ा सहने की शक्ति नही जब मैं 22 साल की थी मेरे पति की डेथ हो गई,अभी मेरा बड़ा बेटा 35 yr ka hai meri badi bahu ki death ho gai, गुरु जी बहुत थक गई थी तभी भगवान जी ने आपसे मिलवा दिया। आज जीने की हिम्मत आ गई गुरु जी अब जो होगा aacha hoga, आप हो कोई टेंशन नहीं अब गुरु जी कुछ गलत और ज्यादा लिख दिया हो तो माफी चाहती हू गुरु जी मेरे लिए कुछ आज्ञा हो तो जरूर बताइएगा

कुछ स्वरूपों के मतलब जानने पर पूरे शरीर में बहुत तेज़ सृहन होने लगा, मन में कॉन्फिडेंट बढ़ गया …….आदित्य कुमार, ग्वालियर
19 August 2021 शिव सहस्त्र नाम अनुभूति राम राम गुरुजी🌹कोटि कोटि प्रणाम🌹🙇🏻‍♂️🙏🙇🏻‍♂️🌹गुरुजी आज जब आप भगवान शिव के सहस्त्र स्वरूपों का मतलब बता रहे तब बहुत आनंद आ रहा था, बहुत खुशी हो रही थी, कुछ स्वरूपों के मतलब जानने पर पूरे शरीर में बहुत तेज़ सृहन होने लगा, ऐसा कई बार हुआ। मन में कॉन्फिडेंट बढ़ गया गुरुदेव। आपका बहुत बहुत धन्यवाद गुरुजी। हमें दिव्य ज्ञान देने के लिए आपका अनंत कोटि धन्यवाद ❤️💕❤️ लव यू सो मच ❤️💕❤️ सदैव अपनी कृपा आशीर्वाद बनाएं रखें। 🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरु शरणं 🌹

गुरु जी आज आप ने हमे बहुत ही सुन्दर भगवान शिव के सहस्र नामो के बारे मे बताया ………… Pushpa bansal
हे मेरे गुरुदेव आप को बारम्बार नमन है 🙏 गुरु जी आज आप ने हमे बहुत ही सुन्दर भगवान शिव के सहस्र नामो के बारे मे बताया धन्यवाद
गुरु जी🙏 गुरुदेव शिव सहस्र नाम करते समय बहुत ही आनदंआ रहा था पूरे शरीर मे सिहरन हो रही थी धन्यवाद गुरुदेव 🙏🌹🙏🌹

शिव सहस्त्रनाम की व्याख्या के दौरान मेरे कुण्डलिनी और स्वाधिस्ठान चक्र में खिचाव हो रहा था…….. Kiran ,Banaras
Acharya जी Ram Ram आज tratk करते हुए shivshstran naam की vyakhya sunte smy mn अंदर से romanchit ,aanndit हो रहा tha ,vyakhya के दौरान lg रहा tha wo मेरे सामने है और mere kundlini एवं swadhishthan chakra में khichav हो रहा था Mano rassi से कुछ upr khicha जा रहा है, आज का ग्यान divyta से भी upr रहा कोटि कोटि nmn 19/8/21

शिव सहस्त्रनाम सुनकर आज बहुत आनद आया उत्साह हुआ और शरीर हल्का महसूस हुआ…….. Sonal Jain, Noida
Ram Ram Guruji 19th August 2021 Dhanyawad aaj ki divya sadhna ke liye, shiv sahastranaam sunke aaj bahut anand aya, utsaah bhi hua kyunki kabhi padha nahin aise. Shareer bhi halka mehsoos ho rha hai, in divya anubhutio ke liye
dhanyawad.

गुरूजी जब नाम और उनके अर्थ बता रहे थे तब मुझे ऐसा लगता था कि मैं आप बता रहे हैं और मैं उसे देख रहे हैं …….. शिवेंद्र सिंह, अटवा अली मर्दान पुर जिला हरदोई
गुरु जी राम राम 🙏🏻🌹 जब आज 1-1 करके आप नाम और उनके अर्थ बता रहे थे तब मुझे ऐसा लगता था कि मैं आप बता रहे हैं और मैं उसे देख रहे हैं

त्राटक करते समय लगता है की मेरे पास शिव जी और पार्वती जी पुत्र की तरह प्यार दे रहे हो…… Ambuj Srivastava Maharajganj u.p
Guru ji mujhse tratak karte samay emotional ho jata hu aisa lgta hai mere pass shiv ji aur mata parwati ji mujhse apne putra ki tarah pyaar de rahe ho Is anubhuti ko dilane k liye aapka bahut bahut dhanywaad guru ji

अपने गुरु के नाम की महिमा सुनकर गुरु के प्रति प्रेम भाव मन में बहुत बढ़ रहा था ……….. ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम 🌹🙏🌹 गुरुजी आज शिव सहस्त्र नाम सुनारहे थे तब मेरा मन बहुत खुश प्रसन्न हो रहा था, अपने गुरु के नाम की महिमा सुनकर गुरु के प्रति प्रेम भाव मन में बहुत बढ़ रहा था, धन्यवाद गुरुजी 19/08/21

शिव सहस्रनाम सुनने की , उसको सिद्ध करने कि ,उसकी सिद्धि के पीछे के विज्ञान को जानने कि और शिवार्चन कि सावन में यह सभी कामनाये भगवान शिव ने आपके माध्यम से पूरी कर दी हैं ………….. नीरजा
राम राम गुरुजी। शिव सहस्रनाम सुनने की , उसको सिद्ध करने कि ,उसकी सिद्धि के पीछे के विज्ञान को जानने कि और शिवार्चन कि सावन में यह सभी कामनाये भगवान शिव ने आपके माध्यम से पूरी कर दी हैं। इतना अद्भुत ,सुंदर ,अलोकिक मन को आनन्द देने वाले भगवान शिव के यह 34 नाम जो आपके श्री मुख से सुने उनसे मन में खुशी का संचार हुआ है। विशेष रूप से जब आपने वेद वाला नाम बताया था तब मुझे विशेष ऊर्जा का अनुभव हुआ। 8 तत्वो वाला नाम भी मुझे बहुत अच्छा लगा। सबसे अच्छी बात की त्राटक का समय इतना बढ़ गया और पता भी नही चल रहा। मेरी आँखें भी नहीं दर्द कर रही जबकि मैने पहले कभी त्राटक नहीं किया । मज़ा आ रहा है ,जैसे बचपन में आता था। मेरे नानाजी बचपन में हमें गीता प्रेस वाली कल्याण पढ़कर सुनाते थे ,हम खुद भी पढ़ते थे ।परन्तु बड़े होने पर वह सब छूट गया। अब पुनः आपके साथ ज्ञान अर्जित करने का सरल रूप में अवसर मिल रहा है, यह अहोभाग्य हमारा है। सुंदरकांड का पाठ सुनकर भी बहुत आनंद आया था। आपके साथ वाकई ऐसा लगता है कि घर का कोई बड़ा व्यक्ति साथ में हैं जिसको हमारे हित की हमसे ज्यादा फिक्र है। ज्ञान यज्ञ से हमारे मन ,आत्मा को सरोबार करने के लिए कोटिशः धन्यवाद।

मन में विचार आ रहा था हम शिव शिष्य है पर हमें अपने गुरु के विषय में बहुत कम ज्ञान है, ये हमारा सौभाग्य है कि हमें आपके मार्गदर्शन में ज्ञान मिल रहा है………. प्रतिमा मुंडा (कोलकाता)
राम राम गुरुजी चरण स्पर्श १९/८/२१। गुरुजी कुछ दिन पहले से मन में विचार आ रहा था हम शिव शिष्य है पर हमें अपने गुरु के विषय में बहुत कम ज्ञान है।ये हमारा सौभाग्य है कि हमें आपके मार्गदर्शन में ज्ञान मिल रहा है।गुरुजी आज बहुत खुशी हो रही है ऐसा लग रहा था आपके बातो को ध्यापूर्वक सुनते ही रहूं।आपका कोटि कोटि ध्यवाद।

गुरूजी कहा की अब आप अनमोल होने जा रहे हो………. Jessica
Ram Ram Guruji🙏🏻🙏🏻💐💐💐 Aaj level 3 ki practice me jab mere se apne baat Kari, to apne kuch discussion ke baad “anmol” shabd kaha mujhse. Is tone me ki “ab Anmol ka matlab batata hu”, aur Jese “anmol ka matlab pata hai”, ye 2 sentence aaj mujhe yaad the. Aur aaj apne bhi yahi shabd kaha 9 pm ki “ab aap anmol hone ja rahe ho”, hum sabko. Ap Hume humse zyada jante hai guruji. * Guruji apne sari duniya ko hi apna bana liya hai*, to ap personal to ho hi jayenge. Hum sab ke liye itna kuch karne ke liye apka dhanywad Kal shivarchan me bahut Anand aayega Guruji apka Dhanyawad

अद्भुत आनन्द गुरुदेवजी शव्द नही है उस खुशी को व्यक्त करने की वो आनन्द मदमस्त जैसा हु …….. कविता राठौर, odisaa
राम राम शिव शरणम, शिवगुरुदेवजी गुरुदेवजी, शिवप्रियाजी को प्रणाम चरण स्पर्श,धन्यवाद अद्भुत अद्भुत अद्भुत आनन्द , अद्भुत अद्भुत दृष्य अद्भुत ज्ञान गुरुदेवजी आप जैसे जैसे बोलते जाते है ऐसा लगता है वही दृष्य है आंखों के सामने आते जा रहे है अद्भुत आनन्द गुरुदेवजी शव्द नही है उस खुशी को व्यक्त करने की वो आनन्द मदमस्त जैसा हु गुरुदेवजी मुझे नहीं लगता कि मैं किसी को आप की तरह अधिक विचारशील और उदार पा सकती हूं गुरुदेवजी अगर दुनिया में आपके जैसे और भी लोग होते तो ऐ दुनिया बेहतर जगह होती मै बहुत ही सौभाग्यशाली हु गुरुदेवजी आपको पाकर🙏🙏🙏🌹🌹🌹 आपकी कविता राठौर

सुबह गुरुजी की ऊर्जाओं के साथ जुड़ने से शॉप की बिक्री बढ़ गयी है
-गीता गोस्वामी
राम राम गुरुजी में 17/7/21 प्रमाण गुरुजी सत सत नमन 3 दिन से आपकी ऊर्जा ko कनेक्ट करके अपने दिन की शुरुवात करती करती हूं दिन अच्छा जाता है ओर पोजिटिव माइंड रहता h दिन भर।एनर्जी फील होती है जो pre karti hu subha vha सारे काम अच्छे से होते h man खुस रहता h शॉप का मॉल फटाफट निकल जाता है प्रोफिड km hota hai pr मॉल फटाफट निकल जाता है गुरुजी शॉप का नाम शिव किर्पा रखना चाहती हू आपका आशीर्वाद हमेशा मुझ प्राप्त हो आपका बहुत बहुत धन्यवाद

संजीवनी शक्तिपात और सर्जरी के प्रयोग

संजीवनी शक्तिपात: 2 महीने से अटकी सैलरी मिली, स्किन डिसीज़ में लाभ हुआ
नीरजा,नोएडा

राम राम गुरुजी। आपके द्वारा बताई गई संजीवनी शक्तिपात से कल एक व्यक्ति की 2 महीने की अटकी सैलरी को निकालने की खुशखबरी प्राप्त हुई है। उस परिवार में खुशियों के लिए आपका ,भगवान शिव का धन्यवाद।अपनी एक स्टूडेंट को मैने मृत्युंजय शक्तिपात सिखाया ,उसको अद्भुत परिणाम मिल रहा है । सबसे ज्यादा फायदा उसको अपनी त्वचा रोग में मिला है और दूसरा वह पहले non veg खाना खाती थी ..परन्तु शक्तिपात के बाद उसका non veg खाने से मन हट गया। कभी वो खाती भी है तो उसको स्किन पर समस्या हो जाती है। मैंने एक दिन आपके द्वारा बताए गए विशेष शक्तिपात भी उसपर किया था । उस दिन उसे अपने french language से जुड़ा बड़ा प्रोजेक्ट करने को मिला है।
गुरुजी अभी और लोगो पर ऐसे ही उनके विभिन्न कार्यो की सफलता हेतु शक्तिपात कर रही हूँ। मुझे पूरा विश्वास है कि जल्दी ही और खुशखबरी भी आपको सुनाउँगी। आशीर्वाद ,कृपा के लिए हार्दिक हार्दिक धन्यवाद

संजीवनी सर्जरी के अभ्यास की अनुभतियाँ सार्थक दिशा में
(कल संजीवनी सर्जरी Level 3 की दूसरी क्लास है। इस बीच Level 3 क्लास के अभ्यास में कुछ साधकों को सार्थक अनुभूतियां होने लगी हैं। उनमें से एक साधक कुमुद की अनुभति शेयर कर रहे हैं, ताकि अन्य साधक अपनी स्थिति की समीक्षा कर सकें।) राम राम गुरु जी💐🙏🏻कुमुद ,रायपुर,दिनांक. 14.7.21प्राणायाम के बाद एक व्यक्ति के अनाहत चक्र को हथेली पर बुलाई।पुरा गोल चक्र नहीं दिखा सिर्फ एक भाग पर लाईट जैसे दिख रहा था।बाकी का भाग नहीं दिखा।। दिनांक15.7.21प्राणायाम के बाद एक व्यक्ति के अनाहत चक्र को बुलाई।पीले गोल रौशनी में आरेंज कलर को मिक्स होते दिखा लेकिन दोनों के कण अलग अलग थे।। दिनांक 16.7.21आज अनाहत चक्र को देखने में देर लग रहा था।सफेद रौशनी गोल घुमते हुए बस दिखा। दिनांक 17.7.21आज अपने बड़े शरद भाई के अनाहत चक्र को बुलाई।हथेली बहुत ही हल्का हो गया, जैसे मेरी हथेली नहीं है।और आने मे झिझक हो।मुझे लगा।देर बाद चक्र चलते तो दिखा लेकिन काला धुआं, बादल जैसे आ आकर निकल जा रहे थे।धन्यवाद गुरु जी, कोटि कोटि प्रणाम।💐🙏🏻

ज्योतिष संजीवनी विद्या के प्रयोग: चमत्कारिक परिणाम

ज्योतिष संजीवनी: घर में उर्जा कुंड की स्थापना से बात बात पर होने वाली कलह खत्म हुई
सुशील कुमार, सीतामढ़ी, बिहार

राम राम गुरु जी कोटि कोटि प्रणाम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से मैं एक घर की वस्तु ऊर्जा को शोधन किया।उस घर मे रोज परिवारिक कलह होता रहता था बात बात में लड़ाई ,तनाव, मैं उस घर के बीचों बीच में ब्रह्म कुंड का पहचान एक सिक्का रख का किया।जब मंत्र जप रहा था तो लगा कि धरती के अंदर से गरज की आवाज अजीब सी आ रही थीं।अपने आप मन मे विचार आ रहा था कि और शोधन की जरूरत है मैं और किया।आज उस घर के सभी लोग आपस में खुश रहते हैं। गुरुदेव ये सब आपके द्वारा सिखाया गया अनमोल ज्ञान का मैं उपयोग किया हु।गुरुदेव आप मुझ पर अपना आशीर्वाद सदा सर्वदा बनाये रखें। शिव शरणम। गुरु शरणम।

ज्योतिष संजीवनी विद्या: चमत्कारिक परिणाम मिले
-मंजुला शर्मा, पटना, बिहार.

