अप्सरा साधना जुलाई 2021 – 08 July, 2021

आज देवी ने मुझे माला पहनाया और खुद भी पहनी बूंदी के लड्डू और कुछ बरफिया मुझे खिलाया और स्वयं भी ग्रहण किया ………….. ANUPAM CHAKRABORTY. @JABALPUR,MP.
DATE 08/07/21🌹🌹🌹🌹🌹🌹 राम राम गुरूजी आज हार्ट चक्र आज्ञा चक्र में बहुत स्ट्रॉन्ग vibrations थे आज देवी ने मुझे माला पहनाया और खुद भी पहनी बूंदी के लड्डू और कुछ बरफिया मुझे खिलाया और स्वयं भी ग्रहण किया आज खुद ही अपना हाथ बड़ाया और वचन देने लगी जो तू चाहता है वह सब कुछ मिलेगा जीवन भर साथ दूंगी तेरा तेरे जीवन में प्रेम यौवन सौंदर्य एवं आकर्षण भर दूंगी अतुलनीय धन संपदा दूंगी, महल जैसा घर दूंगी सब कुछ दूंगी😀🙏 शत्रुओं से रक्षा करूंगी🛡️🕉️ आज़ मैंने देवी से आग्रह किया कि वातावरण मे बहुत उमस है गर्मी लग रही है और आज ही वर्षा हो गई वातावरण में ठंडक था , मैंने दोनो हाथो को आगे बढाया तो उन्होंने अपने हाथो से टच किया ठंडक देने वाली एनर्जी फील हुई महंगी पोषक पहन कर मेरे बिल्कुल करीब आ गई aa gayi face’to face bahut ही beautiful दिखाई दे rahi थी आभूषण से शरीर भरा था उनका शरीर जैसे कोई राजकुमारी हो ❤️❤️❤️❤️🌹🌹🌹🌹 कहा तेरे जीवन मे प्यार ही प्यार भर दूंगी बहुत स्नेहयुक्त बात कर रही जैसे कोई अपना करीबी हो अपनों से भी बड़ कर लगा और हर बार इशारा करती पायलो की आवाज से उपस्थिति देती वह मन की भावनाओं से बातें करती जो मेरे मन मे रहता वही बात करतीं हैं संभव है सिर्फ गुरुश्रेष्ट की वजह से वर्ना हमारी क्या बिसात ऐसी दुर्लभ साधनाएं करने की सभी को प्यार और शुभकामनाएं 🙏👣 शिवसरनाम🙏👣🌹🙏

आज देवी अपनी उपस्थिति का एहसास कराने लगे, मन में प्रसन्नता हैं ………….. नटराज हाजं ,मेघालय,
राम राम गुरुजी, रम्भा अप्सरा साधना की दिव्य अनुभूति, दिनांक:- 07/07/2021, सौन्दर्य के देवी दिव्यांगना रम्भा अप्सरा सिद्धि साधना आज बहुत प्रसन्नता के साथ सम्पन्न हुआ है॥ मन्त्र जपते रहा, उर्जायों का उर्धगामी प्रवाह, अनाहत चक्र में मृदु स्पन्दन बहुत देर तक चलते रहें॥ आज देवी अपनी उपस्थिति का एहसास कराने लगे, मन में प्रसन्नता हैं, दिव्य अनुभूति हैं, प्रत्यक्ष दर्शन की लालायित हैं॥ साधना सम्पन्न होने के बाद जब बिस्तर पर लेते नींद की गोद में अर्ध निद्रा में था , तब भी अपनी उपस्थिति का एहसास दिलाने आया देवी रम्भा अप्सरा॥ जय गुरुजी॥ आपको कोटि कोटि धन्यवाद है॥

प्रार्थना की कि देवी सौम्य रूप मां रूप में आओ ………. अनुराधा ऋषिकेश
दिनांक 8.जुलाई 2021 साधना का सातवां दिन गुरु जी राम राम आज सुबह से मन में उत्साह था कि आज साधना।का सातवां दिन था
समय पर साधना शुरू हुई मंत्र पर ध्यान केंद्रित था बीच में थोड़ा घबराहट ह्यूगर प्रार्थना की कि देवी सौम्य रूप मां रूप में आओ
उसके बाद डर बंद।हो गया फिर हल्के मन से। जाप किया परंतु अनुभव नहीं हुआ फिर सोचा जैसा देवी चाहें गुरु जी आगे भी मार्ग दर्शन प्रदान कीजिएगा 🙏🏼🙏🏼 कृपा आपकी सदा बनाए रखियेगा

