कर्जमुक्ति औरिक हवन अनुभूतियाँ

ऊर्जाओं की बौछार हो रही थी, बौछार में सभी कर्ज खत्म होने का अहसास हो रहा था….. Prasannakumar, Kolhapur-MH
Ram Ram Guruji. Koti koti naman. Pradosh vrat to karta hu, aaj Guruji aapke saath karke, bahot khushi ho rahi hai. Aaj Guruji ke mukh se Shiv vani sunane ko mili. Aaj yagya me bahot khushi ho rahi thi. Chandan ki khushbu aa rahi thi. Urja ki bouchar ho rahi thi. Bouchar me sabhi karz ka boz khatam hone ka aahssas ho raha tha. Guruji aapka bahot bahot dhanywad. Shiv sharnam

समृद्धि स्थाई रूप से स्थापित हो गयी…… वीना शर्मा
Ram ram guruji🙏🏻
Aaj karj nivaran yagya karwane ke liye koti koti dhanyawad Aaj mai aur beti dono baithe the katha bahut Sundar.laga sunne me feel hua ki ab hum are paas samruddhi sthai roop se sthapit ho gayi hume bhi vo sab kuch milega jiski aas h Sanjeevani shaktipath ke samay crown se lekar pure body me energy flow feel hui jab kundalini par pahunchi tab jagah jagah gudgudi si feel ho rahi thi basic chakr se energy flow back me swadhishthan chakr se upar feel ho rahi thi urja yagya me bhini bhini Chandan ki Khushboo feel ho rahi thi bahut accha laga beti ne bhi utsah se kiya kavach dharan karte samay pure body me energy feel hui laga bhagwan shiv trishool lekar khade h ghanta bajate samay man me bahut utsah tha
Dhanyavad guruji

ऊर्जा यज्ञ ने शरीर के पंचतत्वों को जगा देता है……. Veena, mharashtra
राम राम गुरुजी … प्रणाम दण्डवत चरण स्पर्श गुरुजी गुरुजी आपका सर्व प्रथम कोटिश: धन्यवाद जो आप हम सब साधकों के इतनी बड़ी सरलता से जीवन सवारने की क्षमताशील बना रहे है ….गुरुजी आपके ऊर्जा यज्ञ की अनुभूतियाँ बोहोत ही अलग है … इस शरीर के पँचतत्वों को जगा देती है … इतनी ख़ुशी यज्ञ के बाद अनुभव होती है की जिसका वर्णन नहीं कर सकती हूँ में… कवच धारण करते ही जैसे शिव मुस्कुराते हुए समक्ष दिखे जो आशीर्वाद दे रहे थे …
शिव शरणं

मेरे रोम छिद्र में मंत्र गुंजायमान हो रहा था…… Anupam Chakraborty
ram ram Guruji, mrityunjay कवच dharan karte samay, aisa laag रहा था चारो तरफ शिव दिखाई दे रहे थे जैसा आप command de रहे थे वैसे हे सभी ऊर्जा चक्रों के उप्पर क्राउन चक्र से लेकर रूप एंड कुण्डलिनी में वैसे हे व्हाइट colour ki energy सभी चक्रों को bhedhan कर रही थी एक कंपन से महसूस हो रही थी बहुत protective लग रहा था। मेरे रोम छिद्र में मंत्र गुंजायमान हो रहा था। महादेव का त्रिशूल दिखाई दे रहा था बहुत हे दिव्य अनुभव था।

घी और अग्नि के जलने की खुशबु आ रही थी……..Darshana ben, gujrat
Guruji ram ram aaj aurrik anustan karte samay bahot urja fil ho rahi thi nabhi chakra muladhar or agya chakra vibrat ho rahe the man bahot khush ho raha tha aur ghee ki aur agni ki jalne ki khusbu aa rahi thi kavach dharan karte samay sarir me bahot garmi lag rahi thi or pura sarir urjao se bhar raha tha guruji aap ka mai tahe dil se bahot bahot dhanywad karti hu dhanywad