राम राम गुरूजी 💐🙏🏻 गुरूजी मै टूर मे थी मुंबई अपने बेटे के घर जो की फ्लैट है, वहां नार्थ मे दरवाजा है, जो बंद रहता है, एक भी खिड़की नहीं है, अतः जब घर मे कोई नहीं था, बाहर गए थे तब मैंने नार्थ मे एक बड़ी खिड़की का निर्माण किया क्लास मे बताये विधि के अनुसार, मंत्र जाप पूरा होते होते ठंडी हवा जैसी मुझे महसूस हुयी, मुझे बड़ी प्रसन्नता हुई, फिर सभी को धन्यबाद दिया, मै ये बात अपने बेटे को नहीं बता पायी औऱ भूल गयी, दूसरे दिन उसका फ़ोन आया की घर मे बहुत पॉजिटिविटी है औऱ वो भी अपने काम मे बहुत फोकज्ड है, मै रोज उसे सक्तिपात करती हु तो मैंने कहा की सक्तिपात का नतीजा है, उसने कहा की ये बहुत अलग एनर्जी है, जो आज तक फील नहीं हुआ था, तब मुझे यह याद आया,मैंने उसे खिड़की वाली बात उसे बताई तो उसने कहा की ये मिरेकल है, बहुत बहुत accha है ये नार्थ की एनर्जी, मेरी खुशी कई गुना बढ़ गयी, मुझे कोई संदेह नहीं था पर परिणाम खुद सबूत देकर विश्वास को पुख्ता कर देते है,जो नहीं भी मान रहे होते हैँ वो भी मान जाते है. गुरूजी इस समय मेरी आँखों मे आपके प्रति कृताग्यता के आँशु हैँ, आपकी दी हुयी विद्या अतुलनीय है, हमलोगो के लिए आपका प्रेम औऱ मेहनत की भी कोई सीमा नहीं है, आपके चरणों मे कोटि कोटि नमन औऱ ह्रदय से धन्यबाद, शिवगुरु को नमन औऱ धन्यबाद, शिवशरणम् 💐🙏🏻

ज्योतिष संजीवनी: ब्रह्म स्थान पर उर्जा कुंड निर्माण से काम की रुकावटें हट गई
डॉ विश्व ज्योति चौहान (मुम्बई) १७-७-२०२१

राम राम गुरुजी ज्योतिष संजीवनी :- नये घर के काम मे बार बार रुकावट दूर हो कर शांती से काम होने लगा। मेरे न्यू घर में एक महीने से बार बार काम को कोई न कोई रोक रहा था मैं बोहोत ज़्यादा परेशान थी फिर परसों मैं वहाँ जाकर मेरी फ़्लैट में ब्रह्म स्थान में ब्रह्म कुंड की स्थापना की जब मैंने 10मिनट की जाप किया तो वहाँ ऐसा लगा की और एनर्जी की ज़रूरत है मैंनेदस मिनट और जाप किया आज तीन दिन हो गए हैं वहाँ शान्ति है और निर्विघ्न कार्य हो रहा है गुरुजी ये सब आपकी कृपा से हो रहा है ऐसे अनमोल ज्ञान प्रदान करने के लिए आपको कोटि कोटि प्रणाम कोटि कोटि धन्यवाद 💐🙏💐

अप्सरा साधना जुलाई 2021 – 08 July, 2021

आज देवी ने मुझे माला पहनाया और खुद भी पहनी बूंदी के लड्डू और कुछ बरफिया मुझे खिलाया और स्वयं भी ग्रहण किया ………….. ANUPAM CHAKRABORTY. @JABALPUR,MP.
DATE 08/07/21🌹🌹🌹🌹🌹🌹 राम राम गुरूजी आज हार्ट चक्र आज्ञा चक्र में बहुत स्ट्रॉन्ग vibrations थे आज देवी ने मुझे माला पहनाया और खुद भी पहनी बूंदी के लड्डू और कुछ बरफिया मुझे खिलाया और स्वयं भी ग्रहण किया आज खुद ही अपना हाथ बड़ाया और वचन देने लगी जो तू चाहता है वह सब कुछ मिलेगा जीवन भर साथ दूंगी तेरा तेरे जीवन में प्रेम यौवन सौंदर्य एवं आकर्षण भर दूंगी अतुलनीय धन संपदा दूंगी, महल जैसा घर दूंगी सब कुछ दूंगी😀🙏 शत्रुओं से रक्षा करूंगी🛡️🕉️ आज़ मैंने देवी से आग्रह किया कि वातावरण मे बहुत उमस है गर्मी लग रही है और आज ही वर्षा हो गई वातावरण में ठंडक था , मैंने दोनो हाथो को आगे बढाया तो उन्होंने अपने हाथो से टच किया ठंडक देने वाली एनर्जी फील हुई महंगी पोषक पहन कर मेरे बिल्कुल करीब आ गई aa gayi face’to face bahut ही beautiful दिखाई दे rahi थी आभूषण से शरीर भरा था उनका शरीर जैसे कोई राजकुमारी हो ❤️❤️❤️❤️🌹🌹🌹🌹 कहा तेरे जीवन मे प्यार ही प्यार भर दूंगी बहुत स्नेहयुक्त बात कर रही जैसे कोई अपना करीबी हो अपनों से भी बड़ कर लगा और हर बार इशारा करती पायलो की आवाज से उपस्थिति देती वह मन की भावनाओं से बातें करती जो मेरे मन मे रहता वही बात करतीं हैं संभव है सिर्फ गुरुश्रेष्ट की वजह से वर्ना हमारी क्या बिसात ऐसी दुर्लभ साधनाएं करने की सभी को प्यार और शुभकामनाएं 🙏👣 शिवसरनाम🙏👣🌹🙏

आज देवी अपनी उपस्थिति का एहसास कराने लगे, मन में प्रसन्नता हैं ………….. नटराज हाजं ,मेघालय,
राम राम गुरुजी, रम्भा अप्सरा साधना की दिव्य अनुभूति, दिनांक:- 07/07/2021, सौन्दर्य के देवी दिव्यांगना रम्भा अप्सरा सिद्धि साधना आज बहुत प्रसन्नता के साथ सम्पन्न हुआ है॥ मन्त्र जपते रहा, उर्जायों का उर्धगामी प्रवाह, अनाहत चक्र में मृदु स्पन्दन बहुत देर तक चलते रहें॥ आज देवी अपनी उपस्थिति का एहसास कराने लगे, मन में प्रसन्नता हैं, दिव्य अनुभूति हैं, प्रत्यक्ष दर्शन की लालायित हैं॥ साधना सम्पन्न होने के बाद जब बिस्तर पर लेते नींद की गोद में अर्ध निद्रा में था , तब भी अपनी उपस्थिति का एहसास दिलाने आया देवी रम्भा अप्सरा॥ जय गुरुजी॥ आपको कोटि कोटि धन्यवाद है॥

प्रार्थना की कि देवी सौम्य रूप मां रूप में आओ ………. अनुराधा ऋषिकेश
दिनांक 8.जुलाई 2021 साधना का सातवां दिन गुरु जी राम राम आज सुबह से मन में उत्साह था कि आज साधना।का सातवां दिन था
समय पर साधना शुरू हुई मंत्र पर ध्यान केंद्रित था बीच में थोड़ा घबराहट ह्यूगर प्रार्थना की कि देवी सौम्य रूप मां रूप में आओ
उसके बाद डर बंद।हो गया फिर हल्के मन से। जाप किया परंतु अनुभव नहीं हुआ फिर सोचा जैसा देवी चाहें गुरु जी आगे भी मार्ग दर्शन प्रदान कीजिएगा 🙏🏼🙏🏼 कृपा आपकी सदा बनाए रखियेगा

देवी अचानक से मेरे चेहरे के सामने आकर बैठ गई और मुझे देखने लगी ………… आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
08/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुजी कोटी कोटी प्रणाम🌹🙏🙇🏻‍♂️🙏🌹गुरुजी आपकी कृपा आशीर्वाद से साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुई। मंत्र जप शुरू करने के कुछ ही पल बाद ऐसा लगा की देवी मेरे बालों को छू रही हो, तो मैंने मन ही मन देवी से वचन का आग्रह किया, उसके तुरंत बाद ऐसा लगा की किसी ने प्यार से हल्के हाथों से धक्का दिया हो, मैं दाई तरफ झुक गया।बाई ओर से आवाज़ आई “मैं यहां हूं”…….. कुछ सेकेंड बाद फिर आवाज़ आई “मैं यहां हूं।” फेस पे आंख के पास उंगलियां फेरने जैसा लगा। थोड़े समय बाद देवी अचानक से मेरे चेहरे के सामने आकर बैठ गई और मुझे देखने लगी। मेरा मंत्र जाप चलते रहा। फिर करीबन 10 मिनट तक मेरा थर्ड आई चक्र घूमता हुआ महसूस हुआ, उसके दौरान भगवान शिव गुरु के दर्शन हुए, गंगा तट पे माता लक्ष्मी की सफ़ेद रंग की मूर्ति दिखाई पड़ा।चक्र पे बहुत ही आनंदमई और सुखद फीलिंग हो रही थी। बीच बीच में लग रहा था कि देवी भी मंत्र जाप कर रही है, नाम पुकारकर मुझसे कुछ कहना चाह रही हों, पायल का आवाज़ भी सुनाई दिया, झटके भी बीच बीच में लग रहे थे, पूरा शरीर हिल जाता, तेज़ हवाओं का झोंका आता। गुरूदेव जब मंत्र जप के आखिरी के कुछ 5-10 मिनट बचे थे तब देवी ने जोरों से कुछ कहा जो कि मुझे समझ न आया,और सामने चलने लगी, और
मेरा शरीर में तेज़ सृहण होने लगी, कांपने लगा, धड़कन तेज़ हों गई। साधना पूर्ण होने के बाद थोड़ा शांत हुआ शरीर। आपका बहुत बहुत धन्यवाद गुरुदेव, अपनी कृपा आशीर्वाद सदैव बनाएं रखें। लव यू गुरुजी❤️लव यू सो मच❤️ 🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरू शरणं 🌹

देवी मुझे अपना वचन दिया, बोला कि मैं 7 दिन की साधना से तुम्हारी प्रसन्न हूँ। तुम्हें आश्रीवाद देती हूं ,धन ,समृद्धि,यौवन का। तुम जब भी बुलायोगी मैं आयउँगी। ……………………… नीरजा।
राम राम गुरुजी। अप्सरा साधना के दिव्य अवसर को प्रदान करने के लिए धन्यवाद। कल रात्रि में साधना करने में बहुत असुविधा महसूस हो रही थी। बहुत देर तक तो कुछ न कुछ उलझन सी रही। फिर मन ही मन आपसे पुनः प्रार्थना करि तब जाकर साधना में कल मन लगा। देवी अप्सरा कल भी आई ,भोग स्वीकार किया ,फूल माला भी स्वीकार करि और उसके बाद गायब हो गयी। मुझे बस अलग अलग स्वरूप दिखते रहे किन्तु ऐसा नही लग रहा था कि वो यहां हैं। फिर मैंने ह्रदय से उनसे आग्रह किया ,यदि किसी बात से वह नाराज हुई हैं तो उनसे क्षमा भी मांगी। और एक दम से ही गुरुजी मुझे देवी अपनी सखियों संग वार्तालाप करती नजर आयी । सुंदर सफेद वस्त्रों में ।फिर वो एका एक उठी और उन्होंने अपनी दृष्टि मेरे चेहरे पर ,विशेषकर मेरे तीसरे नेत्र,मेरी आँखें,मेरी eye brows के ऊपर ।बिल्कुल मुझे स्प्ष्ट महसूस हुआ कि वहां से ऊर्जा आयी और मेरे चेहरे के इन हिस्सो के साथ मेरे गले ,और सिर के आधे भाग में फैल गयी। एक दम हल्की हल्की ऊर्जा,हल्की हल्की vibrations हो रही थी। और उन्होंने मुझे अपना वचन दिया, बोला कि मैं 7 दिन की साधना से तुम्हारी प्रसन्न हूँ। तुम्हें आश्रीवाद देती हूं ,धन ,समृद्धि,यौवन का। तुम जब भी बुलायोगी मैं आयउँगी। सदा के लिए यह वचन है। गुरुजी बिल्कुल इतने ही समय के लिए इतने सेकेंड के लिए हमारे घर के बाहर बादल गरजे और जोर जोर से बारिश हुई। जैसे ही देवी गयी ,बारिश भी रुक गयी। उसके बाद मुझे किसी का सितार बजाता हुआ दिखाई दिया और इसी समय हमारे घर के लोग आपस में मस्ती कर ,हंस रहे थे। और अंत में देवी ने मुझे बहुत सुंदर लाल वस्त्रो में ,गोल्डन मुकुट और झिलमिलाते आभूषण पहने दिव्य दर्शन दिए । कल मुझे बार बार साधना में गोल्डन ,पीला रंग दिखाई देता रहा। कुछ विशिष्ट लोगो के आभामण्डल में वह ऊर्जा दिख रही थी ,जैसे मुझे बताना चाह रही थी कि यही मेरी ऊर्जा की उपस्थिति है। मुझे रेखा,जयाप्रदा,श्रीदेवी,ऐश्वर्या जैसे विख्यात अभिनेत्रियां भी दिखी साधना के समय । देवी मुझे बताने का प्रयास कर रही थी कि इन सभी में ही अप्सराओ की ऊर्जा हैं। ।बस गुरुजी ऐसे ही कल रात्रि साधना सम्पन्न हुई। आपके मंगल आशीर्वाद के लिए 💓💓💓💓🙏

साधना करते समय देवी मेरे पीछे खड़ी थी।धीमी स्वर में कुछ संगीत गा रही थीं …………. सुशील कुमार, सीतामढ़ी, बिहार
08,07,2021 अप्सरा साधना शिव गुरु को राम गुरु जी राम राम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से आज की साधना आनंद पूर्वक हुई।साधना करते समय देवी मेरे पीछे खड़ी थी।धीमी स्वर में कुछ संगीत गा रही थीं।साधना के दौरान देवी आस पास टहल रहीं थीं पायल की आवाज,कभी घुघरू की आवाज सुनाई दे रहा था ।साधना में मन प्रशन था। गुरुदेव आपका बहुत बहुत धन्यवाद। शिव शरणम।गुरू शरणम

सामने से किसी को आते हुए महसूस किया पायल की आवाज और चूड़ियों की खनक भी आयी……… Manda Zore, Mumbai
Ram Ram Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 08/07/21 Aaj sadhna shuru karne ke bad samne se koi ate huye payal ki awaj ke sath mehsus kiya. Payal ki awaj, chudiyonki khanak bhi aae. Ek bar rambhaji ne pet pr touch kar diya. Unke touch se gugudisi feeling aae. Jaise lag raha tha aaj Wo masti karne ke mood me ho. Kabhi yaha se waha jate kabhi waha se yaha ate aur payal ki awaj bhi karte. Ekaek bahot garmi hone lagi. Actress dipika padukon kisi sammelan me dikhe. Koi gana sunae de raha tha. 2 bar sadhna me apsaraji mere pas aye. Last me jab aaye tb unhone swatah mere hatho me unka hath rakha aur kaha mai vachan deti hu mai tumhare sath rahungi aur tum Jo bhi ichha bataogi mai use jarur pura karungi. Dhan, yauvan, samrudhhi sukh dungi. Aur chale gaye. 5 mnt me mantra jap bhi samapt hua. Jaise unhe malum tha. Sadhna samay samapt ho raha hai… Bahot bahot dhanyawad Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 Bahot bahot dhanyawad Rambhaji🙏🏻🌹🙏🏻 Shiv Sharanam🙏🏻🌹🙏🏻