देवी अचानक से मेरे चेहरे के सामने आकर बैठ गई और मुझे देखने लगी ………… आदित्य कुमार, ग्वालियर, मध्य प्रदेश
08/07/2021 रंभा अप्सरा साधना अनुभूति राम राम गुरुजी कोटी कोटी प्रणाम🌹🙏🙇🏻‍♂️🙏🌹गुरुजी आपकी कृपा आशीर्वाद से साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुई। मंत्र जप शुरू करने के कुछ ही पल बाद ऐसा लगा की देवी मेरे बालों को छू रही हो, तो मैंने मन ही मन देवी से वचन का आग्रह किया, उसके तुरंत बाद ऐसा लगा की किसी ने प्यार से हल्के हाथों से धक्का दिया हो, मैं दाई तरफ झुक गया।बाई ओर से आवाज़ आई “मैं यहां हूं”…….. कुछ सेकेंड बाद फिर आवाज़ आई “मैं यहां हूं।” फेस पे आंख के पास उंगलियां फेरने जैसा लगा। थोड़े समय बाद देवी अचानक से मेरे चेहरे के सामने आकर बैठ गई और मुझे देखने लगी। मेरा मंत्र जाप चलते रहा। फिर करीबन 10 मिनट तक मेरा थर्ड आई चक्र घूमता हुआ महसूस हुआ, उसके दौरान भगवान शिव गुरु के दर्शन हुए, गंगा तट पे माता लक्ष्मी की सफ़ेद रंग की मूर्ति दिखाई पड़ा।चक्र पे बहुत ही आनंदमई और सुखद फीलिंग हो रही थी। बीच बीच में लग रहा था कि देवी भी मंत्र जाप कर रही है, नाम पुकारकर मुझसे कुछ कहना चाह रही हों, पायल का आवाज़ भी सुनाई दिया, झटके भी बीच बीच में लग रहे थे, पूरा शरीर हिल जाता, तेज़ हवाओं का झोंका आता। गुरूदेव जब मंत्र जप के आखिरी के कुछ 5-10 मिनट बचे थे तब देवी ने जोरों से कुछ कहा जो कि मुझे समझ न आया,और सामने चलने लगी, और
मेरा शरीर में तेज़ सृहण होने लगी, कांपने लगा, धड़कन तेज़ हों गई। साधना पूर्ण होने के बाद थोड़ा शांत हुआ शरीर। आपका बहुत बहुत धन्यवाद गुरुदेव, अपनी कृपा आशीर्वाद सदैव बनाएं रखें। लव यू गुरुजी❤️लव यू सो मच❤️ 🌹 शिव शरणं 🌹 🌹 गुरू शरणं 🌹

देवी मुझे अपना वचन दिया, बोला कि मैं 7 दिन की साधना से तुम्हारी प्रसन्न हूँ। तुम्हें आश्रीवाद देती हूं ,धन ,समृद्धि,यौवन का। तुम जब भी बुलायोगी मैं आयउँगी। ……………………… नीरजा।
राम राम गुरुजी। अप्सरा साधना के दिव्य अवसर को प्रदान करने के लिए धन्यवाद। कल रात्रि में साधना करने में बहुत असुविधा महसूस हो रही थी। बहुत देर तक तो कुछ न कुछ उलझन सी रही। फिर मन ही मन आपसे पुनः प्रार्थना करि तब जाकर साधना में कल मन लगा। देवी अप्सरा कल भी आई ,भोग स्वीकार किया ,फूल माला भी स्वीकार करि और उसके बाद गायब हो गयी। मुझे बस अलग अलग स्वरूप दिखते रहे किन्तु ऐसा नही लग रहा था कि वो यहां हैं। फिर मैंने ह्रदय से उनसे आग्रह किया ,यदि किसी बात से वह नाराज हुई हैं तो उनसे क्षमा भी मांगी। और एक दम से ही गुरुजी मुझे देवी अपनी सखियों संग वार्तालाप करती नजर आयी । सुंदर सफेद वस्त्रों में ।फिर वो एका एक उठी और उन्होंने अपनी दृष्टि मेरे चेहरे पर ,विशेषकर मेरे तीसरे नेत्र,मेरी आँखें,मेरी eye brows के ऊपर ।बिल्कुल मुझे स्प्ष्ट महसूस हुआ कि वहां से ऊर्जा आयी और मेरे चेहरे के इन हिस्सो के साथ मेरे गले ,और सिर के आधे भाग में फैल गयी। एक दम हल्की हल्की ऊर्जा,हल्की हल्की vibrations हो रही थी। और उन्होंने मुझे अपना वचन दिया, बोला कि मैं 7 दिन की साधना से तुम्हारी प्रसन्न हूँ। तुम्हें आश्रीवाद देती हूं ,धन ,समृद्धि,यौवन का। तुम जब भी बुलायोगी मैं आयउँगी। सदा के लिए यह वचन है। गुरुजी बिल्कुल इतने ही समय के लिए इतने सेकेंड के लिए हमारे घर के बाहर बादल गरजे और जोर जोर से बारिश हुई। जैसे ही देवी गयी ,बारिश भी रुक गयी। उसके बाद मुझे किसी का सितार बजाता हुआ दिखाई दिया और इसी समय हमारे घर के लोग आपस में मस्ती कर ,हंस रहे थे। और अंत में देवी ने मुझे बहुत सुंदर लाल वस्त्रो में ,गोल्डन मुकुट और झिलमिलाते आभूषण पहने दिव्य दर्शन दिए । कल मुझे बार बार साधना में गोल्डन ,पीला रंग दिखाई देता रहा। कुछ विशिष्ट लोगो के आभामण्डल में वह ऊर्जा दिख रही थी ,जैसे मुझे बताना चाह रही थी कि यही मेरी ऊर्जा की उपस्थिति है। मुझे रेखा,जयाप्रदा,श्रीदेवी,ऐश्वर्या जैसे विख्यात अभिनेत्रियां भी दिखी साधना के समय । देवी मुझे बताने का प्रयास कर रही थी कि इन सभी में ही अप्सराओ की ऊर्जा हैं। ।बस गुरुजी ऐसे ही कल रात्रि साधना सम्पन्न हुई। आपके मंगल आशीर्वाद के लिए 💓💓💓💓🙏

