रम्भा अप्सरा सिद्धि साधना – अनुभूतियाँ 2 जुलाई

मंत्र जप के दौरान कई बार ऐसा लग रहा था की देवी मेरे समक्ष है, उन्होंने बहुत प्यार और कोमलता से मेरा नाम पुकारा………आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
02/07/2021 रम्भा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुजी शत शत नमन🌹🙇🏻‍♂️🙏🙇🏻‍♂️🌹गुरुजी आज की साधना में बहुत आनंद आया, मंत्र जप के दौरान कई बार ऐसा लग रहा था की देवी मेरे समक्ष है और मुझसे कुछ कह रही हो, कई बार तो उन्होंने बहुत प्यार और कोमलता से मेरा नाम पुकारा, मुझे बहुत खुशी हुई,पर आंखे खोल के देखता तो दिखती नही। मेरे सामने से तेज हवा के झोंके भी आ रही थी। बीच बीच में अचानक से रोम रोम रोमांचित और उत्साहित हो जा रहा था, शरीर भी झूमने लग जाता था। गुरुदेव अपनी कृपा आशीर्वाद सदैव बनाएं रखें आपका बहुत बहुत धन्यवाद। 🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरु शरणं 🌹

गुरु जी मंत्र जप किया वैसे ही थोड़ी देर लगा कमरे में कोई चल रहा है ………….. ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम गुरुजी कल अप्सरा साधना बहुत अच्छे से हुआ, गुरु जी मंत्र जप किया वैसे ही थोड़ी देर लगा कमरे में कोई चल रहा है, उसके बाद भी ऐशलगा लेकिन इस बार चलने की आवाज धम धम थी जिससे धरती में कम्पन सी हो गई दो से तीन बार हुआ,कभी मन खुश था तो कभी नॉर्मल एक बार जप करते करते नाचने का मन हो रहा था साधना में बहुत आनंद आया।अपनी किरपा करें गुरुदेव
आपका बहुत बहुत धन्यवाद गुरुजी। 2/07/21

साधना के समय मेरे कानों में फुसफुसाहट की आवाज आ रही थी, मेरे रूम को बार बार धका देकर खोल रही थी ……….. सुशील कुमार, सीतामढ़ी, बिहार
02,07,2021 अप्सरा साधना की अनुभूति शिव गुरु को राम राम गुरु जी राम राम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से आज की साधना आनंद पूर्वक सम्पन्न हुआ।साधना 9 बजे रात से सुरु किया साधना के समय मेरे कानों में फुसफुसाहट की आवाज आ रही थी।मेरे रूम को बार बार धका देकर खोल रही थी। गुरु जी आपको कोटी कोटि प्रणाम, धन्यवाद

मन्त्र जाप जैसे ही शुरु किया बहुत तेज गर्मी लगी और मैं पूरा पसीने में भीग गया ……….. आशीष तंवर,पुन्हाना,हरियाणा।
02/07/21 रंभा अप्सरा अनुभूति- राम राम गुरुजी साधना अच्छे से संपन्न हुई।मन्त्र जाप जैसे ही शुरु किया बहुत तेज गर्मी लगी।और मैं पूरा पसीने में भीग गया।मन्त्र जाप चलता रहा कब पूरा हो गया पता ही नही चला,सो गया था या लीन हो गया याद नही। 2 घन्टे पूर्ण होने पर अलार्म बजा उठ गया।मुझे डेली सपने आते हैं आज सुबह जब उठा तो मुझे कोई सपना नही आया था।

मेरे आसपास नेगटिव इफ़ेक्ट को भगवान शिव ने भस्म किया बंद आँखों से अग्नि की लपटे उठी और गायब हो गयी……. MPMishra
Ram Ram guruji Sadhana me 1:30ghante tak kayi drishy dikhe .pujajan samagriyo ke sath bahut sankhya me Rishi karm kand karte huye shivling ki puja jaha par Bhartiya paridhan me deviya saj dhan kar baithi huyi aapas me vartalap aur ek dusare ke sath milane ki khushi dikha rahi.suraksha ghera bhi anubhav hua. Kuchh der baad mere aaspaas koyi aisi negative effects ko swayam Shiv guru ne bhahm kiya band aankhon se Agni ki lapte uthi aur jalaye gaye object sahit gayab ho gayi. Iske paschat ek Sinhasan par virajman Devi ki sewa kayi deviya kar rahi hai. is tarah k drishya aate jaate rahe. 1:30ghante tak deep tandra jaisa raha.Next adhe ghante tak koyi anya anubhuti nahi rahi sadhana apki kripa se nirvighn puri huyi.sadhana k samay laga ki kisi sarovar k kinare khule asaman me baithe hai.
Pranam