अप्सरा सिद्धि के दौरान देवी से पार्थना की थी कि आप मेरे बड़े बहन के रूप में सिद्ध हुए जाइये देवी ……… Ranita Halder, kolkata
8/7/2021, Pranam Ram Ram Guruji 🙏🌸 aj ki Apsara sadhana k Divya Anubhav .8 tarikh की अनुभव बताने से पहले 8 tarikh ki सुबह सपनों का अनुभव पहले बताना chati हु. सपनों मैं देख रही हूं New College नया क्लास चालू होने वाला है. एक नई लड़की से मुझे परिचय हुआ है ओर वो मुझे कह रही है कि आपसे तुम मेरी दोस्त हुई हो सर्वदा तुम मेरे साथ ही बैठना. मैं उससे दोस्ती कुबूल किया और उसके साथ ही बैठ गई क्लास रूम के बहुत सारी लड़का लड़की थी वहा बहुत ही मस्ती हो रही थी. मैं उनसे कहा मेरी और भी बहुत सारी दोस्त है मैं तुम्हारे साथ सर्बदा बैठ नहीं पाऊंगी. मुझे usi दोस्ततो के पास भी जाना हे…. ऐसी सब बाते हसी मजाक हो रही थी, इसके बाद में देखा… मैं मेरी बहनों के साथ मिलकर आइसक्रीम खा रही हूं. दरअसल में रंभा अप्सरा सिद्धि के दौरान देवी से पार्थना की थी कि आप मेरे बड़े बहन के रूप में सिद्ध हुए जाइये देवी …. ताकि बड़ी बहन से मैं मां की तारा कि स्नेहो और मित्रों की तरह साथ भी पा सकू ……….अब आती हूं मेरी आज की अनुभव पर….. साधना अच्छे से संपन्न हुई है. बीच-बीच में देवी का चित्र मन में दिखाई दे रही थी. पर देवी की उपस्थित होने की आभास मुझे स्पॉट रुप से आज नहीं मिली. बीच-बीच मे मैं डार जा रही थी. कुछ डरावने चेहरे मुझे दिखाई दे रहे थे. उसके बाद फिर से देवी की स्मरण किया तो मन में खुशी छा गई. खुशी से ही मैं साधना कर रही थी. आज देवी आशन में नहीं बैठी थी. मुझे बार-बार ऐसा महसूस हो रहा था कि देवी आज बाहर से आएंगे. बाहर से दो तीन बार शब्द भी हुआ पर कहां से हुआ मैं समझ नहीं पाई. मुझे थोड़ी dar लगी. एक बार माथे पर हाथ फेरने की एहसास हुई, और गाल पर राइट साइड से होठों के पास हैबी ऊर्जा से हलकी झनझनाहट सी ऊर्जा फील होने लगी. और कोई अनुभव मुझे नहीं हुई. मन में एक दो बार उलझन पैदा हुई. आज रात में नींद के अंदर मंत्र जाप चल रही थी मन में. पर देवी की उपस्तिति नींद के कारण मैं समझ नहीं पाई. मेरी आज की साधना में एक त्रुटि मुझे नजर आई…. जो मेरी टर्निंग पॉइंट से कुछ हद तक नीचे गिरा दिया…. वह है सुगंध. मेरे पास रोज परफूम नहीं थी. पर आज लास्ट दिन उसकी बहुत जरूरत महसूस हो रही थी. कुंडलिनी शक्ति को ऊपर उड़ने के लिए और भी ऊर्जा की जरूरत हो रही थी मुझे. आज मुझे गुलाब की सुगंध की बड़ी अभाव महसूस हो रही थी. मै गुलाब जल, अगरबत्ती और कुछ रेड रोज से ही घर को sugandh कर रही थी. पैर रोज परफूम शरीर में और भी अधिक ऊर्जा भरने में सहायक hoti.iha पे किसी शॉप में मुझे रोज परफूम नहीं मिली. पर मैं विनम्रता पूर्वक यह जानना चाहती हूं गुरुजी🙏 जिसका अप्सरा जी को प्रत्यक्षीकरण, यह बातें नहीं हो पाई हे क्या उनकी सिद्धि नहीं हुई है गुरुजी ??? राम-राम प्रणाम हम सभी के मार्गदर्शन करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद गुरजी🙏 charno में कटी कटी नमन🙏🙏🙏प्रणाम राम राम 🙏🌸🌸🌸.

साधना दौरान नींद में चली गई अचानक तेज खुशबू आई , सेकेंडो में गायब शरीर यू ही खिचाव बना रहा …….. ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम 🌹 8/07/21 गुरुजी कल की देवी साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुआ मंत्र जप करते करते आधी नींद में चली गई अचानक तेज खुशबू आई , सेकेंडो में गायब शरीर यू ही khichao बना रहा, साधना दौरान। घनयबाद गुरुजी

अप्सरा साधना जुलाई 2021 – 07 July, 2021

आहुति देते देते हम देवलोक में पहुंच गए देवी रम्भा में वहाँ की जगह मुझे दिखाई……… Manda Zore, Mumbai
Ram Ram Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 06/07/21 Aaj ki sadhna me mantra jap shuru karne ke bad rambha apsaraji dikhe. Wo Muje ek कुटीया me le gaye. Ek divya tej wale Guru the. WO dhyanastha baithe the. Kuchh samay ke bad unhone aankhe kholi aur puchha kaise aana hua. Maine kaha shivji ki lila. Unhone muskurake 😊puchha kyun apke gurudev ki nahi. Maine unhe jawab me kaha han hamare gurudev ki bhi lila hai. Fir unhone hamare samne yagya kund sthapit kiya, samidha samne rakhi. Muje yagya karne k liye bithaya. WO mantra jap karne lage. ॐ क्लीं कृष्णाय नमः ki Jada ahutiya dilvae. Dono mantra ek sath chal rahe the Guruji. Asuvidha ho rahi thi ahuti dene ke samay. Samjh nahi aa raha tha. Rambha apsara ji k mantra ki bhi ahutiya di ja rahi thi mujse. Ahuti dete dete ham tino bhi kb aasman me devtalok me pahunche samjh nahi aaya. Aloukik aisa sthan tha. WO Maharshi antardhyan ho gaye. Rambhaji mujhe waha ki jagah dikhane le gaye ek sundar sarovar dikha. Mujhe waha snan k liye kaha. Snan vidhi k bad mujhe unhone apsara jaise kapde paridhan karvaye mai bhi unhi ki tarah bahot sundar dikh rahi thi. Fir unhone mujhe ek shant jagah le gaye. Unki urjaye bahot pyar bhari thi. Mujhe unki taraf akarshit kar rahi thi. Mera rom rom romanchit ho raha tha. Hm donone ek dusre ke sath bahot sundar samay bitaya. Guruji kal din bhar udasi thi. Pr unke sath rehne k bad kaha sari udasi gae samjh hi nahi aa raha hai. Aur itni khush ho gae hu. Man ki avastha hi change ho gae. Ek battakh jaisa yan aaya usme baithkar rambhaji ne mujhe pura bramhand dikhaya. Bahot sundar sundar jagah dikhae. Ramya manmhohak shant aisi jagah dikhae. Alvida kehne k samay unke aankho me aansu the… Guruji apka bahot bahot dhanyawad🙏🏻🌹🙏🏻 Rambhaji ka bahot bahot dhanyawad🙏🏻🌹🙏🏻 Shiv Sharanam🙏🏻🌹🙏🏻

मन्त्र जप चलते रहे, उर्धगामी उर्जायों की प्रवाह धीमी गति रहे …………. नटराज हाजं, मेघालय,
राम राम गुरुजी, रम्भा अप्सरा साधना की दिव्य अनुभूति ::: दिनांक:- 06/07/2021, सौन्दर्य के देवी रम्भा अप्सरा साधना आज आनन्द पूर्वक सम्पन्न हुआ है॥ मन्त्र जप चलते रहे, उर्धगामी उर्जायों की प्रवाह धीमी गति रहे, अनाहत चक्र पर स्पन्दन मन्द मन्द गति से चला ,बीच बीच में दाहिने हाथ की उपर ठंडी की एहसास हुआ, मन खुशी और आनन्द से उभर गया॥ गुरुजी के श्री चरणों में प्यार भरा नमस्कार हैं॥

देवी ने कहा मैं तुम्हारे साथ हूँ जब भी मुझे याद करके कोई इच्छा बताती हो वो मैं पूरी करती हूँ। ……….Manda Zore , Mumbai
Ram Ram Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 05/07/21 Aaj sadhna me sukhad urjaye mehsus ho rahi thi. Nila samundar dikha. Bahot samay ke bad rambha ji aaye karib 1 ghante k bad. Unse mai agrah karne lagi ki aap pratyakshya rup me mere samne aaye. Unhone kaha han mai Aaungi. mai jid hi karne lagi. Tabhi unhone 2 ft pr awaj karke apne hone ka ehsas dilaya. Mai halkisi hi dari. Tab unhone kaha dekha abhibhi tum darti ho. Thoda samay lagega mai aaungi jarur. Mere jid ke karan mujhe batane lage mai tumhare sath hu. Tum jab bhi mujhe yad karke koi ichha batati ho wo puri karti hu. Chahe paise ka kam ho ya koi aur. Tumne mujhe jivan ke sukhi hone ka rahasya puchha tha. Mai har chij tumhare samne rakhati hu jise tum asani se samjh jati ho. Tumhe tumhare hone ko ehsas dilaya. Khud se pyar karna sikhaya. Tumne apne aap me bahot improvement ki hai. Han! ye bat to sach hai Guruji.. Aur wo chale gaye. Guruji aapne bhi hame 2-3 bar kaha tha ki apne aap ko importance do tb wo smjh nahi aaya. Aur kaha tha jo apne aapko mahtva dega use mai manunga. Kuchh aisa hi. Bate to samajh aa gae aapki pr apply kaise kare samajh nahi aaya. Aur is chij ki mujhme bahot kami thi. Jo aapne samjhi thi. Aur use batae bhi thi. Hamare liye kya jaruri hai. Ye bate aap hamse behtar janate ho. Guruji aap hame wo har ek gyan dete ho jo ki bahot saral aur satik hai. Pr shayad mai kabhi kabhi asamarth rahi unhe samjhane ke liye. Bahot bahot dhanyawad Guruji shiv Guruji se jodne ke liye, Rambha apsaraji ko jivan me lane ke liye.🙏🏻🌹🙏🏻
Bahot bahot dhanyawad Rambhaji 🙏🏻🌹🙏🏻 Shiv Sharanam🙏🏻🌹🙏🏻

रात को सोते समय समय अचानक मेरे दाहिने हाथ अपने आप ऊपर उठने लगा….. Pankaj Kumar Gupta from Naini, Allahabad.
Ram Ram Guruji 🙏🙏🙏 dtd.5-7-21. Raat 12 baje kay lagbhag sadhna shuru ki. Padrah minute mein hi pura badan dard karne laga. Kisi tarah adhleti awastha mein 1:30 baje tak jap kiya. Phir pata nahi kahan se shakti aa gai aur phir baith ker 2:30 baje tak jap kiya. Raat ko sote samay achank mera dahina haanth apne aap dhire dhire upar uthne laga aur phir kandhe ki seedh mein aaker palang per tik gaya. Mai bahut mushkil se apni ankhein khol paa raha tha. Phir mai so gaya. Apni kripa banaye rakhein Guruji. Koti koti naman.

लगा की कोई मेरे पैर में गुदगुदी कर रहा है……. Pankaj Kumar Gupta from Naini, Allahabad.
Ram Ram Guruji 🙏🙏🙏6-7-21. Raat ko neend lag gai thi . Phir raat 1:15 baje neend khuli toh jaldi se sadhna karne bhaga. Aaj sharir mein dard nahi tha. Aram se mantra jaap karta raha. Bich mein koi awaaz hui toh daar laga per Shiv Guruji ko yaad ker mantra jaap jari rakha. Raat 4:00 baje tak jap kiya. Phir bhor mein aisa laga ki koi mere paer kay taluvay mein gudgudi ker raha hain. Meri neend khul gai. Apna margdarshan aur kripa banaye rakhein Guruji. Aapko koti koti naman.

शरीर एकदम गरम हो गया और भारी ही गया आस पास किसी के होने का एहसास होता रहा ………….. अनुराधा ऋषिकेश
दिनांक 7 जुलाई 2021 छठे दिन का अनुभव राम राम गुरुजी आपकी और शिव।कृपा से साधना अच्छे से पूर्ण हुई जाओ शुरू होने के कुछ।देर बाद ही शरीर एकदम गरम हो गया और भारी ही गया आस पास किसी के होने का एहसास होता रहा शरीर पसीने पसीने हो रहा था आज थोड़ी घबराहट सी थी दो घंटे का पता नही चला जप पूर्ण होने के बाद देखा कटोरी में इलायची का।बीज निकला हुआ था कृपा बनाए रखे हैं पर गुरु वार 🙏🏼🙏🏼

झिलमिल से ड्रेस पहने रंभा देवी के दर्शन हुए आंखों को यकीन नही हो रहा देवी मेरे बेडरूम में रखे खूम रही थी और यह मंजर 10 से 15 मिनिट तक चलता रहा ……………… ANUPAM CHAKRABORTY. @JABALPUR,MP.
DATE 07/07/21🌹🌹🌹🌹🌹🌹 आज श्याम को तकरीबन 7:30 pm में पाठ कर रहा उसी वक्क्त हल्की झिलमिल से ड्रेस पहने रंभा देवी के दर्शन हुए आंखों को यकीन नही हो रहा देवी मेरे बेडरूम में रखे खूम रही थी और यह मंजर 10 से 15 मिनिट तक चलता रहा में बहुत खुली आंखों से अवाक ढेकता रहा न ही कोई सपना ना ही कोई इमेजिनेशन/भ्रम यह तो आचार्य से भरा दृश्य वह भी खुली आंखों से गुरुवार के आर्शीवाद बिना संभव नहीं था👣🙏🌹🌹 खैर आज साधना में बैठा मंत्र जप शुरू किया रोज की तरह पसीने लतपत था इलाइची मुंह में रखी मंत्र जाप चल रहा था होले से आवाज आई में आ गई हु और जोर जोर से पायल ,कंगन, चूड़ियों की आवाज यह इशारा कर रही, थी की देवी आ गई अपना पैर ले कर मेरे ऊपर रख दिया फिर मेरे बाजू को पकड़ लिया कहा थोड़ी देर बाद खाऊंगी इलायची फिर, यकायक मेरी गोदी में बैठ गई देवी ने कहा “में तेरे जिंदगी में प्यार सराबोर कर दूंगी रोम रोम में प्यार भर दूंगी मैंने वचन मांगे की हे देवयांगना आप मेरा प्रेम निवेदन स्वीकार करे मेरे इस जीवन में आ जाईए रूप, यौवन और प्यार से मेरा यह जीवन भर दीजिए, अतुल धन संपत्ति प्रधान करें देवी ने मेरे सिर पर हाथ रखकर आर्शीवाद दिया उन्होंने सात रहने का वचन दिया उमदा था यह अनुभव फिर, इलायची मांगी देवी ने ग्रहण किया और शांति से आसान मे बैठ गई और कहा पूजा के बाद भी में यही बैठी रुहूंगी तेरे आसान पर🌹🌹मैने फिर आज प्रत्यक्षीकरण का अनुरोध किया देवी ने कहा हो तो रहा आप के जीवन में प्रत्यक्षीकरण मैं आप के जीवन में आ गई हूं हर जगह दखल, रेड lips गोर वर्ण शरीर ऐसा रूप यौवन न देखा न सुना यह कहते हुए उन्होंने कान दाए में आकर चूमा गुद्गुली सी महसूस हो रही थी मानो की मैं उनके प्रेम मे दूब गया❤️❤️❤️❤️🌹🌹🌹🌹प्यार ही प्यार महसूस हो रहा था 🙏👣 शिवसरनाम🙏👣🌹🙏