आज घर के बहार तक हवन की खुशबू आ रही थी…. Pooja badola, (Dehradun)
Ram ram Guruji pranam, Aaj ke auric yagya mein bhi bahut energy feel hui. Gardan, maathe aur temples pe vibrations aur dabaav Ka anubhav hua. Aaj Ghar ke baahar tak havan ki Khushboo aayi. Kashi Vishwanath Mandir mein khud ko paaya, Shivji ke darshan paaye aur hanumanji ki swarn murti ne mud Kar mujhe Dekha. Weightlessness Ka anubhav din Bhar mein hota rehta hai, aur yagya ke dauran bhi aisa hi hua. Aapka bahut bahut dhanyawad hai guruji, jeevan ek alag hi phase mein chal pada hai saadar pranam Ram Ram (29/09/20)

यज्ञ की शुरुआत में ही समिधा की सुगंध महसूस हुई……. Punit srivastava
राम राम गुरु देव। बहुत अच्छा लगा आज । यज्ञ की शुरुआत में ही समिधा की सुगंध महसूस हुई । लगा जैसे मै इस लायक नहीं की शिव जी मुझे अपनाएं । पर आपके माध्यम से संभव सा लगा । आपको हार्दिक आभार और प्रणाम । चरण स्पर्श।

मृत्युंजय कवच धारण करते समय मास्टर चक्र पर कंपन्न था…… नीरज जैन, दिल्ली
राम राम गुरुजी, शिव शरणम्
आज हवन करते समय हवन सामग्री की खुशबू आ रही थी। जब गुरुजी मृतुन्जय कवच स्थापित कर रहे थे उस समय मास्टर चक्र पर बहुत vibration थी और गणेश भगवान साक्षात दिखाई दिए।ऐसी अनुभूति हुई जो कि शब्दों में बयां नहीं कर सकता. धन्यवाद गुरू जी, कोटि कोटि प्रणाम
(29-09-20)

चंदन की बहुत तेज खुशबू आ रही थी, हाथ में चिकनाहट महसूस हो रही थी…. Manish sahagal, haridwar
परम पूज्य गुरुदेव जी को नमन
शिव गुरु को प्रणाम गुरुदेव जी आज कर्ज निवारण ऊर्जा यज्ञ में चंदन की बहुत तेज खुशबू आ रही थी हाथ में चिकनाहट महसूस हो रही थी मानो जैसे हाथ में घी लगा रखा हो और पूरा आभामंडल में ऊर्जा का संचार हो रहा था और जब आप कवच प्रदान कर रहे थे उसी वक्त मुझे भगवान शिव के दर्शन हुए जैसे वो मेरे समक्ष आकर बैठ गए हो विशाल रूप में आपका कोटि कोटि धैन्यवाद है गुरुदेव जी

सुरक्षा कवच धारण करते समय शिव जी के अलग अलग स्वरूपों को अनुभव किया…. सविता गुप्ता, बिलासपुर
गुरु जी बहुत ही सुखद अनुभव रहा आज भी। शिव सुरकचा कवच के समय शिवजी के अलग अलग स्वरूप को अपने में अनुभव किया। यज्ञ में शामिल नहीं हुई मासिक धर्म चक्र रहा है।बस सुं रही थी और ऊर्जा स्नान में अदभुत ऊर्जा मिली। गुरु में पहली बार जुड़ी हूं लेकिन ऐसा लगता ही नहीं मुझे। अवी 1 महीने से ही रुद्रकच धारण किया है। नियमित महासाधना में बैठती एक समय और जब बनता है तो दोनों समय बैठती हूं। अहो भाव
शिव जी की कृपा से सौभाग्य से ये अवसर मिला मुझे। राम राम

महामृत्युंजय कवच धारण करवाया तब मेरे शरीर में से काटे आगए…..Shreyash
राम राम गुरुजी🙏😊आपने जब मुझे महामृत्युंजय कवच धारण करवाया तब मेरे शरीर में से काटे आगए और थोड़ी देर बाद वापस चलेगये। आप का कोटि कोटि धन्यवाद, हर हर महादेव🙌🏻 शिव शरणं