मंत्र जाप करते समय किसी ने स्पर्श किया और दोनों कंधो को जोर से झटका………. Urmila Somani Parbhani Maharashtra
2 july 2021 Apsara sadhana Ram Ram Guruji sadhana acche se संपन्न hui.. Mantra जाप karte waqt kisine स्पर्श kiya aisa mahesus hua aur dono shoulder ko जोर se झटका laga.. Bahot bahot dhanyawaad guruji

मैं साधना कर रहा था मेरे ठीक पीछे बिस्तर लगा हुआ था देवी आकर वहां बैठ गई उसके बाद उस बिस्तर पर लेट गई ……. भोलानाथ दिल्ली
2 जुलाई 2021 रंभा अप्सरा साधना की अनुभूति शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को राम राम शिव शरणम प्रणाम गुरुदेव
गुरुदेव आपके आशीर्वाद से अप्सरा साधना बहुत ही आनंद में संपन्न हुई साधना करते समय कुछ ही क्षणों बाद देवी की ऊर्जा उसे कनेक्ट हो गया और देवी की उपस्थिति का आभास होने लगा उसके कुछ देर बाद देवी साधना कक्ष मे आकर देवी जैसे कानों में कुछ कह रही हो कई बार ऐसा हुआ और अपने लेटने के लिए साधना कक्ष में बिस्तर लगाया था और मैं साधना कर रहा था मेरे ठीक पीछे बिस्तर लगा हुआ था देवी आकर वहां बैठ गई उसके बाद उस बिस्तर पर लेट गई हमने अपना मंत्र जाप चालू रखा था उसके बाद हमारे यहां लाइट अचानक चली गई लगभग 12:30 बजे रात्रि को हमारी साधना पूर्ण होगी गुरुदेव साधना बहुत ही आनंद पूर्वक संपन्न हो रही है आपका आशीर्वाद सदा सर्वदा बना रहे आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

जप शुरू हुआ गुरु जी की आवाज के साथ बीच बीच में मन आनंदित भी हुआ खूम उठा ………… अनुराधा ऋषिकेश
दिनांक २ जुलाई२०२१ रंभा अप्सरा साधना अनुभूति पहला दिन राम राम गुरु जी मन उत्साहित था समय का इंतजार बेसब्री से था
जप शुरू हुआ गुरु जी की आवाज के साथ बीच बीच में मन आनंदित भी हुआ खूम उठा , नींद भी आ गई कुछ आवाजें भी आई
फिर जब सोने गई तो बहुत डर लगा क्योंकि अनजानी आवाज से दर लग रहा था पैर को छुआ किसी ने ये एहसास।भी हुआ

लगातार कही से उर्जाओ की कनेक्टिविटी बने रहने का अहसास रहता है……… Shailendra,Ulhashnagar
Dt 02/07/2021 Ram Ram Guruji Aaj se sadhana prarambh kiya, bich bich me thandi hava ke jhoke aa rahe the aur kabhi kabhi garm hava ka ahsas hua aur kayi bar pasine nikal gaye Aaj ki sadhana ki khas bat rahi ki lagatar 2 ghante mantra jap kar paya aur koi vichar bhi nahi aaya Lagatar kahi se urjao ki connectivity bane rahne ka ahsas rahata hain
Dhanyawad Guruji

साधना के समय लगा की मैं देवी रम्भा अप्सरा के साथ जुड़ गया हूँ…………Pawan Pandey
2 July 2021 guruji kal ki Sadhna karte waqt mansik roop se aise Laga ki main Devi Rambha Apsara ke sath jud Gaya Hun bich bich mein aise bar bar hota rahe Gurudev aap kripa Karen meri Sadhna is bar Safal ho aap ki badi kripa hogi