साधना करते समय देवी मेरे पीछे खड़ी थी।धीमी स्वर में कुछ संगीत गा रही थीं …………. सुशील कुमार, सीतामढ़ी, बिहार
08,07,2021 अप्सरा साधना शिव गुरु को राम गुरु जी राम राम गुरुदेव आपके आशीर्वाद से आज की साधना आनंद पूर्वक हुई।साधना करते समय देवी मेरे पीछे खड़ी थी।धीमी स्वर में कुछ संगीत गा रही थीं।साधना के दौरान देवी आस पास टहल रहीं थीं पायल की आवाज,कभी घुघरू की आवाज सुनाई दे रहा था ।साधना में मन प्रशन था। गुरुदेव आपका बहुत बहुत धन्यवाद। शिव शरणम।गुरू शरणम

सामने से किसी को आते हुए महसूस किया पायल की आवाज और चूड़ियों की खनक भी आयी……… Manda Zore, Mumbai
Ram Ram Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 08/07/21 Aaj sadhna shuru karne ke bad samne se koi ate huye payal ki awaj ke sath mehsus kiya. Payal ki awaj, chudiyonki khanak bhi aae. Ek bar rambhaji ne pet pr touch kar diya. Unke touch se gugudisi feeling aae. Jaise lag raha tha aaj Wo masti karne ke mood me ho. Kabhi yaha se waha jate kabhi waha se yaha ate aur payal ki awaj bhi karte. Ekaek bahot garmi hone lagi. Actress dipika padukon kisi sammelan me dikhe. Koi gana sunae de raha tha. 2 bar sadhna me apsaraji mere pas aye. Last me jab aaye tb unhone swatah mere hatho me unka hath rakha aur kaha mai vachan deti hu mai tumhare sath rahungi aur tum Jo bhi ichha bataogi mai use jarur pura karungi. Dhan, yauvan, samrudhhi sukh dungi. Aur chale gaye. 5 mnt me mantra jap bhi samapt hua. Jaise unhe malum tha. Sadhna samay samapt ho raha hai… Bahot bahot dhanyawad Guruji🙏🏻🌹🙏🏻 Bahot bahot dhanyawad Rambhaji🙏🏻🌹🙏🏻 Shiv Sharanam🙏🏻🌹🙏🏻