ऊर्जा यज्ञ में पुरे शरीर ऊर्जा महसूस हुई…… Yashwanti, Delhi
Guru ji Ram Ram.aaj urja yag mai pure sarir mai urja mahsus hui.starting se last tek hoti rahi. per basic chakra or kundalini mai mahsus nahi hui.guru dev.aap hum per kripa banaye rakhe.chran spresh. yahi nivedan h aapke shree chrno mai.dhnyawad urja yag ke leye bahut bahut dhanyawad
29 september, 2020

सुरक्षा कवच धारण करते समय ऊर्जा सहस्त्रार चक्र शरीर में जा रही थी…. Shalini sehgal , haridwar
Prnam pita ji. Aaj hawan me lga jese ser se kuch nikal rha hi.. vibration fill hui.. Jb ap Suraksha kawach de rahe the.. Crown chkr se energy body me ja rahi the… Body me halka pann fell hua.. Thank you pita ji

अग्नि की तपन महसूस हुई……. Jyoti chaturvedi
Ram ram guruji koti koti pranam aaj ke yahay ke samay bhut hi a Jha anubhav rha man me esa ho rha tha ke guruji swayam Shiv rup me yahay karwa rhe he or agni ki tapan bhi masus hui guruji ka dhanyawad

मंत्रोच्चार से मेरे अंदर एनर्जी के बहुत ही तेज झटके लग रहे थे, लग रहा था की टूटकर कुछ अंदर से निकल रहा है… नीरजा, नोएडा
आपके श्री चरणों में वंदन है। जैसा आप हमारे उच्च जीवन में योगदान दे रहे हैं उसी प्रकार हम भी बन सकें यही आशीर्वाद दें। आपके मुख से प्रदोष व्रत की कथा सुनने से बचपन मे मेरे नानाजी हमें कल्याण कि प्रेरक कहानियां सुनाते थे वही याद आ गया समय। मुझे व्यक्तिगत रूप में कभी लगा नहीं कि यह व्रत उपवास लाभकारी होते होंगे परन्तु आपके श्री मुख से सुनकर लगता है कि यह बेहद चमत्कारिक होते हैं।🤔हवन में मंत्रोच्चार से मेरे अंदर एनर्जी के बहुत ही तेज झटके लग रहे थे ।थोड़ी देर और उसी गति से होते तो शायद मैं अपनी जगह पर ही उछल रही होती बैठे बैठे जैसे levitation होता है शुरू शुरू में। जब आपने सुंगंध बोली आज तो मुझे भी आस पास भीनी भीनी सुंगंध आयी । और वाकई लग रहा था कि टूटकर कुछ अंदर से निकल रहा है क्योंकि मुझे बहुत थकान महसूस हो रही थी। मन में शांति,पवित्रता,दिव्यता भी लग रही थी। आपका कोटि कोटि धन्यवाद सम्मोहन साधना में मेरा नाम चुनने के लिए और साथ साथ औरिक अनुष्ठान के माध्यम से एनर्जी को बैलेंस करने के लिए। इन सबसे यह मूल्यवान जीवन उपयोगी बनें आशीर्वाद दें।
प्रणाम। (29 सियम्बर 20)

मृत्युंजय कवच प्रदान करते समय भगवान शिव का स्वरूप प्रत्यक्ष रूप से दिखाई दे रहा था…. भोलानाथ दिल्ली
शिव गुरु को राम-राम गुरु जी राम-राम शिव शरणम प्रणाम गुरुदेव आपका बहुत-बहुत
हे मेरे गुरुदेव आपको मेरा कोटि-कोटि प्रणाम आज ऊर्जा यज्ञ करते समय बहुत ही आनंद महसूस हो रहा था और ऊर्जा यज्ञ की सुगंध आ रही थी जैसे मेरे कमरे में कोई सेंड गुलाब का चंदन का और कई तरह की खुशबू आ रही थी गुरुदेव आपके द्वारा मृत्युंजय कवच प्रदान करते समय भगवान शिव का स्वरूप प्रत्यक्ष रूप से दिखाई दे रहा था और मैं जैसे आपके समक्ष ही बैठा हूं आप मुझे मृत्युंजय कवच प्रदान कर रहे हैं ऐसी दिव्य अनुभूति आज मुझे प्राप्त हुई गुरुदेव आपका किन शब्दों में धन्यवाद करो इसका वर्णन मैं नहीं कर सकता हे मेरे गुरुदेव आज का आनंद इतना आनंद में है कि मैं क्या कहूं किन शब्दों को यूज करूं मेरे पास वाक्य नहीं है गुरुदेव आपका अनंत अनंत कोटि धन्यवाद और अनंत अनंत कोटी प्रणाम करता हूं गुरुदेव आपकी कृपा और दृष्टि मुझे और मेरे परिवार जनों पर सदा ऐसी ही बरसती रहे आपका बहुत-बहुत धन्यवाद शिव शरणम गुरु शरणम