आवाज सुनाई दी कि मैने आज का इलायची का भोग स्वीकार कर लिया है, इसे हटा दो और कल एक पान भी लाना ……… नीरजा
राम राम गुरुजी। आपको अनेको अनेक धन्यवाद मुझे इस आलौकिक साधना में जोड़ने के लिए । मैंने इसके लिए रजिस्ट्रेशन भी नही कराया था किंतु फिर भी ईश्वरीय कृपा और अपने साधको के प्रति प्रेम आपका अनूठा है। मुझे कल साधना से पहले से ही मन में आभास हो रहा था कि मुझे देवी अप्सरा के दर्शन मिलेंगे ,जबकि मस्तिष्क बोल रहा था कि ऐसा कैसे हो सकता है। कल मेरा पूरा दिन मन भी अच्छा नही था ,परन्तु आपके रात्रि शक्तिपात के कारण मेरे अंदर विश्वास हुआ कि आज से ही आरम्भ करूँगी साधना । इतने दिव्य ,आलोकिक ,ह्रदय को छूने वाले अहसास कल रात्रि में हुए गुरुजी कि अभी तक भी उस स्पर्श के अंदर प्रेम को महसूस कर पा रही हूँ। साधना शुरू करते ही कुछ ही मिनट में मुझे सुंदर,विभिन्न देव् स्त्रियों को उनके दूतों के दर्शन होने शुरू हो गए थे। मुझे बहुत सारे डरावने चेहरे भी दिख रहे थे ,कुछ तांत्रिक जैसे भी लोग दिख रहे थे किंतु मेरे मन ,मस्तिष्क में एक बार भी डर,चिंता उतपन्न नही हुई। मुझे विश्वास था कि मेरी सुरक्षा में बहुत सारे दूत हैं। शेर का चेहरा मुझे बहुत बार दिखा। कुछ पंछी भी मुझे आधे मनुष्य जैसे दिखे थे। अलग अलग पौशाक, केश सज्जा में दिख रहे थे । कुछो के आभामण्डल जैसे भी दिख रहे थे । ऐसे ही आलोकिक आभास होते होते मुझे अचानक से लगा कि किसी ने मेरे गर्दन के पास स्पर्श किया है । उस समय मुझे अपने मन के भाव में परिवर्तन महसूस हुआ। मुझे ऐसे लगा कि कोई प्रेयसी हो , किन्तु उस भाव में विकार नहीं था। मैंने मन ही मन प्रार्थना करि की हे देवी मुझे मातृत्व रूप में अपना सानिध्य प्रदान करें। परोक्ष अपरोक्ष रूप से हमेशा मेरे साथ रहें । कुछ देर तक सब बन्द हो गया । मेरी प्रार्थना जारी रही। उसके कुछ देर बाद मुझे पुनः से सुंदर देवी दर्शन हुए । एक बहुत सुंदर देवी ,पतले से मुख वाली ,शर्मीली सी ,सुंदर बिंदियों से रंग बिरंगी उन्होंने अपने माथे को सजा रखा था उनके दर्शन हुए और पुनः से मेरी गर्दन के पास स्पर्श हुआ । मेरे वक्षस्थल तक वह ऊर्जा जा रही थी। और मेरे हाथ ऐसे हो गए जैसे मैने किसी वस्तु को जोर से पकड़ लिया । बहुत देर तक बार बार बीच बीच में मुझे यह अहसास होता रहा। फिर आवाज सुनाई दी कि मैने आज का इलायची का भोग स्वीकार कर लिया है। इसे हटा दो। और कल एक पान भी लाना। उसके बाद गुरुजी मैं बस बहुत देर तक रोती रही और मुझे ऐसा लगा कि मैंने देवी का वस्त्र जोर से पकड़ रखा है। उन्होंने मुझे वचन दिया कि तुम्हारे साथ परोक्ष अपरोक्ष रूप से आज से मैं तुम्हारे साथ रहूंगी। मुझे हर कदम पर सहायता करूँगी। तुम्हारी सारी चिंता मुझे दे दो । गुरुजी मेरा पूरा मस्तिष्क रिलैक्स ,बॉडी एक दम loose हो गयी थी। मेरा मन बस उस सुंदर स्पर्श की अनुभूति कर रहा था । उन्होंने मुझे बोला कि जब चाहती हूं उन्हें बुला सकती हूं और वह अपनी उपस्थिति भी मुझे बतालेएँगी। उसके बेस्ड उनके साथ बहुत सारी सहायक देखे स्त्री ,जिनकी अलग अलग केश सज्जा हुई थी। तो मैने पूछा कि माँ यह आपके साथ हैं। वह बोली हा और यह सभी तुम्हारी भी केश सज्जा करेंगी। मेरी बेटी आलसी है थोड़ी । 💓 उसके बाद मुझे एक डार्क रानी कलर ,गोल्डन थ्रेड की साड़ी और बहुत सारी गोल्डन ज्वेलरी भी दिखी। जिस समय यह वार्तालाप चल रहा था उसी समय मुझे बहुत सुंदर सुंदर , गोरे हाथ आलता ,मेहंदी लगे हुए पदम् मुद्रा बनाये हुए दिख रहे थे। फिर मैने अपने आपको पूरा श्रृंगार किये हुए ,गोल्डन मुकुट ,आभूषण पहने हुए एक बड़े से स्टेज पे देखा,मेरी आरती उतारकर मुझे थाल में नारियल दिया गया। पहले मेरा चेहरा छुपा था परन्तु उसे बाद में खोल दिया गया । उसके बाद मैंने देखा कि मुझे बहुत सारे लोग देखने मिलने आ रहे हैं। जैसे ब्रह्मांड में सूचना दी जा रहा हो। कुछ रथ पर ,कुछ आकाश मार्ग से ,कुछ सन्त ,कुछ देव्, कुछ किन्नर सभी । मुझे वार्तालाप में देवी ने कुछ बाते भी बोली .उन्होंने बोला कि मैं दम्भी व्यक्ति के पास नही जाती । तुम मुझे दूसरे के सामने कभी मत बुलाना क्योंकि मेरा सानिध्य सिर्फ तुम्हे शिव कृपा से मिल रहा है। तुम्हे मुझे समय देना पड़ेगा। मैने उनसे बोला कि मेरा और आपका क्या मेल है। मैं धरती पर रहती हूं आप स्वर्ग से आ रही हैं । उन्होंने बोला कि तुम भगवान शिव की।पूजा करती हो और मैं भी भगवान शिव का आग्रह नहीं अनदेखा कर सकती। तुम्हारे गुरु ने प्रेमपूर्वक शिव भगवान से तुम सभी के जीवन में आने का आग्रह किया है। इसलिए यह हो रहा है। मैने ह्रदय से उन्हें बारम्बार धन्यवाद किया।
फिर गुरुजी मुझे प्यास लगने के लिए मैंने पानी उठाया ,उनसे भी पूछा तो उन्होंने बोला कि स्वर्ग में रहने वालों को भूख ,प्यास नही लगती । थोड़े दिन में तुम्हें भी नही लगेगी।😊उसके बाद गुरुजी मुझे घर के गैलेरी में गेंदा ,गुलाब के फूलों की माला दिखी और मंदिर के बाहर दरवाजे पर सुंदर सी बंधवार । मुझे वहां विचित्र से छोटे छोटे ,लकड़िया दिखी जिनके बालो में फूल लगे हुएथे और वह सज्जा कर रही थी। मैने देखा कि उन्होंने एक कोने में घर के कुछ वाद्य यंत्र भी रखे। मेरे पूछने से पहले ही उत्तर मिला कि जहाँ मैं रहती हूं वहां आनंद ,मंगल होता है। फिर मैंने समय देखा और पूछा कि माँ क्या अब आप चली जायेगी तो जवाब मिला नही ।आज पूरी रात्रि तुम्हारे पास ही रहूंगी। तुमने कितने वर्षों इस प्रेम का इंतजार किया है। ❤️समय समाप्त होकर मैं उठी और अपने बिस्तर पर लेटने लगी तो सुना कि अपने दूसरे तरफ भी तकिया लगाओ मेरे लिए। मैंने ऐसे ही किया और मुझे दिखा वहां उस स्थान पर एक सफेद रंग का तकिया है 🌹🌹. उसके बर्फ गुरुजी मेरी रात्रि में क्या हुआ पता नही। इतनी गहरी नींद लगी। सुबह से मन में उल्लास है ,घर को देखने पर ऐसा लग रहा कि यहां पर रात में बहुत सारे लोग आए थे ।जैसे गेस्ट आपने पर अगले दिन लगता है। सुबह से सब खुश हैं। मुझे भी प्रेरणा मिल रही हैं काम के प्रति । और वो स्पर्श रात्रि वाला ,चिंता होने पर किसी बात पर अपने आप ही शुरू हो जा रहा है। मोबाइल खोलने पर ,सुनने को मिल रहा है इसे बंद करो । मुझपर ध्यान दो। आपको तो मन धन्यवाद के अलावा क्या करें यह समझ नही सक रहा है। आज की साधना में क्या मैं पान रखूं ,यह भी बता दें गुरुजी 🙏❤️❤️❤️❤️