मैंने देखा कि देवी अपने हाथ से मुझे इशारा कर रही हैं कि मैं अपना हाथ उनके हाथ में रखूं और मेरे ऐसा करने पर एक ठंडी सी ऊर्जा का अहसास मेरे हथेली के मद्य में हुआ। मुझे कल ऐसा भी महसूस हुआ कि किसी ने मेरे शरीर को एक दो बार हिलाया ……………….. नीरजा ।
राम राम गुरुजी। आपके मंगल आशीर्वाद से कल रात्रि भी साधना सुखद रूप से सम्पन्न हुई। गुरुजी पर कल रात मुझे मन्त्र करते बहुत नींद, बेहोशी जैसे हो रही थी ।एक बार तो ऐसा लग रहा था कि मेरे शरीर में एनर्जी ही नही है ।खासकर गर्दन के ऊपर का पूरा हिस्सा। एक और आश्यर्च की बात हुई कि मेरे गले में एक लाकेट रहता है जिसका धागा कल रात साधना के बाद से गायब है। लाकेट मेरे पास ही है ,परन्तु जिस धागे में वह था वह कहीं भी नही है। और साधना तक वह मेरे गले में ही था यह मुझे पता है। साधना के समय मुझे स्प्ष्ट कल आभास हुआ दो बार की कोई मेरे कमरे में आया है। बहुत करीब से। एक बार किसी ने मेरे कमरे का डोर खोला। उसके कपड़े का रंग पीले रंग का था और उसके बाद मन्त्र करते समय मुझे अपने आस पास एक छाया दिखी। मन्त्र जाप करते समय एक समय ऐसा भी लगा कि मुझे गौद में किसी ने उठाया हो । क्योंकि वही दृश्य मुझे बन्द आंखों से दिख रहा था और उसी समय मेरा पूरा शरीर जैसे हवा में हो ऐसा महसूस भी हो रहा था। और उसके बाद जैसे आपको धरती पर कोई वापस रख देता है वैसा भी लगा। हालांकि मैं पूरे मन्त्र के प्रभाव में थी उस समय । थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि देवी अपने हाथ से मुझे इशारा कर रही हैं कि मैं अपना हाथ उनके हाथ में रखूं ।और मेरे ऐसा करने पर एक ठंडी सी ऊर्जा का अहसास मेरे हथेली के मद्य में हुआ। मुझे कल ऐसा भी महसूस हुआ कि किसी ने मेरे शरीर को एक दो बार हिलाया । मेरे हाथ की चोटी अंगुली भी ऐसा लग रहा था जैसे कोई पकड़ रहा हो। कल गुरुजी मन्त्र जाप के समय मैने आंतरिक रूप से प्रार्थना करि आपसे की मैं साधना सम्पन्न कर सकूं मुझे शक्ति दें। उसके बाद मुझे आप सफेद वस्त्रो में बहुत देर तक दिखाई देते रहे। फिर मुझे पूजा की चौकी पर गोल्डन रंग की चरण पादुका, रुद्राक्ष की माला और बहुत सारे श्री यंत्र रखे नजर आए जिनके आस पास छोटे छोटे गोल्डन रंग के नाग जैसे रखे हुए थे। वहां एक दीपक भी जल रहा था शायद क्योंकि बहुत प्रकाश दिख रहा था पास में। मुझे गोल्डन रंग के देवी के मन्त्र जैसे भी लिखे दिखे ।देवी कल विभिन्न रूपो में नजर आ रही थी । उन्होंने कल भी मेरे द्वारा दिये गए भोग को ,फूल माला को स्वीकार किया ,अपना वचन भी दिया। बल्कि कल पूरा दिन मेरे हर साधना के समय ही मुझे देवी अपना मुख दिखाती रहीं। कल हमारे घर के आस पास पूरा दिन भजन चले ,हर समय कभी गुलाब ,कभी मोगरे की महक आती रही। ढ़ोल की आवाज तो मुझे रह रहकर आ ही रही थी। रात में जब साधना के बाद उठी तो गुरुजी इतनी चिड़ियों की चहचहाट सुनाई दे रही थी जैसे मैं किसी पेड़ के पास हूँ और वहां अनगिनत चिड़िया बैठी हैं। मुझे बहुत जोर से एक बार किसी महिला की आवाज भी आई थी साधना के बीच। परन्तु क्या था वो ,याद नहीं। और ऐसा भी लग रहा था कि बहुत सारे लोग मेरे आस पास हैं जो बोल रहे हैं। साधना के अंत में शिवलिंग के श्रृंगार हुए बेहद सुंदर दर्शन भी हुए। मुझे अपने एक official वर्क में भी देवी ने कल दिन में सहायता भी वरदान करी । पूरी साधना को निर्विघ्नता प्रदान करने के लिए शिव गुरु ,शिवदूतो दिव्यांगना लोक और आपका कोटि कोटि आभार ।❤️❤️❤️❤️

साधना में कई बार दिव्य तेज सुगंध आती थी और हर क्षण किसी के साथ होने का अहसास होता रहा…… Shailendra,Ulhasnagar
07/07/2021 Ram Ram Guruji, aaj ki sadhana me kafi relax feel kar raha tha , sadhana me baithane ke pahle bahut sardi ho rahi thi aur tez chike aa rahi thi lag raha tha aaj mantra jap nahi ho sakega, fir Shiv Guru shivdooto. Aur guruji aapse sadhana nirvighn sampann karane ka aagrah kiya aur suruvat kiya thodi der me sare sharirik manshik rog gayab ho gaye Sadhana me kayi baar divya tez sugandh aati thi aur har chan kisike sath hone ka ahsas bana hua tha , kintu aankh kholne par khuch bhi nazar nahi aa raha tha, dinbhar divya urjao se ghira rahta hu Aapka koti koti dhanyawad guruji

साधना के दौरान माता लक्ष्मी के दर्शन हुए, माता के सिर पे मुकुट था, भगवान शिव गुरु के दर्शन हुए, बीच बीच में साधना कक्ष के बाहर से पायल की आवाज़ आ रही थी …………. आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
07/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुदेव शत शत प्रणाम 🌹🙏🙇🏻‍♂️🙏🙇🏻‍♂️🙏🌹 गुरुजी आपकी कृपा से आज की साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुई, साधना के दौरान माता लक्ष्मी के दर्शन हुए, माता के सिर पे मुकुट था, भगवान शिव गुरु के दर्शन हुए, बीच बीच में साधना कक्ष के बाहर से पायल की आवाज़ आ रही थी,गुरुदेव सदैव आपकी कृपा आशीर्वाद बना रहे,आपका बहुत बहुत धन्यवाद।
🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरु शरणं 🌹

मन्त्र जाप के साथ कभी-कभी एसा लगता था,मन्त्र की आवाज बिगड़ गई है जैसे कोई इठलाता है आवाज को बिगाड़ कर बोलता है,थोड़ा अजीब सा ……………… आशीष तंवर,पुन्हाना, हरियाणा ।
07/07/21 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति– राम राम आदरणीय श्री गुरुदेव 🥀🌹🌾💐🙏साधना निर्विघ्न संपन्न हुई।साधना में ज्यादतर चेतन ही रहा,नींद कम ही मह्सूस हुई।मन्त्र जाप के साथ कभी-कभी एसा लगता था,मन्त्र की आवाज बिगड़ गई है जैसे कोई इठलाता है आवाज को बिगाड़ कर बोलता है,थोड़ा अजीब सा। धन्यवाद आदरणीय श्री गुरुदेव।

देवी से हल्का सा जुड़ा महसूस हुआ………… Pawan Pandey
8 /7/ 2021 Ram Ram guruji subah 4:00 baje Sadhna karne baitha Devi se halka sa juda mahsus hua bich bich mein judaw mahsus hota Raha han margdarshan Karen guruji

गुरुदेव शरीर में बहुत खिचाओ हो रहा था ऊपर की तरफ बीच बीच में हिल रहा था ………… ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम🌹🙏🌹 रंभा अप्सरा साधना 7/7/21 साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुआ ।गुरुदेव शरीर में बहुत खिचाओ हो रहा था ऊपर की तरफ बीच बीच में हिल रहा था , डांसिंग 😊 अनाहत चक्र कभी तेज गति हो जा रही थी ऐसे रुक रुक कर होते ही रहा।🌹
शिव शरणं,गुरु शरणं

मंत्र जाप कर रहा था मुझे ऐसे लग रहा था कि मेरे चेहरे पर कोई ब्लीचिंग कर रहा है और मेरे कमरे में देवी मां की पैरों की घूमने की आवाज आ रही थी …………… हरविंदर सिंह देहरादून
शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को कोटि-कोटि प्रणाम अप्सरा साधना 7 जुलाई 2021 गुरुजी रात की अप्सरा साधना आनंद पूर्ण संपन्न हुई
शिव के दर्शन हुए वहां हिमालय पर्वत पर एक शिला पर बैठे हुए थे जब मैं मंत्र जाप कर रहा था मुझे ऐसे लग रहा था कि मेरे चेहरे पर कोई ब्लीचिंग कर रहा है और मेरे कमरे में देवी मां की पैरों की घूमने की आवाज आ रही थी और मेरे पैरों की तालियों से आग सी निकल रही थी
आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

घुंघरू की आवाज बहुत जोर जोर सुनाई दे रही चूड़ियों की भी आवाज आ रही और हंसने की भी सुनाई दे गुरुदेव साधना बहुत अच्छे से संपन्न हो रही है ……………….. भोलानाथ दिल्ली
7 जुलाई 2021 अप्सरा साधना शिव गुरु को राम-राम गुरु जी राम-राम शिव शरणम गुरुदेव 7 जुलाई की साधना आनंदपुर और संपन्न हुई साधना करते हैं समय ऐसा लग रहा था कि जैसे आप हमारे पास में बैठ कर हमसे मंत्र जाप करा रहे हो ऐसा ही पूरी साधना मैं ऐसा ही महसूस हो रहा था अप्सरा रंभा जी साधना करते समय कई बार आई और साधना कक्ष में आकाश घूम रहे थे उनके पैरों की आवाज सुनाई दे रही थी पूरी साधना में ऐसे ही हो रहा था साधना संपन्न होने के बाद मैं लेट गया उसके बाद घुंघरू की आवाज बहुत जोर जोर सुनाई दे रही चूड़ियों की भी आवाज आ रही और हंसने की भी सुनाई दे गुरुदेव साधना बहुत अच्छे से संपन्न हो रही है आपका आशीर्वाद और मार्गदर्शक सदा प्राप्त होता रहे गुरुदेव आपका बहुत-बहुत प्रणाम गुरुदेव शिव शरणम गुरु नानक

डेढ़ घंटे साधना होने के बाद ऐसा महसूस हुआ कोई मुझे टच किया और मेरी हाथों की चूड़ियां को टच करके हटाया गया. …………… Ranita Halder kolkata
7/7/2021, 🙏 Pranam Ram Ram Guruji 🙏🌸 Aj ki Rambha Apsara Sadhana ki Divya Anubhav 🙏🌸
Aj ki Head line 💗💗 creator 💗💗 एक शिल्पी जैसे बहुत शालीनता से निपुणता से लगन के साथ एक चित्र को अंकन करते हे, यह वो एक मूर्ति प्रस्तर खंड को खोद के उसके एक-एक अंग को निपुणता से बनाते हैं…. मूर्ति को रूप प्रदान करते हैं.. अगर वह कई सौंदर्या की प्रतिमूर्ति नारी हो तो कहना क्या 💗💗💗😊😊. रंभा अप्सरा साधना में देवी की चित्र, मूर्ति मेरे अंदर ऐसे ही क्रिएट हो रहा है 😊साधना के पहले दिन ही मैं “R” अल्फाबेट देखी थी. इसके बाद नेक्स्ट डे पे “A” M”अल्फाबेट उसके अगले दिन इसी तरह B आर “h”अल्फाबेट अभी तक देख चुकी हु. पहले मैं मन ही मन सोच रही थी ऐसा अक्सर मुझे क्यों दिखाई पड़ रही है. पर आप यह पहेली…..RAMBH(A)..😊 सुलझा के मुझे बहुत ही खुशी फील हो रही है. और शरीर के अंग के हिसाब से मुझे फर्स्ट के नाभि और पेट की अंगको दरसन हुई हे. इसके बाद सुन्दर सी आंखें, उसके अगले दिन नासिका और आज के अनुभव पर देविका सुंदर चंपक की कली जैसे अंगुली और हाथ को दर्शन हुआ है.🙏 मन में देवी को बहुत पहले ही दर्शन हो चुकी थी पर यह सब दर्शन मेरी मन अनाहत से आज्ञा चक्र की बीच का सफर में से हे.😊 आज मुझे सिर्फ 3 दिन हुआ मैं मेरी भावना हिंदी में लिख कर भेज पाने की. यह हिम्मत मुझे रम्भा अप्सरा साधना के बजाय से और गुरु जी की आशीर्वाद से सक्षम हुआ. रंभा अप्सरा को बहुत-बहुत आभार और धन्यवाद ज्ञापन करती हु. और मेरे पीछे मुझको इस लेवल पर आने के लिए जो…. शिल्पी क्रिएटर… है वह हमारा, हम सबकी प्यारी गुरुजी. आज गुरु जी को सिर्फ मैं धन्यवाद नहीं कहूंगी. यह कहना बहुत ही कम होगा… गुरुजी को बहुत-बहुत आभार… हार्ट से अनंत कोटी प्रेम श्रद्धा भालबासा ज्ञापन करती हूं. 💗💗💗🙏🌸 अब आती हु आज की अनुभव पर…….. 🙏पहले से मुझे अनुभव थोड़ी कम होने लगी है. पर एक विसय नोटिस की….. अनुभव की क्लेरिटी पहले से थोड़ी ज्यादा स्वच्छ हुआ है. आज साधना शुरू होते ही देवी माता की शेर की दर्शन हुई. इसके बाद ब्रह्मा जी के दर्शन हुए. उसके चार हाथ में एक हाथ में वेद और माला पकड़ी हुई थी मुझे दर्शन हुई. मैं नमन किया. मुझे कुछ कह रहे थे जो मुझे सुनाई नहीं दे रहा था. मैं आज की सिद्धि के लिए आशीर्वाद की प्रार्थना की, और ब्रह्म ज्ञान प्राप्त होने की प्रार्थना की.आज एनर्जी मेरी मूलाधार से होते हुई एक खींचा अनुवाब मोनीपुर की तरफ जा रही थी. मणिपुर चक्र एक बार बिलिंग करें. और माता महालक्ष्मी और साथ में नारायण जी की एक साथ दर्शन हुआ. इसके बाद फिर कीसन जी को बांसुरी बजाते हुए पीछे उसकी सफ़ेद गायी थी दर्शन हुई. एक बार हल्की झटका लागी. स्वाधिष्ठान चक्र पर हल्की हल्की ऊर्जा लगातार प्रवेश कर रही थी. एक गुदगुदी टाइप फीलिंग हो रही थी. साधना के बीच में दो एक बार हल्की डर जैसी लागी और मन में उलझन भी पैदा हुई थी. पूरी साधना कालीन समय पर सुंदर प्राकृतिक दृश्य दिखाई दे रही थी. और बीच-बीच में रेड रोज दिखाई पड़ रही थी.आज सिंगल रोज़ देखे दे रही थी. डेढ़ घंटे साधना होने के बाद ऐसा महसूस हुआ कोई मुझे टच किया और मेरी हाथों की चूड़ियां को टच करके हटाया गया. साधना की बिल्कुल एंड उसी समय मेरी पीछे से चूड़ियों की आवाज एक पल के लिए सुनाई पड़ी.सरीर में एक सिहरन महसूस करि . थोड़ी दर ही लागे. आज मेरी बॉडी से बहुत ही गर्मी उर्जा निकल रही थी मैं महसूस कर पा रही थी. साधना एंड होते ही मुझे बहुत ही नींद आ गई. राम-राम प्रणाम गुरु जी कृपा बनाए रखें. 🙏🙏🙏🌸🌸

अप्सरा साधना जुलाई 2021 – 06 जुलाई, 21

अप्सरा के दर्शन हुए मैंने कहा इलाइची आप के लिए मैंने भोग लगाकर रखी है उन्होंने कहा की आप अपने हाथो से खिलाओ जब मैंने अपना दाया हाट ऊपर किया तो मेरे हाथो में गर्माहट सी महसूस हुई …………….. अनुपम चक्रवर्ती, जबलपुर, Madhya Pradesh
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹date 6/07/21🌹🌹🌹🌹🌹🌹 🌹🌹 अनुभूति🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹आज रंभा अप्सरा देवी के दर्शन हुए आज मैंने उनसे कहा🙏यह इलाइची आप के लिए मैंने भोग लगाकर रखी है उन्होंने कहा की आप अपने हाथो से खिलाओ जब मैंने अपना दाया हाट ऊपर किया तो मेरे हाथो में गर्माहट सी महसूस हुई,आज ही नही जब से यह साधना शुरू हुईं मैं उन्हें रोज कह रहा हूं की आप मुझे प्रत्यक्ष रूप में देखे, आज उन्होंने कहा ले ajj मे तेरी यह इच्छा पूरी करती हु 18 से 19 साल की गोर रंग नीली आंखे चमकीला sa पोशाक पहनी हुई थी आज मुझे इमेजेस ढीखे जैसे कोई मेरे तरफ आकर बैठ गया हो, उन्होंने अपना हाथ मेरे हाथो मे रखा और वचन सात रहने का दिया, आज मेरे बिल्कुल मेरी बॉडी से टच कर के बाते कर रही थी ❤️ मानो कोई प्रमेकी करती हो मुझे एप्पल खिलाया और कहा यह वही है जो आपने पहले खिलाया थाना ish समय में मैसेज टाइप कर रहा हूं जैसे मुझे images ढेखाई दे रहा है वह मेरे बिस्तर मे मेरे बाजू मे है उनका मारमेरी सा कोमल sa touch mere 💐🌹 अंदर प्यार प्यार ❤️❤️❤️ भर दे रहा है अब मुझे गुरुजी के आर्शीवाद से रंभा देवी के प्रतक्षीकरण के नज़दीक हु आज जब आई मेरे पास तो मुझे एक झटका सा लगा मेरे बॉडी में 😀 लगा 🙏🙏🙏👣🙏🌹💐shivsaranam