सब परेशानियों से बहार आने का रास्ता मिल गया…… Bandana saxena AP
Ram ram guruji, Sadar charan sparsh
Aaj pradosh vrat sunte se hi shiv guru se connect ho gayi. Guruji ne aaj aseem kripa karke rasta dikha diya sab pareshanio se baahar aane ka. Kawach dhaaran karte vakt agya chakra per n third eye chakra per bahut pressure feel ho raha tha.pue body me vibrations lag rahe the. Guruji ko koti koti dhanywaad
Shiv sharanam

हवन की खुशबु आ रही थी, पूरा शरीर झूम रहा था…. Neelam, Dehradun, uttarakhand
guru charno mein naman guru ji aaj ki bhi anubhuti adbhut thi urja yagya ki khusbu aa rhi thi aur hawan ki jo agni ki lehre uthati hai wo apne banyi taraf mehsoos ho rahi thi bahot hi adbhut tha sab aagya chakara aur muladar chakra pe spandan mehsoos hua puri body jhoom rahi thi aapka bahot bahot dhnywaad hai guru ji
🙏🏻shivsharnam

सहस्त्रार चक्र से मूलाधार चक्र तक बिजली का प्रवाह दौड़ गया….. आशीष तनवर, हरियाणा
राम राम अदरणीय श्री गुरुदेव गुरुदेव आज ऊर्जा यज्ञ शुरु होते ही आप और गुरु दीदी दोनो दर्शन हुए।कथा शुरु होते ही अनाहत पर ऊर्जा महसूस होने लगी। आप के द्वारा शक्तिपात में हर चक्र पर उर्जा फ़ील हुई।सहस्रार से मूलाधार विद्युत प्रवाह दौड़ गया। उर्जा हवन में मूलाधार पर भी ऊर्जा महसूस हुई और फ़ड़कण महसूस हुई,सिहरन सी दौड़ गईं ।हवन की गर्माहट महसूस हुई,ज्यादा तो नही थोड़ी हवन सामग्री की सुगंध आई। महा मृत्युन्जय कवच की शक्ति पूरे शरीर में मह्सूस हुई। कोटि कोटि धन्यवाद आदरणीय श्री गुरुदेव

यज्ञ के समय गुलाब की सुगन्ध आयी……. अनुराधा ऋषिकेश
गुरु जी राम राम आज यज्ञ एक दम से गुलाबकी सुगन्ध आयी थी. शक्तिपात के समय शरीर स्थिर हो गया थ। कवच के समय thighs में सिहरन हुई फिर hip में हल्का दर्द हुआ जो कि अपने आप ठीक भी हो गया कलवाली साधना के लिए उत्साहित हूं बहुत बहुत बहुत सारा धन्यवाद प्यारे न्यारे गुरुजी को

कवच धारण करते समय रोम रोम में कम्पन हो रहा था…. मीना सितलानी, भोपाल
Charan vandan guruji Ap adbhut hi gayan ka athah Sager h Kavch dharan karte hue rom rom vibrate Ho rahta Dil shukrana karne m laga. Aakhe ashru s bhig Rahi thi. Samaj nahi pati hu ki aap ka rin kese pay kare. Shyad koi good karma h Apke shrichrano m jagah Mili
Koti koti Pranam guruji Koti koti Dhanywad