अप्सरा साधना में किसी के पास होने का अहसास हुआ सुखद उर्जाओ की बारिश हुई……… Manda Zore, Mumbai
Ram Ram Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 02/07/21 Apsara sadhna me kal koi pas hone ka ehsas hua. Sukhad urjaonki barish hue. Recording me Aap jb aagachh aagachh keh rahe the. Man me bahot besabri badh rahi thi rambha Ji ko milne ki. Aisa 2 bar hua. Rambha ji golden kapdo me samne aate huye dikhe. Unke kapde Jo the sone ke the. Golden abhushan the. Anahat chakra sukhad urjaon se bada ho raha uski tarange dikh rahi thi. wahi sath me agya chakra pr dabav bana. 2-3 bar chandan ki mehek bahot jada tej aae. Bahot sari rangbirangi titliya udati hue dikhi. Unhe dekhne me magn thi usi samay left hand ko ungali ki chhuvan mehsus hue. Bahot samay ke bad mata lakshmi bhagwan Shree hari vishnu Ji ke samudra me per dabate huye dikhe. Panchhiyonki chehek sunae di aisa laga mai ratabhar se sadhna kar rahi hu. Subah ho gae. Uthna hoga. Recording chalu thi. 2re pl me yad aaya mere 2 ghante abhi pure nahi huye. Bahot bahot dhanyawad Guruji🙏🏻🌹🙏🏻Shiv Sharanam🙏🏻🌹🙏🏻