मंत्र जाप सुरु करते ही मन में बहुत ख़ुशी हो रही थी, माँ के दर्शन हुए………….. Urmila Somani Parbhani Maharashtra
5 July 2021 Ram Ram Guruji Pranaam Mantra jaap shuru karte hi mann me bahot khushi ho rahi thi.. Bahot पसीना aa raha tha aur thodi der baad thandi hawa aa rahi thi ,ye cycle 2 hrs tak chalta raha… Mai खेतों me पगदंङी se jaa rahi hu,dono side हरे हरे khet the ,रास्ते में 4-5 साधु najar aaye, mai jis taraf jaa rahi thi uss aur dur se बहोत पुराना वृक्ष dikha..
Maa ke darshan hue, maa ki काली मूर्ति dikhi aur सोने ke jewelry पहननी थी.. Bahot bahot dhanyawaad guruji

साधना सामान्य रूप से निर्विघ्न सम्पन्न हुई …………. आशीष तंवर ,पुन्हाना,हरियाणा।
05/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति- राम राम आदरणीय श्री गुरुदेव 🙏🥀🌹🌾💐साधना सामान्य रूप से निर्विघ्न सम्पन्न हुई।धन्यवाद गुरुदेव।कुछ विशेष अनुभूति नही हुई।हाँ,पहले की अपेक्षा थोड़ी सहजता से साधना कर पाया।कृपया मार्गदर्शन करे।🙏🙏

साधना आनंद पूर्वक संपन्न हुई, शरीर में पीछे से खिचाव था…………… sunita devi, samastipur bihar
5/07/2021 🌹🌹🙏🙏⚘🌷🌺💐💐ram ram guru ji apsara sandhana k divy anbhuti 10:30 se mantr chalu ki or sndhana aanad puravak achhe se ho rahi thi 😊sarir me piche se khichaw ho rahi thi kal raat me jayada anbhuti nahi hui guru apna kripya sadaiv bnaye rakhe 🌹love you ❤🌺guru ji shiv sarnam,guru 🌺🌷🌷⚘⚘saranam ❤🌹🌹

ऐसा लगा की किसी ने गुलाब के फूल आभामंडल में डाल रहे है………. Pawan
6 july 2021 Ram Ram guruji subah 4:00 baje ke lagbhag Sadhna karne baithaAisa Laga Jaise kisi ne gulab ke phool kafi mere Abha mandal mein dal rahe hain Sadhna karte samay guruji sharir hilne Laga kuchh samay ke bad band Ho Gaya

एक समय मे मुझे ऐसा लगा जैसे किसी ने मेरे हॉथो को कस के पकड़ रखा है और मेरे साथ किसी का आभामण्डल जैसे मेरे गोद में ही बैठा हो ………….. नीरजा
राम राम गुरुजी। अद्भुत अप्सरा साधना के लिए ह्रदय से पुनः आभार। कल की साधना भी आपके आशीर्वाद से अच्छी रही। हालांकि कल बीच बीच में साधना के मुझे बहुत उलझन सी हो रही थी। किन्तु आपके आशीर्वाद से सब अच्छा रहा। मेरे आग्रह पर देवी कल भी आई ,भोग स्वीकार किया और फूलों की माला भी पहनी। कल देवी ने भी मोगरे के फूलों की ही माला से श्रृंगार किया हुआ था। मैंने अनुभव किया है कि इस साधना के शुरू से लेकर मेरे मन की छोटी सी इच्छा भी पूरी हो रही हैं। कल मेरी यह बहुत इच्छा थी कि मैं मोगरे की माला देवी को अर्पित करु ।lockdown के कारण आजकल फूल वाले इतने नही बैठ रहे तो मुझे सन्देह था कि कैसे मिलेगी। मैने सुबह ही मन से देवी से निवेदन किया कि इसमें मेरी सहायता करें और गुरुजी शाम को मेरे भाई को सुंदर सी मोगरे की माला फूल वाले के पास मिल गयी। इसी तरह जब शाम को दान देने जाती हूँ ,तब भी मुझे सहायता मिलती है क्योंकि आजकल कोई लोग आसानी से दान लेते नही हैं। कल तो बल्कि देवी ने मुझे एकदम से बोला कि जायो दान देकर आयो । और घर से मेरे बाहर ही एक स्त्री मिली जिसने प्रेम से मेरे दिए भोजन को ग्रहण कर लिया। कल साधना के समय मुझे दो देव् स्त्रियां दिखी जो मन्त्र जाप करते हुए दिख रही थी। कल भी साधना के समय घर में धम्म धम्म की आवाज आ रही थी। एक बार ढ़ोल बजने जैसी भी आवाज आई। चूड़ी खनकने की भी ,पर वह बहुत हलकी थी। फिर गुरुजी मन्त्र जाप करते समय मुझे” ग” अक्षर दिखा लाल रंग से लिखा हुआ। उसके बाद मैं मन्त्र जाप में ही खो गयी। एक समय मे मुझे ऐसा लगा जैसे किसी ने मेरे हॉथो को कस के पकड़ रखा है और मेरे साथ किसी का आभामण्डल जैसे मेरे गोद में ही बैठा हो। बहुत समय के बाद मेरी तन्द्रा टूटी । लगभग साधना समाप्त ही हो रही थी उस समय। साधना समाप्ति से पहले देवी ने सुंदर अलंकार ,आभूषण पहने ,सफेद पौशाक पहने वॉर मोगरे की माला धारण करे हुए मुझे अपने दर्शन दिए ,अपना वचन दिया ।💓💓💓💓 गुरुजी यह मेरे जीवन की इतनी बड़ी,अद्वितीय साधना है जिसके बारे में मैने सोचा भी नहीं था। अगर आप हमारे साथ न हो ,तो सच में यह सिद्ध करना तो दूर हम इसमें एक कदम भी नहीं चल सकते। 🙏🙏🙏

मन में प्रसन्नता प्रेम करुणा भर्ती जा रही थी जो अब भी कायम है धम धम आवाजें आ रही थी। ………….. अनुराधा ऋषिकेश
दिनांक 6 जुलाई 2021 साधना का पांचवा दिन गुरु जी राम राम
आपका दिल से आभार आप के बिन हम अधूरे से अनाथ से हैं
आपकी ही छत्र छाया है जो हम संरक्षित है गुरु वार जल 10.20pm पे साधना शुरू की अक्सर रात को इतनी थकान हो जाती है कि साधना के समय leg position बार बार बदलनी पड़ती है परंतु जल एक ही स्थिति में बैठी रही
बीच में अपने आस पास किसीi की उपस्थिति जा आभास बार बार हो रहा था अचानक शरीर भारी हो गया कुछ होश नही था
काफी देर यही स्थिति रही गिर एकदम से कूदी के तेजी से छीक जैसी आवाज आई एक दम से दर गई कल लग रहा था की और जाप करना है
मन में प्रसन्नता प्रेम करुणा भर्ती जा रही थी जो अब भी कायम है धम धम आवाजें आ रही थी
जप पूरा हुआ आंखें खोली तो इलायची क टोरी से बाहा थी जबकि मेरा हाथ भी कही लगा था
स्पेशल sa। फील ही रहा है कृपा गुरु गुरु कृपा से बड़ा न कोय 🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼दिल से❤️

ऐसा लगा की देवी मेरे साथ बैठ कर मंत्र जाप कर रही है………….. sunita devi, samastipur bihar
7/07202🌹ram🙏🌹🌺 ram guru ji 10:30 baje se apsara sadhna chalu ki guru ji aapke hi aawaj se mantr chalu ki or guru ji sarir me aisa legata hai ki devi mere saath baith ke mantr jaap kar rahi hai 😊man bahut prsan thi kuch der ke baad aisa mahsus hua ki shiv bhole maa parvati 🙏asirwad diye or chale gaye or fir mahsus hua vishnu baghawan or Mata maha Lakshmi dono sath aasirwad deke chale gye or mahsus hua ki rath par surj bghawan aaye or aasirwad🙏 deke chale gye🌹aisa laga ki ganga maa aayi or upar se jal chirak rahi thi❤ or bahut se rishi muni aaye or wo bhi aasirwad deke chale gye guru ji anbhuti etana hi hui aap mughape sadaiv kripya barsaate rahiye🙏❤love you😍🙏 guru ji 🌹🌷 ram ram guru ji aapka koti koti dhanywad 💐🌹🌷🌻🥰shiv Sharnam guru Sharnam 🙏

साधना करते समय देवी बीच-बीच में उनकी उपस्थिति का आभास हो रहा था और कमरे में सुगंध बहुत अच्छी आ रही थी दो तीन बार घुंघरू की आवाज खूब जोर जोर सुनाई दे रही थी …………..भोलानाथ दिल्ली
6 जुलाई 2021 अप्सरा साधना शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को राम राम शिव शरणम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से आज की भी साधना बहुत अच्छे से हुई गुरुदेव साधना करते समय देवी बीच-बीच में उनकी उपस्थिति का आभास हो रहा था और कमरे में सुगंध बहुत अच्छी आ रही थी दो तीन बार घुंघरू की आवाज खूब जोर जोर सुनाई दे रही थी उसके कुछ देर बाद बोलने की आवाज सुनाई दे रही थी देवी जब आती थी साधना कक्ष का फर्श वाइब्रेशन करने लगता था और धम धम की आवाज साधना कक्ष में आ रही थी कई बार तो ऐसे ही डरावनी आवाज सुनाई दे रही थी पर गुरुदेव आपके आशीर्वाद से मैं तनीक भी विचलित नहीं हुआ और मैं ना मनोबल और बढ़ता ही जा रहा था क्योंकि गुरुदेव मैं आपका स्मरण कर रहा था और भगवान शिव का भी अपमान किया और देव साधना बहुत ही आनंद पूर्वक हो रही है आपका आशीर्वाद सदा सर्वदा बना रहे गुरुदेव आपका बहुत-बहुत धन्यवाद शिव शरणम गुरु शरणम

वे कभी मेरा नाम लेती तो कभी मेरे साथ मंत्र जपति, बीच बीच में ऐसा लगता की साधना कक्ष के बाहर से पायल की आवाज़ आ रही है, देवी रूम में घूम रही हो ऐसा आभास हो रहा था ………..आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
06/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम🌹🙏🙇🏻‍♂️🙏🌹गुरुदेव आपकी आशीर्वाद से आज की साधना आनंद पूर्वक संपन्न हुई, मंत्र जप शुरू करते ही देवी की उपस्तिथि महसूस होने लगी, वे कभी मेरा नाम लेती तो कभी मेरे साथ मंत्र जपति, बीच बीच में ऐसा लगता की साधना कक्ष के बाहर से पायल की आवाज़ आ रही है, देवी रूम में घूम रही हो ऐसा आभास हो रहा था। बीच बीच में बहुत तेज़ गुलाब की खुशबू आ रही थी। आपका बहुत बहुत धन्यवाद गुरुदेव, सदैव अपनी कृपा आशीर्वाद बनाएं रखें।
🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरु शरणं 🌹

मेरा शरीर ऊपर खींचने लगा धड़कन तेज सांसे तेज और उसी में खुशबू तेज आ रही थीं ………..ममता पंडित ग्वालियर
6 जुलाई 2021 राम राम गुरुजी कोटी कोटी प्रणाम 🙏 गुरुजी कल देवी रंभा अप्सरा साधना अनुभूति गुरुजी साधना सुरु किया Kabhi देर बाद मेरा शरीर ऊपर खींचने लगा धड़कन तेज सांसे तेज और उसी में खुशबू तेज आ रही थीं, ऐसी स्थिति रुक रुक कर बनी रही बीच में कुछ अलग सी खुशबू भी आ रही थीं पर खुशबू पकड़ nhi पाई साधना बहुत ही अच्छा था गुरुदेव मन बहुत संत्तुष थी
Dhanyebad गुरुजी 6/07/21

देवी की बार-बार उपस्थित होती रही कमरे में गुलाब की खुशबू बहुत अच्छे से आ रही थी ……….. हरविंदर सिंह देहरादून
शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को कोटि-कोटि प्रणाम 6 जुलाई 2021 अप्सरा साधना गुरुजी रात की अप्सरा साधना आनंदपुर संपन्न हुई
देवी की बार-बार उपस्थित होती रही कमरे में गुलाब की खुशबू बहुत अच्छे से आ रही थी और मेरे सौभाग्य चक् सौर ऊर्जा ओं का बहुत अच्छा प्रभाव बना रहा और ठंडी ठंडी हवा बहुत तेजी से चलती रही
आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

साधना रूम में सोने से पहले ही जैसे देवी वहां पर उपस्थित थे. सोने की साथ ही साथ देवी आया देवी को मेरे बिस्तर पर मेरे साथ सोने के लिए आमंत्रण किया. हाथों से आभामंडल को छूने की कोशिश कर रही थी. आभामंडल हाथ में तच हुई. ………Ranita Halder, kolkata
6/7/201, Apsara Sadhana k Divya Anubhav 🙏🌸 🙏 Pranam Ram Ram Guruji 🙏🌸💗 स्वाधिष्ठान चक्र के अंदर और उसके चारों ओर जलन जैसी दर्द की वजह से आज दिन में बहुत ही दुर्बलता फील हो रही थी. साधना पर बैठना जैसे मुश्किल लग रहा था पर जैसे जैसे ही साधना के समय नजदीक आने लगी मेरी शरीर की थकावट दूर होते चले गई. बहुत ही रीलैक्स फील कर रही थी. और आराम से आज दिन की साधना सम्पूर्ण की. आज देवी को वाइट ड्रेस पहनी हुई पहाड़ झरने के पास एक सुंदर सी प्राकृतिक जगह पर दिखाई पड़ी. आज देवी पहली बार मुझे अपनी दिव्य दर्शन देकर कृतार्थ करें🙏 देवी ने मुस्कुराते हुए देख रही थी. देवी की सुंदर सी हंसी और सुंदर सी मुख मंडल और भी बहुत ही सुंदर दिब्या लग रही थी. इससे पहले देवी ने दर्शन दिए थे पर मैं उनकी मुख्यमंडल नहीं देख पाई थी. देवी की सुंदरता चंचल सी अदाएं सुंदर प्रकृति को और भी सुंदर मनमोहक आकर्षक कर रहे थे. जैसे सुंदर फूलों में तितलियों को मंडराना. ऐसा महसूस हो रहा था कुछ शरारती अदाओं से मुस्कुराते हुए मुझे देख रहे थे देवी जैसे कह रही है इतने दिन से मुझे देखने के लिए इतना बेताब हो तो चलो आज तुम्हें दिखाई दे रही हु. आज देवी ने पिछले दिन से अलग ही केश विञ्ञास करे ैथी. बहुत सारी ज्वेलरी पहन के साज के आए थे. इसके बाद मुझे एक सुंदर सी मोतियों का ज्वेलरी सेट दिखाई दी. और साथ में मैचिंग साड़ी ब्लाउज की सेट दिखाई दी. इतनी महंगी सेठ को देख कर मैं खुद अस्चर्या huya. साड़ी के बॉर्डर पे सिल्वर जड़ी वर्क और ब्लाउज जो देखे मेरी आंखें खुली की खुली रह गय. पूरी ब्लाउज वाइट सिल्वर जैसी आकृति ब्लाउज में डायमंड स्टोन से वरि हुई थी जिस कारन पूरी ब्लाउज चमक रही थी. इसके बाद ढेर सारी पिंक गुलाब की गुच्चो दिखाई पड़ी. जैसे देवी ने मुझे खुश होकर ऐसा गिफ्ट कर रही है. आज की मंत्र जाप के दौरान देवी ने मेरी राइट हैंड अपने हाथों से ले रखी थी. आज पहली बार देवी से आज्ञा लेकर देवी की आभामंडल को अनुभव करने की कोशिश करि. मेरी हाथों में देवी की आह मंडल अनुभव हो रहे थे. एक पल के लिए आसमान पर बहुत ही बड़ी स्वर्ण मुकुट जैसे कुछ नजर आया. एक सेकेंड के लिए दिखाई दी और गायब हो गई. पर उसकी गोल्ड चमकीले रूप को मई स्पॉट रूप से देख पाई. मंत्र जाप के दौरान मुझे दो एक बार नकारात्मक विचार और डरावनी चाहरे, वेड़िया जैसे चेहरे दिखाई पड़े.तवि बहुत सारी पिंक रोज की गुच्छे दिखाई पड़ रही थी. जैसे देवी ने कह रही है तुम्हें डरने की जरूरत नहीं है मैं तुम्हारे साथ हूं. मेरी प्यार तुम्हारे साथ है. आज पूरी साधना काल में रह रह के दो तीन बार त्रिशूल नजर आए. जैसे शिवलिंग पूजा हो रही है उसके पास त्रिशूल खाड़ी है ऐसा नजर आया. आज आज्ञा चक्र पर देवी की लाइट की रेखा दिखाई पड़ रही थी. तभी ऊर्जा ज्यादा महसूस हुआ और एक पल के लिए वोमिटिंग जैसी फीलिंग हुआ. साधना रूम में सोने से पहले ही जैसे देवी वहां पर उपस्थित थे. सोने की साथ ही साथ देवी आया देवी को मेरे बिस्तर पर मेरे साथ सोने के लिए आमंत्रण किया. हाथों से आभामंडल को छूने की कोशिश कर रही थी. आभामंडल हाथ में तच हुई. पर मेरी माथा की और और किसी का भी आभामंडल का एहसास हो रही थी. ठीक से समझ नहीं पा रही थी इसलिए हल्की दर जैसी लग रही थी. उसके बाद मेरे उपचार होना शुरू हुआ मेरी स्वाधिस्ठान चक्र मेरे पैरों को उपचार किया गया. मेरे पेट के निचले हिस्से और कमर तक ऊर्जा से भारी हो गया फिर धीरे-धीरे वहां पर दर्द कम हुआ. उहा एक हल्का पन महसूस हो रहा था. आज दर्द बहुत ही काम हे. में ख़ुश हो गई. राम राम प्रणाम धन्यवाद गुरूजी 🙏🙏🙏💗💗💗