अप्सरा सिद्धि के दौरान देवी से पार्थना की थी कि आप मेरे बड़े बहन के रूप में सिद्ध हुए जाइये देवी ……… Ranita Halder, kolkata
8/7/2021, Pranam Ram Ram Guruji 🙏🌸 aj ki Apsara sadhana k Divya Anubhav .8 tarikh की अनुभव बताने से पहले 8 tarikh ki सुबह सपनों का अनुभव पहले बताना chati हु. सपनों मैं देख रही हूं New College नया क्लास चालू होने वाला है. एक नई लड़की से मुझे परिचय हुआ है ओर वो मुझे कह रही है कि आपसे तुम मेरी दोस्त हुई हो सर्वदा तुम मेरे साथ ही बैठना. मैं उससे दोस्ती कुबूल किया और उसके साथ ही बैठ गई क्लास रूम के बहुत सारी लड़का लड़की थी वहा बहुत ही मस्ती हो रही थी. मैं उनसे कहा मेरी और भी बहुत सारी दोस्त है मैं तुम्हारे साथ सर्बदा बैठ नहीं पाऊंगी. मुझे usi दोस्ततो के पास भी जाना हे…. ऐसी सब बाते हसी मजाक हो रही थी, इसके बाद में देखा… मैं मेरी बहनों के साथ मिलकर आइसक्रीम खा रही हूं. दरअसल में रंभा अप्सरा सिद्धि के दौरान देवी से पार्थना की थी कि आप मेरे बड़े बहन के रूप में सिद्ध हुए जाइये देवी …. ताकि बड़ी बहन से मैं मां की तारा कि स्नेहो और मित्रों की तरह साथ भी पा सकू ……….अब आती हूं मेरी आज की अनुभव पर….. साधना अच्छे से संपन्न हुई है. बीच-बीच में देवी का चित्र मन में दिखाई दे रही थी. पर देवी की उपस्थित होने की आभास मुझे स्पॉट रुप से आज नहीं मिली. बीच-बीच मे मैं डार जा रही थी. कुछ डरावने चेहरे मुझे दिखाई दे रहे थे. उसके बाद फिर से देवी की स्मरण किया तो मन में खुशी छा गई. खुशी से ही मैं साधना कर रही थी. आज देवी आशन में नहीं बैठी थी. मुझे बार-बार ऐसा महसूस हो रहा था कि देवी आज बाहर से आएंगे. बाहर से दो तीन बार शब्द भी हुआ पर कहां से हुआ मैं समझ नहीं पाई. मुझे थोड़ी dar लगी. एक बार माथे पर हाथ फेरने की एहसास हुई, और गाल पर राइट साइड से होठों के पास हैबी ऊर्जा से हलकी झनझनाहट सी ऊर्जा फील होने लगी. और कोई अनुभव मुझे नहीं हुई. मन में एक दो बार उलझन पैदा हुई. आज रात में नींद के अंदर मंत्र जाप चल रही थी मन में. पर देवी की उपस्तिति नींद के कारण मैं समझ नहीं पाई. मेरी आज की साधना में एक त्रुटि मुझे नजर आई…. जो मेरी टर्निंग पॉइंट से कुछ हद तक नीचे गिरा दिया…. वह है सुगंध. मेरे पास रोज परफूम नहीं थी. पर आज लास्ट दिन उसकी बहुत जरूरत महसूस हो रही थी. कुंडलिनी शक्ति को ऊपर उड़ने के लिए और भी ऊर्जा की जरूरत हो रही थी मुझे. आज मुझे गुलाब की सुगंध की बड़ी अभाव महसूस हो रही थी. मै गुलाब जल, अगरबत्ती और कुछ रेड रोज से ही घर को sugandh कर रही थी. पैर रोज परफूम शरीर में और भी अधिक ऊर्जा भरने में सहायक hoti.iha पे किसी शॉप में मुझे रोज परफूम नहीं मिली. पर मैं विनम्रता पूर्वक यह जानना चाहती हूं गुरुजी🙏 जिसका अप्सरा जी को प्रत्यक्षीकरण, यह बातें नहीं हो पाई हे क्या उनकी सिद्धि नहीं हुई है गुरुजी ??? राम-राम प्रणाम हम सभी के मार्गदर्शन करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद गुरजी🙏 charno में कटी कटी नमन🙏🙏🙏प्रणाम राम राम 🙏🌸🌸🌸.

साधना दौरान नींद में चली गई अचानक तेज खुशबू आई , सेकेंडो में गायब शरीर यू ही खिचाव बना रहा …….. ममता पंडित ग्वालियर
राम राम गुरुजी कोटि कोटि प्रणाम 🌹 8/07/21 गुरुजी कल की देवी साधना बहुत अच्छे से संपन्न हुआ मंत्र जप करते करते आधी नींद में चली गई अचानक तेज खुशबू आई , सेकेंडो में गायब शरीर यू ही khichao बना रहा, साधना दौरान। घनयबाद गुरुजी