ऊर्जा यज्ञ करते समय बहुत ही आनंद उत्साह था….. गौरी देवी दिल्ली
गुरु जी राम-राम शिव शरणम आज उर्जा यज्ञ करते समय बहुत ही आनंद आ रहा था गुरुजी महादेव की छवि दिखाई दी फिर उसके बाद बहुत सुंदर पहाड़ था गुरुजी आप वहां पर साधना करवा रहे थे ऊर्जा यह करते समय बहुत ही आनंद उत्साह और उमंग ऊर्जा योग संपन्न होने के बाद राम राम सुना रही थी तब चोरी सीरिया सफेद उठ जाओ मैं दिखाई दे रही थी गुरुजी यह सुरक्षा कवच देने के लिए आपका कोटि कोटि चरण वंदन वाक्य नहीं कर सकती गुरुदेव मेरा मन कितना आनंदित है शिव शरणम गुरु शरणम कोटि कोटि चरण वंदन

ऊर्जा मेरे सिर से घुस कर सभी चक्रो में गयी…… अरुण कुमार शर्मा, अम्बेडकरनगर- उत्तर प्रदेश
राम राम गुरुजी, सादर चरण स्पर्श राम राम गुरुजी
आज मुझे कर्ज निवारण यज्ञ में आलौकिक अनुभव किया। जैसे कोई तीब्र ऊर्जा मेरे सिर से घुस कर मेरे सहस्ररार चक्रधर से होते हुए तीसरे नेत्रचक्र, आज्ञाचक्र, अनाहत चक्र, मणिपुर चक्र,स्वाधिषठान चक्र, मूलाधारचक्र से होते हुए कुण्डलिनी चक्र में तीब्र स्पंदन हो रहा था। शरीर हल्का महसूस हो रहा था। ये लिखते समय भी मेरे आज्ञाचक्र में तीब्र स्पंदन हो रहा है। हे मेरे गुरुदेव आपकी कृपा के गुणगान करने को मेरे पास शब्द नहीं है। शायद मैंने पीछले जन्म में कोई बड़ा पुण्य किया होगा जो इस जन्म में मुझे आप गुरु रुप में मिले। मुझ पर कृपा करने के लिए आपका कोटि कोटि प्रणाम। धन्यवाद (29-09-2020)

मृत्युंजय कवच धारण करते समय आज्ञा चक्र कम्पन कर रहा था….. Rohit rohilla
Ram ram gurujiii 🙏🙏🙏 or urja yagya k samay pr heat b feel ho rhi thi yagaya ki thodi thodi sth he mein guruji maritunjay kavach dharan krte samaye agya chakra viberate kr rha tha….or sir se lekr pairo tk puri body mein sirhan or energy feel ho rhi thi kafi…. Apka bhot bhot dhanaywad guruji 🙏🙏🙏 shiv sharnam Guru sharnam

कवच के समय सभी ऊर्जा केंद्रों पर कंम्पन हो रहा था…… Shusma, uttarakhand
Ram Ram bahut hee sunder anubhav aaj ka…sabhi urja kendro per vibration…Kavach….ke samaye …mehesus ho reha tha…guruji ke shabd .Bahut bda saubhagya hai ki hume guruji mile hai …
Shat shat naman

कवच धारण करते समय शरीर में अनंत ऊर्जा का प्रवाह महसूस हो रहा था…..Prashant, mharashtra
प्रणाम गुरूदेव,
1)आज औरिक यज्ञ करते वक्त मुझे चंदन कि लकडी कि सुंघद महसुस हो रही थी।
2) कर्ज निवारण जप करते वक्त मेरे अन्हत चक्र और मुलाधार चक्र दबाव महसुस हो रहा था और मुलाधार चक्र पर दर्द महसुस हो रहा था।
3) कवच प्रदान करते वक्त ऐसा लग रहा था कि पुरे शरिर मे अनंत उर्जा का प्रवाह महसुस हो रहा था और जो बिमारी कि उर्जा शरीर मे है उसका विखंडन हो रहा है। आपका बहोत बहोत धन्यवाद मेरे आने वाले आगे के जन्मों को सुरक्षीत करने के लिए और मेरे सभी कुल के सदस्यो पर असिम कृपा प्रदान करने के लिए।