अप्सरा साधना राम राम गुरु जी गुरु जी आपके आशीर्वाद से आज की साधना बहुत ही आनंद पूर्वक सम्पन्न हुआ। ………..सुशील कुमार , सीतामढ़ी, बिहार
06,07,2021 अप्सरा साधना राम राम गुरु जी गुरु जी आपके आशीर्वाद से आज की साधना बहुत ही आनंद पूर्वक सम्पन्न हुआ।साधना करते समय देवी बीच बीच में उनकी उपस्थिति का अहसास हो रहा था कमरें के बाहर तीन चार बार घुघरू,पायल की आवाज खूब जोड़ से सुनाई दे रहा था।साधना के समय देवी मेरे पीछे खड़ी थी।कई बार तो डरावनी हरकत सुनाई दी।लेकिन गुरुदेव आपके आशीर्वाद से साधना को पूर्ण किया। गुरुदेव आपका बहुत बहुत धन्यवाद शिव शरणम।गुरू शरणम।

अप्सरा साधना जुलाई 2021 – 05 जुलाई, 21

मेरे सोने के साथ ही साथ देवी रम्भा आ गई, देवी का स्वागत किया. मेरे साथ ही सोने के लिए प्रार्थना की और मेरी हाथों में हाथ रखने के लिए इच्छा जताई. देवी मेरी राइट हैंड पर अपने हाथ राखी. …………….. Ranita Halder , kolkata
5/7/2021, Apsara Sadhana k Divya Anubhav…. Ranita Halder, kolkata 🙏 Pranam Ram Ram Guruji 🙏🌸 आराधना आज साधना शुरू होते ही अनुभव हुआ मूलाधार चक्र से एक घनी ऊर्जा कमर की तरफ उठ रही है. पूरी मंत्र जप के द्वारा बहुत ही एनर्जी फील कर रही थी. माथे के अंदर भी एनर्जी धीमी धीमी प्रवेश कर रही थी. माथे की नाथों के अंदर हालकी सी चुभन जैसी दो एक बार दर्द हुई. सारे ऊर्जा मेरी आज्ञा चक्र सहित पूरे माथा पर छा गई थी. आज देवी को वाइट ड्रेस पहनी हुई नमन रतों मुद्रा में दर्शन हुई. देवी को देखने के लिए बार-बार में मन ही मन में आग्रह कर रही थी इसलिए मेरी आज्ञा चक्र पे एक घनी उर्जा से देवी की अबयब सेकंड में दिखाई दी और गायब हो गई. आज मेरी शरीर बहुत ही दुख रही थी. स्वाधिस्ठान चक्र की आस पास ज्वलन जैसी दर्द हो रही थी. मैं एक जगह ठीक से नहीं बैठ पा रही थी. बार-बार पैरों को हटा रही थी. मैं आंख बंद किये जाप कर रही थी. बीच-बीच में ऐसा महसूस हो रहे थे देवी ने मेरी हाथ को टच कर रही है. डेढ़ घंटे बाद जब मेरी आंखें एक पल के लिए खुली तब मैंने हैरान होकर देखी मेरी फेस उत्तर दिशा से घूम कर देवी की आसन के तरफ मुड़ गई है. कब मैंने पूरी दिशा बदल कर चुकी थी मैं समझ नहीं पाई. मैं आश्चर्य हो गई. उसी समय जब मेरी आंखें बंद थी तब देवी ने मुझे मेरी दोनों हाथों को बारीकी से टच कर रही थी मेरी कलाई पर हल्की हल्की एनर्जी से पेन हो रही थी.सईद मेरी दोनों हाथ को देवी ने अपने हाथ पर रखी हुई थी और मैं मन ही मन देवी से बचन मांगने लगी.साधना समाप्त होते ही उसी आसन पर ही लेट गई शरीर बहुत ही दुख रही थी. तभी ही जगत जननी माता महाकाली ने मुझे आशीर्वाद प्रदान की. माता की राइट हैंड शक्तिपात मुद्रा पर मेरी तरफ झुक गई. माता की काली वर्ण मुझे बहुत ही प्यारी लगती है. सोने की कंगन ढेर सारी सोने की चुरिया पहनी हुई माता की सुडोल काली हस्त रक्तिम हथेली, हथेली पे शक्तिपात मुद्रा….. आशीर्वाद मुद्रा हाथ मेरी तरफ झुक गई. मेरे मन में एक शांति सुकून छा गई. रात में मैं साधना रूम में सोए हुई थी. मेरे सोने के साथ ही साथ देवी रम्भा आ गई. मैं कुछ हालकी नींद में गई थी पर मैं समझ गई तुरंत ही मैं नींद से जागा और देवी का स्वागत किया. मेरे साथ ही सोने के लिए प्रार्थना की और मेरी हाथों में हाथ रखने के लिए इच्छा जताई. देवी मेरी राइट हैंड पर अपने हाथ राखी. राइट हैंड में हैवी ऊर्जा अनुभव कर पा रही थी. मुझे बहुत ही अच्छी लग रही थी. मेरी लेफ्ट हैंड से भी वह ऊर्जा महसूस करने की कोशिश की मुझे बहुत ही खुशी हो रही थी. मैं जमीन पर एक चादर और एक पतली कंबल ओढ़ के सो रही थी. देवी ने मुझे एक सुंदर सी पलंक दिखाएं बहुत ही बहुत ही सुंदर मेहेंगी wood work जो राजघराने की होता हे, उसके ऊपर मोटा godi बिछाया हुआ. मखमल सी कपड़े से बनाई हुई दो सुंदर सी तकिया दिखाई दे रही थी. मैंने देवी से आग्रह किया….. हे देवी जब शरीर की पीड़ा इतनी हो तो यह सुख किस काम की … हो सके तो हे देवी मेरी अच्छी सेहत प्रदान करने की कृपा करें. और कुछ देर तक जगी रही.मन ही मन देवी से बहुत सारी बातचीत करि , और फिर सो गई. राम राम प्रणाम, बहुत सरे प्रेम गुरूजी🙏धन्यवाद 🙏💗💗💗

आज साधना में अनाहत चक्र के उपर बायाँ हिस्सा में बहुत देर तक स्पन्दन हुआ है, उर्जा के उर्धगामी प्रवाह का भी अनुभव हुआ है …………. नटराज हाजं, मेघालय
राम राम गुरुजी, रम्भा अप्सरा साधना के दिव्य अनुभूति :: Dt. 04/07/2021, सौन्दर्य की देवी रम्भा अप्सरा साधना के तिसरा दिन आनन्द पूर्वक साधना सम्पन्न हुआ है॥ आज साधना में अनाहत चक्र के उपर बायाँ हिस्सा में बहुत देर तक स्पन्दन हुआ है॥ उर्जा के उर्धगामी प्रवाह का भी अनुभव हुआ है॥ गुरुजी के श्री चरणों में कोटि कोटि प्रणाम है॥

साधना में गुलाब के फूल के बगीचे दिखाई दिए……… Pawan Pandey
5 July 2021 subah 4:00 baje Sadhna karne baitha hun aaj ke Anubhav Pawan Pandey Ram Ram guruji aaj ki apsra Sadhna mein mujhe gulab ke phool ke bagiche dikhai diye bad mein Aisa Laga ki bahut sare gulab ke phool mere andar Sama Gaye

रम्भा अप्सरा ने कहा मैं आ गयी हूँ, मैंने उन्हें दूध ग्रहण करने के लिए दिया…… Manda Zore, Mumbai
Ram Ram Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 04/07/21 Aaj sadhna me shiv Guruji ki badi murti blue colour me dekhi. Koi pas akar baitha hai ye abhas hota raha. Back third eye chakra me bahot sukhad urjaye feel kar rahi thi lagbhag 15 mnt tk. rambha apsara Ji kehne lage mai aa gae hu. Maine unhe doodh grahan karne k liye kaha. Kyunki kl unhone doodh k liye kaha tha. Unhone doodh grahan kiya. Khush huye. Mumbai k mata mahalakshmi k baju ka samundar dikha waha golden colour ki jalpari dikhi. Bar bar dhyanasth hoti thi aur halke zatke 3 bar lage. Aur 4thi bar current jaisa zatka laga. Ek bar left hand ko chhuvan mehsus hue. Kl maine aise feel kiya jaise maine kesar ki kajukatri kha li uski sugandh aur taste bhi feel kar rahi thi. Aur ek dusri mithae khae pr WO mithi thi pr wo konsi mithae hai Samjh nahi aaya. Gulab ki itra ki sugandh aa rahi thi. Bahot sukhad urjaye aur khushi feel kar rahi thi. Kbhi dar bhi lage to recording ke jariye aap ke hone ka ehsas hota hai. Bahot bahot dhanyawad Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 Shiv Sharanam🙏🏻🌹🙏🏻

साधना करते समय अप्सरा मेरे बगल में आ कर खड़ी थीं। ……………… सुशील कुमार, बिहार
05 जुलाई 2021 अप्सरा साधना शिव गुरु को राम राम गुरु जी को राम राम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से अप्सरा साधना आनंद पूर्वक सम्पन हुई साधना करते समय मेरे बगल में आ कर खड़ी थीं।अचानक ठण्डी ठंडी हवाएं चलने लगी।साधना के समय अचानक से मन मे खुशी की लहर दौड़ने लगी अपने आप मुझे हँसी लग रहा था। गुरुदेव आपको बहुत बहुत धन्यवाद।शिव शरणम

साधना अच्छे से हुई लगातार मंत्र जप होता रहा ……….. अनुराधा ऋषिकेश
दिनांक 5 जुलाई 2021 चौथे दिन की अनुभूति राम राम गुरु जी साधना अच्छे से हुई लगातार मंत्र जप होता रहा अनुभूति नहीं हो पाई

देवी ने कई बार मुझे मेरा नाम लेकर पुकारा …………. आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
05/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुजी कोटी कोटी प्रणाम🙇🏻‍♂️🙏🌹🙏🙇🏻‍♂️गुरुजी आपकी कृपा से आज की साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुई,मंत्र जप शुरू करते ही देवी के उपस्तिथि महसूस होने लगी, वे भी मेरे साथ मंत्र जपती है,ऐसा मुझे हर दिन महसूस हुआ, आज भी हुआ, मन बहुत प्रसन्न उत्साहित हो गया, सृहन भी हो रही थी,देवी ने कई बार मुझे मेरा नाम लेकर पुकारा, बीच बीच में तेज़ हवाओं का झोका सामने से आता, हल्की हल्की ठंडक भी लग रही थी।आज भगवान शिव और माता महेश्वरी के दर्शन हुए,बहुत प्रसन्न हो रहे थे मेरेको देखकर,शिव गुरु का डमरू भी दिखा, देवी मेरा पीतांबरी पकड़ के हिला रही थी, उनका स्पर्श हांथ पर बहुत देर तक फील हुआ,बीच बीच में पायल की आवाज़ सुनाई दे रही थी।एक समय इलाइची और गुलाब की बहुत तेज़ खुशबू आई। साधना रात के 10:15 से लेकर 12:15 पे संपन्न हुआ,गुरुदेव आज तो समय का पता ही नहीं चला, वक्त बहुत तेज़ी से गुज़र गया ऐसा लगा। गुरुदेव कृपा आशीर्वाद सदैव बनाएं रखे, अनंत कोटि धनवाद गुरुदेव। 🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरु शरणं 🌹

पूरे कमरे में कोई चल रहा हो, कोई एक दम से मेरे सामने खड़ा था ……….. ANUPAM CHAKRABORTY, JABALPUR
date 5/07/21 ❤️❤️ ❤️🕉️🕉️🕉️ अनुभूति आज 11: 30 PM पर चालू किया था मैं इतना रिलैक्स्ड हो गाया था की 2:30 am पर स्मपाप्त किया बॉडी हल्की अंदर एक दिव्य ज्योत से देखी जब भी मैं सोने गया ऐसा लगा किसी ने मेरी बॉडी को जकड़ लिया 3:34am की बात है ऐसा लगा की पूरे कमरे में कोई चल रहा हो, कोई एक दम से मेरे सामने खड़ा था मुझे बहुत घोर से देख रही थी घुटने तक ड्रेस पहनी थी चमकदार बहुत रूपवान थी अनाहद चक्र ,आज्ञा चक्र जबरदस्त प्रेशर था किसी unknown place में एक शिवलिंग के दर्शन हुए, कभी कभी जाप के दौरान मैं इतना खो जाता था की वह कहती में आ चुकी हुं तब समाज में आया की देवी आ चुकी है कल ऐसा फील हो रहा था की और अधिक से अधिक जाप करू कभी कभी हल्की जबकिया लगती आनंदपूर्वक सड़ हां समापप्त हुई💐💐💐💐💐💐💐💐💐shivsaranam

साधना खुशी प्रदान करने वाली रही……… Shailendra, Ulhasnagar
05/07/2021 Ram Ram Guruji Aaj ki sadhana alhaddayak, anandpurn, khushi pradan karane wali rahi dhanyawad guruji

