नृत्य करते हुए भगवान दिखे…. जय श्री का अनुभव

राम राम गुरूजी, मै जयश्री ,केदारनाथ जाते समय पहाडोका दर्शन हुआ।फिर नंदी जी का दर्शन हुआ।प्रणाम करके आगे चली।दिपक को प्रणाम किया, गुरुजी आप मंत्र जप रहे थे।मैने बारी बारी से जल, दूध ,सभी सामग्री से पूजा की,घी लगाने बाद जैसे ब्रह्मकमल अर्पित करने लगी सभी मंदिर मे गोल्डन कलर भर गया।बडे बडे शिवलिंग का दर्शन हुआ ।इसमे एक शिवलिंग का लिंग लग भग 1 फीट उंचा था।बाबा का दर्शन हुआ।लेफ्ट पैर उपर लिया था।नृत्य की पोझिशन मे बाबा देखे।काठ पदर सारी पहेने हुइ स्त्री देखी,लेकीन उसका चेहरा नही दिखाया दिया। shivarrchan के बाद कोई मंदिर, पहाड देखे।हरियाली पहाड बार बार देखने का मन कर रहा था।वापस जाने को आयी तो फिरसे नंदी महाराज का दर्शन हुआ।राम राम गुरूजी,आपको शिवप्रियादीदी को,शिवबाबा को कोटी कोटी प्रणाम।शिवशरनं!!!!!!!