सुंदर नारी मुकुट धारण किये हुए थी…. त्रिपुरारी का अनुभव

गुरू जी राम-राम शिव शरणम आज गुरुजी केदारनाथ साधना अद्भुत हुई साधना के दौरान शिवलिंग के सामने जब मैं बैठा था शिव अर्चन कर रहा था तो वहां पर दो व्यक्ति मुकुट लगाए हुए वहां बैठे थे और मैं शिव अर्चन कर रहा था सुवचन करने में आज मेरा मन बहुत विचलित था उसके बाद घोर जंगल दिखाई देने लगा और उस जंगल में एक सुंदर नारी थी मुकुट धारण किए हुए कुछ देर तक वह दिखी उसके बाद वहां से गुम हो गई उसके बाद थोड़ा और आगे आए एक साधु वहां बैठा था उसके बाद गुरु जी आप के भी दर्शन उसे साधु के पास हुआ शिव शरणम गुरु शरणम