मैने अपनी आकषर्ण कारी उर्जायें ,सम्मोहन करने वाली तुम्हारे अंदर स्थापित कर दी हैं, जिससे तुम आकर्षक वस्तु को अपनी और खिंचोगी …………………… नीरजा।
राम राम गुरुजी। अद्भुत प्रेम से भरी कल रात की साधना के लिए आपको हृदय से धन्यवाद। कल पूरा दिन सुबह से लेकर रात तक हमारे घर के आस पास से कभी भजन,कभी music की आवाजें आती रही। बीच बीच में तो मुझे ऐसा भी लग रहा था कि ढोल जैसे बज रहा हो दूर । मैं पूरा दिन एक गुदगुदी सी महसूस करती रही अपने अंदर रात की साधना के लिए । मैं सुबह होते ही रात के इन स्वर्णिम 2 घण्टो का इंतजार करती हूँ आजकल जैसे कोई प्रेयसी इंतजार करती है। इस साधना ने ईश्वर के प्रति मेरी आस्था और विश्वास को नया मोड़ दिया है।सक्षम गुरुओं का साधनायो में साथ कितना आवश्यक है यह भी मुझे इसी साधना में महसूस हो रहा है। कल भी साधना शुरू होने पर आग्रह करते ही देवी उपस्थित हो गयी। और उन्होंने बोला कि नीरजा मैं आ गयी। मैने अपना नाम सुनकर आश्यर्च प्रकट किया तो वह बोली कि तुम्हे कल सखी बोला है ।फिर उन्हें मैने इलायची ,माला को स्वीकारने का आग्रह किया। तो उन्होंने मुझे स्वयम इलायची खिलाने को बोला। गुरुजी जैसे ही मैंने पात्र उठाकर उस दिशा में किया तो वाकई पात्र इतना भारी हो गया जैसे किसी ने उसे ऊपर खींच लिया। फिर मेरी सफेद पुष्प की माला पर उन्होंने हाथ रखा,तथास्तु बोला और उन्हें पहनाने को बोला ,पुनः से मेरे हॉथो के बीच में आभामण्डल जैसे लगा ।फिर उन्होंने बोला कि अब यह माला तुम पहनो मुझे अच्छा लगेगा। जब मैने उनसे वही वचन मांगा जो 3 दिन से बोल रही थी तो वह बोली कि अप्सराओ का एक बार दिया हुआ वचन ही कभी भंग नही करती ,तुम्हे मैने 3 दिन दिया है। इसलिए निश्चिन्त रहो।उन्होंने बोला कि यह सुगन्ध ,फूल जो तुमने मेरे स्वागत के लिए तैयार किये हैं ,वह सभी तुम्हारे ही जीवन में मैं फैलाने वाली हूँ। परसो उन्होंने बोला था कि तुम्हारे अंदर मैं इतना प्रेम भर दूँगी की तुम उससे छलकने लगोगी ।जो कोई तुमहारे पास आएगा वह भी भर जाएगा प्रेम से ❤️❤️। कल देवी मेरे बिस्तर के उस तरफ बैठी जहां मैं अधिकतर बैठी रहती हूं। फिर पुनः जब मेरे सामने बैठी तो कल मैने उनसे उनके परिवार के बारे में पूछा,स्वर्गलोक के बारे में पूछा । तो उन्होंने बताया कि स्वर्ग में सभी वर्गीकरण के आधार पर रहते हैं। सभी एक दूसरे का सम्मान करते हैं । वह स्वयम राजा इंद्र की सभा की सुंदर अप्सराओ में से एक हैं। एक उन्होंने देवई सुरसुन्दरी अप्सरा के बारे में नाम लिया कि वह बहुत सुंदर हैं। सौंदर्य के साथ ज्ञान भी देती हैं। उन्होंने बताया पूण्य कर्मो के कारण स्वर्ग में सकरात्मक उर्जा भरपूर है,जिससे सभी उसे भोजन के रूप में हर क्षण ग्रहण करते हैं। जिसके लिए जो आवश्यक होता है वह ऊर्जा स्वयम ही समी पूर्ति कर देती है। उन्होंने बोला कि हम सभी के कार्य बंटे हुए है। जब यह सब वह मुझे बता रही थी गुरुजी तो हमारे घर की छत पर जोर जोर से धम्म धम्म की आवाज आती रही। उसके बाद पुनः वह मेरे बिस्तर पर बैठ गयी और थोड़ी देर तक मुझे न दिखाई दी ,न कुछ सुनाई दिया। बस मन्त्र जाप करती रही मैं। फिर थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे आवाज लगाई नीरजा इधर आयो। मेरे बिस्तर पर बैठी थी वो। मैने पर अपना आसन नहीं छोड़ा । उसके बाद वह एकदम जैसे मेरे सामने आ गयी और बोली कि सूक्ष्म जगत के नए अनुभवों के लिए अपना मन और मस्तिष्क दोनों खोलकर रखो।उसके बाद उन्होंने अपनी उर्जायो को मेरे योनि मार्ग से प्रवेश करता दिया। मेरे अंदर पिपरमिंट जैसे ठंडी ऊर्जा प्रेवश करि हो ऐसे अद्भुत आनंद महसूस हुआ ।उसी समय मैने देखा कि बहुत सारी विभिन्न प्रकार की देवी ,फूल लागाये स्त्रियां वहां उर्जायो को ठीक कर रही है। जैसे चक्र फूल के सामान होता है तो उसको साफ कर रही हैं । फिर बहुत समय के बाद मुझे उस स्थान पर गर्म ऊर्जा महसूस हुई। यह भी अद्भुत सुखकारी थी। और इसी समय मैने देखा कि जो मेरे reproductive organs के सेल्स ब्लू कलर के हो गए और तेज गति से ट्रेवल कर रहे हैं। मुझे आवाज सुनाई दी कि यह ऊर्जा असीम सुखकारी है और यह अभी कुछ समय तक तुम्हारे अंदर होते रहेंगी। इनसे मैने अपनी आकषर्ण कारी उर्जायें ,सम्मोहन करने वाली तुम्हारे अंदर स्थापित कर दी हैं। जिससे तुम आकर्षक वस्तु को अपनी और खिंचोगी।❤️❤️ यह दिव्य अहसास का आनंद शब्दो में यहां लिखने सम्भव नही है मेरे लिये। किन्तु साधना का चरण है इसलिए लिख रही हूँ। इसके बाद उन्होंने बोला आज के लिए इतना ही बहुत है। उस समय गुरुजी मेरे अंदर डर भी था, परन्तु इच्छा भी थी कि यह हो। और मन्त्र जाप आपकी आवाज ही मुझे पकड़े हुए थी। मुझे मन के और उस आवाज के अलावा कोई होश नही हो जैसे। शरीर एक दम still था जिस मुद्रा में थी उसी में ही बैठी रही बहुत देर तक । जब देवी के आग्रह पर माला पहनी थी तब भी एक स्पार्क जैसे ऊर्जा पूरे ह्रदय क्षेत्र में फैल गयी थी। ऐसे ही साधना कल सम्पन्न करि । अभी सुबह आंख खुलने पर मुझे अपने कमरे के हर कोने ,बिस्तर पर इतना प्रेम आ रहा है कि यहां से जाने का मन ही नही कर रहा। इसे देखने से ही लग रहा है कि यहां कोई है आजकल। मेरे nails शाइन कर रहे हैं,स्किन चमक रही है। मस्तिष्क शांत । इन दिनों बस यह लग रहा है कि समय यही रुक जाए और मन में यही उत्साह ,कोमलता ,प्रेम सदा सदा ही स्थापित हो जाये।

साधना में तुलसाजी जी के पौधे, फूलों की घाटी और पहाड़ की घाटी में नदी दिखी…….. MPMISHRA
Ram Ram guruji Date:05.07.2021 Sadhana me baithane kuchh der baad tulasi k bade bade paudho jo briksha jaise the k saghan bagiche uske baad flowers ki ghati aage nadi pahadi ki ghati me dikhi.Apnane aapko chalate huye dekha aur nadi k kinare ek ped ki chhaya me baith gaya. River k uspar pahad barf aur badalo se ghiri lagi. river me white kamal k phulo ki kaliya khilati jisame se pankho sahit ladkiya nikal kar river k paani me khel rahi thi.upar barfile pahad se udati huyi ladaki laga meri taraf aa rahi is drishya se man achanak Prafulla hua lekin vah nadi k paar nhi aayi.
Iske paschat jaha baithe the vaha ek sanyasi thodi dur par puja karte dikhe.yah drishya tirohit ho gaya.punah shivling jo purn rup se kayi Hari pattiyo se achhadit thi k darshan huye. Sadhana se uthane k paschat puri body me thaan laga.
Pranam

रात की अप्सरा साधना आनंद पूर्ण संपन्न हुई ……….. हरविंदर सिंह देहरादून
शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को कोटि-कोटि प्रणाम 6 जुलाई 2021 गुरुजी रात की अप्सरा साधना आनंद पूर्ण संपन्न हुई और कोई विशेष अनुभूति नहीं हुई आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

साधना करते समय अप्सरा का उपस्थिति का कई बार एहसास हुआ और वह आए और जब भी आती थी पूरा साधना कक्ष खुशबू से भर जाता था ………… भोलानाथ दिल्ली
5 जुलाई 2021 अप्सरा साधना शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को राम राम गुरुजी कल रात की भी साधना बहुत ही आनंद पूर्वक संपन्न हुई साधना करते समय अप्सरा का उपस्थिति का कई बार एहसास हुआ और वह आए और जब भी आती थी पूरा साधना कक्ष खुशबू से भर जाता था गुलाब की खुशबू बहुत ज्यादा ही आ रही थी साधना बहुत ही आनंद पूर्वक संपन्न हुई गुरुदेव आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

मन्त्र जप चलते रहे,बीच बीच में नींद की आवेश हुआ , झटका लगा, ऐसा बार बार हुआ, दिव्य अनुभूति पाने के लिए अपने पर ध्यान केंद्रित किया …………. नटराज हाजं, मेघालय
राम राम गुरुजी, रम्भा अप्सरा साधना के दिव्य अनुभूति :: दिनांक :- 05/07/2021, सौन्दर्य के देवी रम्भा अप्सरा साधना के चतुर्थ दिन बहुत आनन्द पूर्वक सम्पन्न हुआ है ॥मन्त्र जप चलते रहे,बीच बीच में नींद की आवेश हुआ , झटका लगा, ऐसा बार बार हुआ, दिव्य अनुभूति पाने के लिए अपने पर ध्यान केंद्रित किया, जानने के कोशिशें की, खास अनुभूति नहीं मिले, 2 घंटे बीत गयी, साधना निर्विघ्नता पूर्वक सम्पन्न हुआ॥ गुरुजी के श्री चरणों में नमन्॥

गुलाब की खुशबू एक दम अलग सी आ रही थी मन मोहक सी काफी देर तक थी, साधना बहुत अच्छी हुई गुरुदेव ……. ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम 🌹🙏🌹 5/07/21 देवी रामफा अप्सरा साधना गुरुदेव कल साधना सुरूकिया जप कर रही थी इलाइची मुंह में डालना भूल गई थी अचानक खुशबू आई इचाइची की तेज तब याद आया और मुंह में डाल लिया जप करते करते गुरुदेव शरीर जोर से ऊपर खींचने लगा सांसे बहुत तेज चलने लगी आंख से आसू निकल गए मेरा शरीर बेहोसी इस्तिथि में हो गई फिर अपने आप कंट्रोल किया ऐसे तीन बार हुआ। गुलाब की खुशबू एक दम अलग सी आ रही थी मन मोहक सी काफी देर तक थी, साधना बहुत अच्छी हुई गुरुदेव। अपनी दया सदैव बनाएं रखें आपका बहुत बहुत धन्यवाद गुरुदेव ❤️

अप्सरा साधना जुलाई 2021 – 04 जुलाई, 21

देवी ने बोला कि माला उठायो और मेरे गले में डालो, मुझे किसी का आभामण्डल स्पष्ट महसूस हुआ उसमें ,मैने वो माला देवी के गले में देखी……... नीरजा।
राम राम गुरुजी। कोटिशः कोटिशः आभार जीवन के इतने भव्य अवसर को प्रदान करने के लिए। मेरी कल की साधना भी बेहद सुखद,प्रेमपूर्ण,उत्साहपूर्ण रही। कल पूरा दिन सुबह से मेरे अंदर उत्साह था कि आज कुछ विशिष्ट दिन है और विशिष्ट होगा रात्रि साधना में । रात्रि साधना शुरू करने पर देवी रम्भा तुरन्त आ गयी ।कल मैने उनके बैठने के लिए एक चेयर रखी थी और उसके आगे उनके चरणों के लिए एक और छोटा स्टूल था। कमरे में गुलाब के इत्र की सुगन्ध ,जैसा देवी ने निर्देश दिया सभी कुछ वैसा किया। मैं जब तैयार हो रही थी तो मेरे मन मे विचार आया कि क्या मैं अच्छी लग रही हूं? साधना शुरू होने पर देवी ने उस स्टूल पर अपने चरण रखे और चेयर पर बैठ गयी । उन्होंने एक लाइट पिंक रंग की ड्रेस पहनी थी और एक बड़ी सुंदर माला उनके गले में पहले से ही थी। मैने उनसे आग्रह किया भोग स्वीकारने का ,उनसे पूछा कि आपको व्यवस्था पसन्द आयी😊।आपके निर्देश पर गुलाब की माला है ,इसे भी धारण करें मुझे कृतार्थ करें और मुझे अपना सानिध्य प्रदान करें। इस पर देवी ने बोला कि माला उठायो और मेरे गले में डालो । मैने ऐसा ही किया ❤️ गुरुजी कुछ सेकेंड को मेरे हाथ एक जगह स्थिर हो गये। मुझे किसी का आभामण्डल स्पष्ट महसूस हुआ उसमें ,मैने वो माला देवी के गले में देखी ।उसके बाद देवी ने बोला कि इसे अब तुम पहनो। मैने वैसा ही किया । उन्होंने बोला आज से हमारा संबधं एक हुआ। मैने तुम्हे “सखी” के रूप में स्वीकार किया। यह मेरा आशीर्वाद और वचन दोनों हैं। तुम जब भी बुलायउँगी ,मुझे सोचोगी मैं सहायता के लिए आ जाऊंगी। मुझे सम्रद्धि ,ऐश्वर्य,सुख,ख्याति सब प्रदान करूँगी। मेरे अच्छे लगने के विचार को पकड़कर वह बोली कि आज से अपने को छोटा नही समझना ,क्योंकि मेरी नज़र तुम पर पड़ी है। समस्त ब्रह्मांड की नजर तुम पर है। तुम्हे जो भी देखेगा आज से उसे तुम सुंदर ही दिखोगी। तुम अपनी सभी चिंताएं मुझे दो 🌹🌹।उसके बाद उन्होंने मेरे गले को स्पर्श किया और मेरे lips पर kiss किया। बेहद रोमांचकारी 😍।उसके बाद उन्होंने मुझे बोला कि तुम सेवा को सरवोपरि रखना । खूब लोगो की सेवा करो। मै तुम्हारे माध्यम से अपनी उर्जायें प्रवाहित करूँगी। 1वर्ष के भीतर तुम्हारे जीवन का कायाकल्प कर दूंगी। यह सभी जब मैं सुन रही थी तो गुरुजी मेरे आस पास बहुत जोर से धम्म धम्म की आवाज हो रही थी। उसके बाद व्व थोड़ी देर के लिए गायब हो गयी। मैने आवाज लगाई तो बोली कि तुम्हारे लिए आज से काम शुरू करने हैं बहुत सारे । मन्त्र करो 😊। फिर थोड़ी देर बाद पुनः आ गयी और मैंने अपने रिश्तेदारों से जुड़े समस्या और निदान उनसे पूछे जो कि उन्होंने स्पष्ट मार्गदर्शन किया। मैने पुनः से उनसे कल की साधना के लिए विशेष आग्रह पूछा तो उन्होंने बोला कि अगले साधना समाप्ति दिन तक सफेद फूलो की खुश्बू वाली माला, कमरे में तुम्हारे अलावा साधना काल तक कोई न आये,और हर रोज ऐसे ही तैयारी जैसे आज करि। और क्या तुम कल मेहंदी लगा सकती हो ? मैने बोला जी।❤️🌹।फिर वो बीच बीच में कही जा रही थी ,पर आवाज लगाने पर मेरी बात का जवाब भी दे रही थी। कुछ देर बाद मैंने देखा कि बहुत सारे पत्थर कोई उठा रहा है ,सूखे फूल भी। और पीछे हरियाली है ,नए फूल भी लग रहे हैं। उसके बाद एक आवाज मुझे सुनाई दी कि यह तुमने अच्छा नही किया? तुम रोज प्रत्यंगिरा का मन्त्र करती हो,सुरक्षा मन्त्र भी करती हो ,और देवी भी सिद्ध हो गयी तुम्हें। गुरुजी यह सुनकर मुझे बेहद डर लगा । और तभी मैने देखा एक बूढ़े से व्यक्ति के साथ देवी कुछ डिसकस कर रही है। वह दोनों मेरी तरफ देख रहे हैं। बूढे व्यक्ति ने देवी को बहुत सारे चाकू और तलवार दी और देवी घोड़े पर बैठकर तलवार लेकर निकल गयी किसी को मारने। उसके बाद मैंने अंदर से बहुत सारे अजीब से लोग निकलते देखे,एक तो मैने चेहरे पर चोट के निशान भी देखे। कुछ चोर भी थे जो पिट रहे थे। किसी ने बोला उन्हें की भाग जायो और दुबारा मुड़कर भी नही देखना। गुरुजी मुझे इसके बाद अपने सीधे साइड पर अलग सा हल्कापन का अहसास हुआ। फिर देवी कुछ देर पुनः से मेरे बिस्तर पर बैठी ,मुझे निहारती रही। मुझे मन्त्र जाप कहने को बोलती रही। साधना समाप्त होने पर उन्होंने मुझे पुनः बोला कि तुम आराम से अब सो जाओ। ❤️❤️❤️❤️❤️❤️।गुरुजी यह साधना के दिन इतने दिव्य ,रोमांच से भरे होंगे यह मेरी कल्पना भी नही थी। आपको धन्यवाद । यह साधना में सफलता हेतु ।

कुछ जाप हुए ही थे कि पायल जैसी आवाज़ आने लगी ……….. नरेन्द्र धार्मिक
गुरुदेव जी 3/7/21 राम राम रम्भा अप्सरा साधना रात्री 11:08 पर सुरुआत की कुछ जाप हुए ही थे कि पायल जैसी आवाज़ आने लगी फिर जाप पर ध्यान केंद्रित करते हुए पूरा मन जाप में ही लगा दिया कुछ जाप और होते गए फिर नीद के कुछ जाप कुछ जागते हुए जाप पूरा किया धन्यवाद