रोम रोम से स्वाह: निकल रहा था……..Suman Sharma, Delhi
Guru ji ram ram …..guru ji aaj b jaise hi apne bolna strt kiya meri kundalni or muladhar chakr pr vibrations strt ho gai …..yagy ke tim ek alag se sugandh aa rhi thi …easa lag rha tha jaise mera rom rom se swaha nikal rha ho or mere head me b kuch chalne jaisa feel ho rha tha …or jb apne kwach diya US time b koi prakhash meri puri body ko cover kiya hua tha …..guru ji aanadmay experience……bahut bahut dhanywad guru ji. Koi shbd hi nhi hai dhanywad ke liye ……. (29-9-20)

थाली सामग्री से भरी हुई है और सभी ऊर्जा चक्र प्रकाशवान दिखाई दे रहे थे…….. Indra sharama, Pallavapurm -meerut
राम राम गुरूजी, राम राम शिवप्रिया दीदी,
गुरूजी, आज ऊर्जा यज्ञ करते समय सुगंधित खुशबु आ रही थी, और लग रहा था जैसे -थाली, सामग्री से भरी हुई है. और सभी ऊर्जा चक्र, प्रकावान दिखाई दे रहे थे, विशेष रूप से मूलाधार चक्र सबसे अधिक प्रकाशवान दिख रहा था. मूलाधार चक्र का प्रकाश चारों ओर फ़ैल रहा था. महामृत्युंजय कवच के समय पुरे शरीर मे बहुत ऊर्जा महसूस हो रही थी, उस समय भगवान शिव का एक ऐसा रूप दिखाई दिया, उनमे से ऊर्जा ओर प्रकाश निकलकर फ़ैल रहा है उनके चारों ओर घुम रहा है. मै प्रभु के उस स्वरूप को व्यक्त नहीं कर पा रही हूँ, समझ नहीं पा रही थी की मै उन मे समा रही हूँ या उनकी शक्ति, ऊर्जा मुझमे समा रही है | गुरूजी, ये सब आपका ही आशीर्वाद, ओर आपकी ही कृपा है, आपको कोटि कोटि प्रणाम,, कोटि कोटि धन्यवाद, हर हर महादेव

उर्जा यज्ञ के दौरान पुरे शरीर पर ऊर्जाओं की बारिश हो रही थी….. J p chauhan, 29 September, Delhi
प्रणाम गुरूजी। उर्जा यज्ञ के दौरान पुरे शरीर पर ऊर्जाओं की बारिश हो रही थी। आज्ञा चक्र और मणिपुर चक्र पर लगातार प्रेशर बना रहा। पुरे शरीर और मन में उत्साही उमंगों की बारिश बनी रही। कुंडलिनी और मूलाधार पर भी लगातार उर्जा का तीव्र स्पंदन था। अत्यन्त सुखद और शान्तिपूर्ण अनुभव। कृतार्थ हूँ।

ऊर्जा यज्ञ सुरु करते ही पुरे शरीर में सिहरन सुरु हो गयी थी……. Rajpati.
Ram Ram guru ji.
Aaj. Urja. Yagh. Me. Ktha. Shuru. Hote. Hi. Pure. Body. Me. Sihran. Shuru. Ho. Gae. Jo. Pure. Time. Tk. Rhi. Kavch. Dharn. Karte. Samay. Jis. Jis chaker per aap. Kh rhe. Thee. Unhi. Chakro per. Urja mahsas. Ho. Rhi thee. Bhut hi. Achcha. Anubhav. Thaa. Guru ji aapka bhut bhut dhanayvad.