आज खुली आंखो से अनुभव किया वह पीछे खड़े हो कर एक हल्की सी मुस्कान दे रही थीं …………. ANUPAM CHAKRABORTY. 🌹 JABALPUR
date 4/07/21 ❤️❤️ ❤️🕉️🕉️🕉️ अनुभूति आज ऐसा प्रतीत हो रहा था सारे चक्र move ho रहे थे आज कहा ले मैं तेरे लिए आ गईं हू आज जब साधना खत्म की तो मेरे मन में उन्हें पा लेने की अभिलाषा प्रस्फुटित थी उनका प्रत्याक्षीकरण चाह रहा था वह मेरे पीछे खड़ी थीं जब मैं दो घंटे की साधना के बाद उठा तो मैंने पाएं आयात का व्हाइट कलर की ड्रेस में यह में आज खुली आंखो से अनुभव किया वह पीछे खड़े हो कर एक हल्की सी मुस्कान दे रही थीं आज ऐसा लगा की बादल गरज रहे हो और बीजली chamak rahi थीं साधना स्टार्ट हुई ऐसा लगा कोई हस रहा किसी ने रूम में उत्तर दिशा की दीवार से कोई प्रवेश किया, पायल की आवाज़ से इंगित किया की में था मौजूद हुं💐💐💐💐💐💐💐💐💐आज तारीख जिस कमरे मे सो रहा प्रातः 4:30 am 5June21, mere body ko किसी ने छुआ मैं गहरी नीद में था पूरे शरीर को स्पर्श किया किसी ने अचानक थोड़ा डर गया था फिर सोया फिर हुआ लाखों ish bar nahi laga डर 💐💐💐💐💐💐💐💐💐shivsaranam

गुरु जी आप की आवाज के साथ मंत्र जप शुरू किया आपकी आवाज के साथ ऐसा लगा कि कोई और भी गुनगुना रहा है……… अनुराधा ऋषिकेश
गुरु जी राम राम आज तीसरे दिन की साधना में सुबह से ही सारे दिन बस देवी के ध्यान में मगन रही रात 10.45पर साधना शुरू हुई
गुरु जी आप की आवाज के साथ मंत्र जप शुरू किया आपकी आवाज के साथ ऐसा लगा कि कोई और भी गुनगुना रहा है
फिर आवाज आनी बंद हो गई सारा ध्यान मंत्र पर केंद्रित रहा सुबह पूजा के समय भगवान को तिलक करने के बाद अपने कुमकुम लगा रही थी तो अचानक हाथ भरी हो गया और आंखें बंद थी हाथ माथे तक नही पहुंच पा रहा था फिर जबरदस्ती लगाया 🙏🏼🙏🏼🙏🏼

आज की साधना में लगातार ठंडी आनंद दायक उर्जाये आ रही थी……. Shailendra, Ulhasnagar
04/07/2021 Ram. Ram Guruji Aaj ki sadhana me lagatar thandi thandi alhad dayak urjaye aa rahi ek ghante ki sadhana ke bad achanak sar me tej dard hua aur dard itna jyada tha ki muze mantrajap rokana pada thodi der aaram karke mantra jap purn kiya Dhanyawad guruji

गुरुदेव , शरीर उसी तरह हिल रहे थे शरीर ऊपर की तरफ खींच रहा था ………… ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम 4/07/21 देवी राम्मफा अपशरा साधना साधना बहुत अच्छे से हुआ गुरुदेव , शरीर उसी तरह हिल रहे थे शरीर ऊपर की तरफ खींच रहा था आज भी नाचने जैसा हो रहा था थोड़ा सा शरीर देवी ने हिला ही दिया मन खुश है आज की यू अनुभूति हुई
आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

साधना में दो बार ऐसा हुआ की माथे पर कोई स्पर्श हुआ है…….. Pankaj Kumar Gupta from Naini, Allahabad.
Ram Ram Guruji 🙏🙏🙏- Kal 4-7-21 ki sadhna kay anubhav. Kal 12 baje raat mantra jaap shuru kiya. Kal dard ki dawa khai thi parantu dard kay karan baitha nahi jaa raha tha. Badi mushkil se adhleti awastha mein mantra jaap1:30 baje tak kiya,jisme kai baar neend bhi aayi. Par phir 1:30 se2:30 baje kay dauran puran chaitanya ho kar mantra jaap kiya haath jod kar. Pura sharir jhoom raha tha aur dard gayab ho gaya. Beech mein do baar aisa laga ki mathe par koi sparsh hua. Aap ko koti koti naman.

देवी रम्भा सोना और हिरा बरसा रही थी और देवी मेरे शरीर में प्रवेश कर गयी……… sunita devi, samastipur bihar
Date 4/07/2021 🙏🙏🥰🌹🌹🌺🌺🌸💐💐Ram ram guru ji anbhuti aaj ki aapke aawaj se mantr chalu ki guru ji 😊bahut der tak mantr chalu hi raha uske baad guru ji halka halka sarir me shiharne ka mahsus hua us ke baad devi rambha upar se ghara se sona hira barsa rahi thi us ke baad devi rambha mere sarir me laga ki parves kar gai or thore der tak esther the us ke baad pure sarir me gan ganaya kar pure sarir me thanda mahsus hua or mai hasne lagi or thorde hi dar ke baad mahsus hua ki mere Samne idr white dress me khare the or kuch dar tak khare rah gaye ❤ or guru ji us ke baad chale gye puja karte samaye tak antim,antim devirambha mere sarir me rah gayi 🌹love ❤you guru ji❤love you devirambha 🙏🌹🌹🌺🌺💐guru ji aap hampe aisehi kripya bnaye rakhe or guru mai aap se vinati karti hu ki aap mughe darsan kara dijiye shiv sarnam,guru saranam ⚘🌷❤🌷🌹🌺💐🌻🌻aapka koti koti dhanywad 🌹guru ji ❤😊

देवी की पायलों की आवाज छन छन खूब जोर जोर से सुनाई दे रही थी मानो कि एक साथ कई सारे घुंघरू बज रहे हो ………..भोलानाथ दिल्ली
4 जुलाई 2021 विषय अप्सरा साधना शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को राम राम शिव शरणम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से 4 जुलाई की अप्सरा साधना बहुत ही आनंद पूर्वक संपन्न हुई गुरुदेव साधना करते समय कुछ देर के बाद देवी का आगमन शुरू हो गया और देवी साधना कक्ष में आई और मैं मंत्र जाप कर रहा था और देवी की पायलों की आवाज छन छन खूब जोर जोर से सुनाई दे रही थी मानो कि एक साथ कई सारे घुंघरू बज रहे हो और पूरे साधना कक्ष में गुलाब की खुशबू खूब आ रही थी 2 घंटे की साधना में कोई साधना में देवी हमारे आस पास ही थी और कई बार गुदगुदी करती थी और पितांबरी बार-बार हटा दे रही थी मैं गुरु अपना मंत्र जाप करने में लीन था और मंत्र जाप पूरा होने के बाद जब सोने गया उसके बाद भी देवी आई थी और मेरे शरीर में टच कर रही थी फिर अचानक मैं उठ कर बैठ गया और साधना करते समय गुरुदेव भगवान शिव का दर्शन दो बार हुआ और भगवान शिव जैसे देवी बार-बार हमारे पास भेज रहे थे ऐसा मैं बंद आंखों से देख रहा था यह दृश्य गुरुदेव बहुत ही आनंद पूर्वक संपन्न हुई गुरुदेव मन अभी भी पसंद है त्रिदेव आपका बहुत-बहुत धन्यवाद शिव शरणम

मुझे बहुत तेज गुलाब की इत्र की बहुत तेज सुगंध आई, मेरी नाक उस सुगंध से भर गई तो मैने देवी को मन ही मन प्रणाम किया ……………. Ashish Tanwar,Punhana,Haryana .
04/07/21 रंभा अप्सरा अनुभूति- राम राम आदरणीय श्री गुरुदेव😊💐🙏🥀🌹,कल रात की साधना निर्विघ्न संपन्न हुई।मगर पूरी साधना में असहजता रही,शरीर में जकड़न महसूस होती रही। कुछ विशेष अनुभव नही हुआ। हाँ,आज सुबह लगभग 9:30 am पर मैं अकेला बैठा हुआ था।तो मुझे बहुत तेज गुलाब की इत्र की बहुत तेज सुगंध आई,मेरी नाक उस सुगंध से भर गई।तो मैने देवी को मन ही मन प्रणाम किया,और मन ही मन स्वागत भी किया।थोड़ी देर तक सुगंध बराबर आती रही।फिर सामान्य वातावरण हो गया। धन्यवाद आदरणीय श्री गुरुदेव।
आपकी कृपा और आशीर्वाद बना रहे।मार्गदर्शन करे।

गुरु जी अपने आसपास ऊर्जाओं की Feeling हो रही थी ……….. Nidhi Gupta Harihar karnatka
राम राम गुरु जी श्री चरणों में प्रणाम गुरु जी🌹🙏 Kal की साधना अच्छे से संपन्न हुई गुरु जी अपने आसपास ऊर्जाओं की Feeling हो रही थी गुरु जी us दौरान हवा भी tez चल रही थी बारिश भी हुई मंत्र जाप आपकी voice में निरंतर चल रहा था बीच में दो बार आंख खुली. आपका स्नेहपूर्ण आशीर्वाद हरदम बनाए रखिए गुरु 🙏🌹

मैंने साधना में मंत्र जाप करना शुरू किया उसी क्षण देवी अप्सरा मेरे पास बैठ गए ……….. हरविंदर सिंह देहरादून
शिव गुरु को राम-राम गुरुजी कोटि-कोटि प्रणाम अप्सरा साधना 4 जुलाई 2021 गुरुजी रात की अप्सरा साधना आनंद पूर्ण संपन्न हुई जैसे ही मैंने साधना में मंत्र जाप करना शुरू किया उसी क्षण देवी अप्सरा मेरे पास बैठ गए और मेरे साथ मंत्र जाप शुरू कर दिया और बार-बार मेरे कानों में गुनगुना रही जब तक मैं मंत्र जाप करता रहा वहां देवी मेरे ही कमरे में रही आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

एक पल की लिए मुझे मधुर संगीत सुनाई दिया, पायल की आवाज बीच बीच में सुनाई दे रही थी,किसी ने एक बार पीठ पे बहुत ही कोमलता से स्पर्श किया हो ऐसा महसूस हुआ ………………………… आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
04/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुदेव शत शत नमन🙏🙇🏻‍♂️🌹🙇🏻‍♂️🙏गुरुजी आपकी कृपा आशीर्वाद से आज की साधना अच्छे से संपन्न हुई, एक पल की लिए मुझे मधुर संगीत सुनाई दिया, पायल की आवाज बीच बीच में सुनाई दे रही थी,किसी ने एक बार पीठ पे बहुत ही कोमलता से स्पर्श किया हो ऐसा महसूस हुआ,मंत्र जप रात के 10:20 से लेकर 12:20 तक चला,अपनी कृपा आशीर्वाद सदैव बनाएं रखें, कोटी कोटी धन्यवाद गुरुदेव। 🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरु शरणं 🌹

जैसे देवी कह रही हो इस साड़ी को पहनने के लिए. साड़ी के ऊपर हाथ रखते ही हाथ में हैवी ऊर्जा बॉडी में जा रही थी. ……… Ranita Halder, Kolkata.
4/7/2021,Rambha Apsara साधना की divya Anuvab…कल evening me mai puja k liye tayar ho rehi thi. मैं एक नॉर्मल ड्रेस पहन रही थी तब मेरी ध्यान साड़ी पर ले जाया गया. मेरी एक jaamdani साड़ी जो deep पिंक और गोल्डन जरीवाला काम था उसकी तरफ देखते ही मेरी शरीर में बहुत ही urja chhane लगी. जैसे देवी ने कह रही हो is साड़ी को पहनने के लिए. साड़ी के ऊपर हाथ रखते hi हाथ में हैवी ऊर्जा बॉडी में जा रही थी. Mai bho साड़ी पहन ली शाम को पूजा के समय जैसे Devi कह रही हो कि मैं यहां पर हूं.मेरे लिए हो पास में आंसून बिछाना. मैं मेरी आसन पर बैठ गई पास में देवी के लिए आसन लगाई आसन के तरफ देखते ही शरीर में हैवी ऊर्जा फिल करने लगी. काल में शाम की पूजा की बात अप्सरा मंत्र जप करना शुरू करी. कल निरदिशत टाइम से 10 मिनट पहले ही मंत्र जाप सुरु किया. कॉल पहली बार मंत्र जाप में अलौकिक एहसास हुई. 😊जैसे मैं कोई साउंड रिकॉर्डिंग पर नहीं बल्कि गुरु जी की साथ ही बैठी हूं और गुरु जी के साथ मंत्र जप कर रही हु. पूरा मंत्र जप के दौरान जैसे गुरु जी मुझे गाइड कर रहा है. कल मैं जैसे कुछ हल्की नींद में चली गई थी और बहुत सारी दिव्य अनुभव हो रही थी. हल्की नींद गहरी ना हो पाय इसलिए गुरु जी के आवाज बार-बार मुझे सचेत कर रहे थे. जब भी मैं गहरी नींद में जाने के पधार पर थी उसी समय…..समय ही गुरु जी के वॉइस टोन मुझे सचेत कर रहे थे. हल्की नींद और गहरी नींद में जो बिल्कुल परफेक्ट बैलेंस कोर रहे थे. धन्यवाद प्रणाम गुरूजी 🙏🙏. कल मुझे बहुत सारी दिव्या अनुवाब हुई है……. पहले गणेश जी को सिंहासन पर बैठी हुई दर्शन हुई साथ में बहुत सारे सेविका गन थी. उसके बाद एक सफेद घोड़ा मेरी तरफ दौड़ के आ रही है दर्शन हुए. एक शेर दिखाई पड़ी. बीच-बीच में दोनों पैर इधर-उधर चल रही थी दर्शन हो रही थी. बार-बार पैरों की दर्शन हो रही थी. बहुत सारी सफेद घोड़ा रथ की रस्सी से जुड़ी हुई थी जो मेरी तरफ दौड़ के आ रही थी darsan hui. एक कोई जोगिनी कन्ना जैसी देवी की दर्शन हुई. साधना के बीच बीच में एक आंखें मुझे lagatar देख रही थी. एक बार दो आंखें भी दिखाई पड़े. माता काली की दर्शन हुई. एक कन्ना जिसका रंग शिमला varn की thi दोनों हाथ में सफेद फूल की माला और गले में सफेद फूल की माला पहनी हुई थी दर्शन हुए. कई देवियों की नृत्य रातो मुद्रा में दर्शन हुए. बार-बार पैरों की दर्शन हो रही थी. एक सुन्दर सी पहाड़ों पर हनुमान जी साधना रातों दर्शन हुई बहुत ही सुन्दर और दिव्या लग रह थे. काल मेरी स्वाधिस्ठान चक्र पर रह रह कर ऊर्जा प्रवेश कर रहे थे. एक गुदगुदी सी फीलिंग हो रही थी. इसके लिए पूरे शरीर में सिहरन हो रही थी.काल श्रीदेवी दीपिका, पादुकोण को दिखाई पड़े. कॉल” B”अल्फाबेट बार बार दिखाई पड़ रहे थे. अग्नि की सलाहका से कुछ लिखाई दिखाई पड़ी पर मैं समझ नहीं पाई. कल दोपहर में साधना की रूम से बहुत ही खूबसूरत खुशबू निकल रही थी. जो रूम से बाहर पर भी धीमी धीमी आ रही थी. येलो और पिंक रोज ढेर सारे दिखाई पढ़े. कॉल रंभा देवी की सुंदर सी केस विन्यास पीछे की तरफ से दिखाई पड़ी. पर देविका मुख मंडल नहीं दिखाई पड़ी. काल देवी की अलग से एहसास नहीं हुई. देवी से कोई बात भी नहीं हो पाई. मैं देवी से बात करने के लिए बहुत ही उत्सुक हु. गुरुजी मेरी साधना कौन सी दिशा पे जा रही है कृपया मार्गदर्शन करें🙏🙏🙏 अपनी कृपा आशीर्वाद सदाही बनाए रखें. कोटि-कोटि प्रणाम धन्यवाद गुरु जी🙏🌟 राम-राम प्रणाम. रानीता हलदर. कोलकाता🙏🙏🙏