सुरक्षा कवच की ऊर्जा आभामंडल में महसूस हो रही थी…. Santosh delhi
ram ram guru🌹🙏🏻pradosh katha sun kar bahut achhi anubhuti hui guru ji🙏🏻ktha sunte time bahut acchi energy ka sanchar ho raha tha 🙏🏻🌹🌹🙏🏻yagg ke time jo aap bol rahey the baari baari se chakro ke naam lete huye sub mujhe feel ho raha tha. Crown chakra khula hua ghoomta hua feel hua. Abhi bhi wo energy mujhe crown par feel ho rahi hai. Har chakra par energy flow hui hai. Bahut he adbhut anubhuti thi sabhi chakro par. Suraksha kavach ki energy bhi apne aura mai feel ho rahi thi sancharit hote huey. Bahut bahut Dhanyawad guru ji. Aap ki kshtra chhaya mai hum sabhi surakshit feel karte hai guru ji. 🌹kal sham saundrya yagg ka abhi se mujhe intejaar hai guru ji. Shiv sharnam

प्रदोष की कथा में मगन हो गया था और हवन में खुशबू आ रही थी….. सुशांत कुमार, बिहार
गुरु जी राम-राम शिव शरणम गुरु जी आज आपने जो प्रदोष की कथाएं सुनाएं इसमें में इतना डूब गया था क्यों मैं बिल्कुल स्पष्ट ही अप्सराओं को और राजा पुत्र को रथ पर बैठे हुए देखा इसके बाद जब आप यज्ञ करवाएं तो यज्ञ की खुशबू भी आई और मृत्युंजय कवच धारण करते हुए ऐसा लग रहा था जैसे मेरे रोंगटे खड़े हो रहे थे और बिल्कुल शरीर हल्का महसूस हो रहा था गुरु जी आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

मृत्युंजय कवच धारण करते वक्त सभी शरीर मे अंदर से अंदर कपकपी हो रही थी ……जयश्री, सोलापूर, महाराष्ट्र
रामराम गुरुजी, प्रदोष कथा सुनते ही बहुत शांत महसूस किया।लग रहा था मन का कोई भार हलका हुआ है।एकदम रिलैक्स।गुरुजी शक्तिपात के समय सभी चक्र में स्पंदन हो रहे थे।आहुति के समय कर्ज निवारण मंत्र के वक्त मूलाधार में भी और आज्ञा चक्र में भी स्पंदन हो रहे थे।कुंडलिनी भी ऊपर हो रही थी।गुरुजी, कर्ज निवारण मंत्र के बाद कॉन्फिडेंस भी आया और एक अलग सी ऊर्जा की महसूस कर रही हु।गुरुजी, मृत्युंजय कवच धारण करते वक्त सभी शरीर मे अंदर से अंदर कपकपी हो रही थी,और कुण्डलिनी सह व्हायब्रेशन भी हो रहा था।शिवगुरु मुझे एक हाथ मे त्रिशूल लेकर मेरे ही सिर में मैंने देखे।जो जल अभिमंत्रित हुआ था।उसकी टेस्ट अलग हुई थी।बहुतही चवदार लग रहा था।अंदर से खुशी महसूस कर रही हु।गुरुजी, कितने धन्यवाद दे दु,उतने ही कम है।आपको सहस्त्र कोटि कोटि धन्यवाद।बहुत शांतशान्त लग रहा है।रामराम शिवशर्नम।

मृत्युंजय कवच धारण करते समय शरीर कांप रहा था ……… Lata n , mumbai
Ram ram guruji Jab aapne mantro ka uccharan kar rahe the tab safed roshni sir ke upar se andar aati hui mehsus hui aur jab aap aahutiya dene ke liye mantro ka uccharan kar rahe the tab prasanta mehsus ho rahi thi thodi der baad pairo m bharipan mahsus ho raha tha jab aap ne mrutunjay kavach dharan karyaa tab pure sharir m kampan mehsus ho rahi thi sharir vibret ho raha tha guruji kal jab pahle din hum logo ne yagya kiya aur Uddin chehra khicha khicha sa bilkul nistej tha lekin jab dusre din maine khud ye fark mesus kiya chehra kaafi had tak behtar lag raha h jo aapne aaj sadhna karte samay yahi kaha jaise aap to sab jaante ho aaj ka yagya prasnata purna sampann hua aap hume aapni sharn m banaye rakhe guruver shivshrnam guru shrnam🙏💐 aapka bahut bahut dhanyawad koti koti naman har har mahadev